Asianet News Hindi

इंडिया पोस्ट बैंक के ग्राहकों के लिए खुशखबरी! सरकार जल्द ही देगी यह सुविधा

 भारतीय डाक सेवा से जुड़ा बैंक- इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) अपने उपभोक्ताओं को अत्याधुनिक मोबाइल बैंकिंग सुविधा देने के लिए अप्रैल से यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) से जुड़ने की तैयारी में है

Now withdraw your money from India Post Bank via UPI kpm
Author
New Delhi, First Published Feb 23, 2020, 5:49 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली: भारतीय डाक सेवा से जुड़ा बैंक- इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) अपने उपभोक्ताओं को अत्याधुनिक मोबाइल बैंकिंग सुविधा देने के लिए अप्रैल से यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) से जुड़ने की तैयारी में है। यूपीआई एक इंस्टेंट पेमेंट सिस्टम है जिसे नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन आफ इंडिया द्वारा विकसित किया गया है। यूपीआई व्यक्ति को दो पक्षों के बैंक खातों के बीच इंस्टेंट पेमेंट सिस्टम की सुविधा प्रदान करती है।

यहां स्थित प्रधान डाकघर में आईपीपीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई भाषा को बताया कि आगामी अप्रैल से इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) से जुड़ जाएगा जिससे आईपीपीबी के ग्राहक अपने खाते से किसी को भी भुगतान कर सकेंगे।

IRCTC पोर्टल पर रेल टिकट का भुगतान 

उन्होंने बताया कि आईपीपीबी में यूपीआई लागू होने से इस बैंक के ग्राहक आईआरसीटीसी पोर्टल पर रेल टिकट का भुगतान कर सकेंगे और साथ ही अन्य दुकानों पर क्यूआर कोड स्कैन कर सेवा या उत्पाद का भुगतान कर सकेंगे। अधिकारी ने बताया कि आईपीपीबी फास्ट टैग रिचार्ज की सुविधा पर भी काम कर रहा है और संभवतः अप्रैल महीने से बैंक के ग्राहक अपने खाते से फास्ट टैग का रिचार्ज कर सकेंगे। इसके लिए आईपीपीबी के एप्लीकेशन पर ही फास्ट टैग रिचार्ज की सुविधा शामिल करने पर काम चल रहा है।

वर्तमान में आईपीपीबी का खास जोर 

प्रयागराज प्रधान डाकघर के प्रवर अधीक्षक संजय डी आखाड़े ने बताया कि वर्तमान में आईपीपीबी का खास जोर आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ाने पर है। इसके तहत ग्राहक अपने बैंक खाते का पैसा किसी भी डाकघर से निकाल सकते हैं, बशर्ते उसका बैंक खाता आधार से जुड़ा हो।

उन्होंने बताया कि एईपीएस के तहत ग्राहक किसी भी बैंक से पैसा अपने आईपीपीबी के खाते में हस्तांतरिंत कर सकते हैं। हालांकि एईपीएस सुविधा का लाभ लेने के लिए उसके क्षेत्र में डाकघर होना जरूरी है और उसका एक खाता इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में भी होना चाहिए।

आखाड़े ने बताया कि पिछले महीने के अंत में बैंक हड़ताल के दौरान 28 जनवरी को अकेले प्रयागराज में एईपीएस के तहत 1.05 करोड़ रुपये का 2200 लेन देन हुआ जोकि पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा हैं।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios