बिजनेस डेस्क। टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार का संचालन क्लाउड कंपनी ओरेकल करेगी। माइक्रोसॉफ्ट बोली लगाने में पीछे छूट गई। भारत के लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के साथ सीमा विवाद के बाद जून में भारत सरकार ने टिकटॉक समेत कई चाईनीज ऐप पर बैन लगा दिया था। इसके बाद अमेरिका में ट्रम्प प्रशासन ने भी टिकटॉक पर बैन का आदेश जारी किया, जो 15 सितंबर से लागू होना है। इसके पहले टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार की बिक्री हो जाती है, तो यह बैन नहीं लगेगा। गौरतलब है कि अमेरिका की कई कंपनियां चीनी कंपनी बाइटडांस के स्वामित्व वाले टिकटॉक ऐप को खरीदने की होड़ में शामिल थीं। जानकारी के मुताबिक, ओरेकल टिकटॉक को क्लाउड तकनीक उपलब्ध कराएगी। इस डील में जनरल अटलांटिक और सिक्योआ कंपनी को भी हिस्सेदारी मिलने की बात कही जा रही है। हालांकि, सौदा ट्रम्प प्रशासन की मंजूरी मिलने के बाद ही फाइनल होगा। 

ओरेकल को हिस्सेदारी मिलने पर स्थिति साफ नहीं
एक अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बाइटडांस ने टिकटॉक के संचालन के लिए ओरेकल को सिर्फ टेक्निकल पार्टनर के तौर पर चुना है। ओरेकल को टिकटॉक की हिस्सेदारी मिलने को लेकर स्थिति अभी इसलिए साफ नहीं है, क्योंकि रिपोर्ट में कहा गया है कि ओरेकल टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार के लिए महज क्लाउड तकनीक उपलब्ध कराएगी।

जनरल अटलांटिक को मिलेगी हिस्सेदारी
इस सौदे में अमेरिकी इन्वेस्टमेंट फर्म जनरल अटलांटिक और सिक्योआ को भी हिस्सेदारी मिलेगी। टिकटॉक के अमेरिकी यूजर्स का डेटा मैनेजमेंट ओरेकल के पास रहेगा। बता दें कि जनरल अटलांटिक और सिक्योआ ने बाइटडांस में अच्छा-खासा निवेश कर रखा है। 

बाइटडांस ने किया खंडन
वहीं, चाइना ग्लोबल टेलीवविजन नेटवर्क (CGTN) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बाइटडांस ने कहा है कि वह टिकटॉक का अमेरिकी कारोबार न तो ओरेकल को बेचेगी और न ही किसी अमेरिकी कंपनी को इसका सोर्स कोड देगी। हालांकि, इसके बारे में बाइटडांस का कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

ट्रम्प प्रशासन से लेनी होगी मंजूरी
इस सौदे को अंतिम रूप देने से पहले ट्रम्प प्रशासन से मंजूरी लेनी होगी। कमेटी ऑन फॉरेन इन्वेस्टमेंट इन यूनाइटेड स्टेट्स ( CFIUS) किसी भी तरह के राष्ट्रीय सुरक्षा जोखिम को लेकर इस सौदे की जांच करेगी। अगर ट्रम्प प्रशासन यह सौदा खारिज कर देता है, तो बाइटडांस को नए सिरे से साझेदार की तलाश करनी पड़ सकती है। वैसे, ओरेकल के ट्रम्प प्रशासन से अच्छे रिश्चे हैं। ओरेकल के संस्थापक लैरी एलिसन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लिए फंड जुटाने के एक कार्यक्रम का भी आयोजन कर चुके हैं। ट्रम्प ने पिछले महीने इस डील के समर्थन की बात कही थी। वहीं, चीन का कहना है कि टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार की बिक्री जबरन लूट की तरह होगी।