Asianet News Hindi

अब अपने एंड्रॉइड फोन से कर सकेंगे पेमेंट, SBI Payments के साथ NPCI ने शुरू की सुविधा

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने SBI Payments के साथ मिलकर ‘RuPay SoftPoS’ को लॉन्च किया है। बता दें कि इससे दुकानदारों को काफी सुविधा मिलेगी।
 

NPCI with SBI Payments to launch rupay softpos solution MJA
Author
New Delhi, First Published Mar 6, 2021, 1:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने SBI Payments के मिलकर ‘RuPay SoftPoS’ को लॉन्च किया है। बता दें कि इससे दुकानदारों को काफी सुविधा मिलेगी। दुकानदार अपने एनएफसी (नियर फील्ड कम्युनिकेशन) इनेबल्ड स्मार्टफोन को मर्चेंट पॉइंट ऑफ सेल (PoS) टर्मिनल्स में बदल सकेंगे। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के इस कदम से दुकानदार अब स्मार्टफोन पर सिर्फ 1 क्लिक से 5 हजार रुपए तक का कॉन्टैक्टलेस पेमेंट्स ले सकेंगे।

स्मार्टफोन बन जाएगा पेमेंट टर्मिनल
जानकारी के मुताबिक, RuPay SoftPoS के जरिए दुकानदार अपने एंड्रॉइड स्मार्टफोन को पेमेंट टर्मिनल में बदल सकेंगे। इसके लिए उन्हें सिर्फ एक सपोर्टेड ऐप डाउनलोड करना होगा। NPCI और SBI पेमेंट्स की इस पहल से भारतीय MSMEs को डिजिटल पेमेंट लेने में आसानी होगी।

कैसे होगा RuPay SoftPoS पर पेमेंट
RuPay SoftPoS पेमेंट के लिए बेहद सुविधाजनक है। कॉन्टैक्टलेस मेन्यू चुनने के बाद जितने अमाउंट का पेमेंट (अधिकतम 5 हजार रुपए) करना है, उसे भरना होता है। इसके बाद रूपे कार्ड को दुकानदार के स्मार्टफोन पर टैप करना होता है। इतना करते ही ट्रांजैक्शन पूरा हो जाता है। बता दें कि ट्रांजैक्शन अप्रूव होने के बाद इसके पूरा होने पर रिसीट रियल टाइम में जनरेट हो जाएगी। जानकारी के मुताबिक, इस सुविधा को नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड और रूपे टोकनाइज्ड कार्ड के जरिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

रिजर्व बैंक के फैसले से फायदा
SBI पेमेंट्स के एमडी और सीईओ गिरी कुमार नायर का कहना है कि एसबीआई पेमेंट्स सरकार के डिजिटल इंडिया मुहिम को समर्थन देने के लिए एनपीसीआई के साथ मिलकर काम कर रही है। एसबीआई पेमेंट्स और एनपीसीआई की साझेदारी के तहत इनिशिएटिव से कस्बाई और ग्रामीण इलाकों में छोटे कारोबारियों को फायदा होगा। रिजर्व बैंक द्वारा 5 हजार रुपए तक का पेमेंट टैप एंड गो फैसिलिटी के तहत स्वीकार करने की मंजूरी दिए जाने का फायदा मिला है। इससे ज्यादा से ज्यादा दुकानदारों को जोड़ा जा सकता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios