Asianet News HindiAsianet News Hindi

बैंक में मिनिमम बैलेंस को लेकर रहें सावधान, इस सरकारी बैंक ने ग्राहकों से एक साल में वसूले 170 करोड़ रुपये

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने बीते वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही औसत बैलेंस (QAB) चार्ज के रूप में 35.46 करोड़ रुपये की वसूली की है। बीते वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बैंक ने इसमें रिलीफ देते हुए कोई वसूली नहीं की है। तीसरी और चौथी तिमाही में बैंक ने  48.11 करोड़ रुपये और 86.11 करोड़ रुपये वसूले है। 
 

PNB recovered Rs 170 crore from customers for minimum balance requirement
Author
Bhopal, First Published Sep 21, 2021, 11:12 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क । सूचना के अधिकार (RTI) के तहत मांगी गई जानकारी पर एक बड़ा खुलासा हुआ है।  पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान बैंक खातों में न्यूनतम राशि (मिनिमम बैलेंस) नहीं रखने वाले कस्टमर से फाइन बतौर 170 करोड़ रुपये की वसूली की है।   पंजाब बैंक ने वित्तीय वर्ष 2019-20 में 286.24 करोड़ रुपये की राशि वसूली थी। वहीं वित्तीय वर्ष 2020-21 में ये राशि  170 करोड़ रुपये है। बता दें कि पंजाब बैंक तिमाही शुल्क वसूलता है। 

PNB ने वसूली बड़ी राशि
पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने बीते वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही औसत बैलेंस (QAB) चार्ज के रूप में 35.46 करोड़ रुपये की वसूली की है। बीते वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बैंक ने इसमें रिलीफ देते हुए कोई वसूली नहीं की है। तीसरी और चौथी तिमाही में बैंक ने  48.11 करोड़ रुपये और 86.11 करोड़ रुपये वसूले है। 
यह भी पढ़ें-SCO Summit में बोले मोदी-कट्टरपंथ के खिलाफ लड़ाई सिर्फ सुरक्षा के लिए नहीं, भविष्य के लिए भी महत्वपूर्ण है

ATM शुल्क के तौर पर वसूला गया 74.28 करोड़ रुपये
मध्यप्रदेश के सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने RTI के तहत बैंक से इस बारे में जानकारी  मांगी थी। बैंक ने बीते वित्त वर्ष में ATM शुल्क के रूप में 74.28 करोड़ रुपये भी ग्रहकों से जुटाए हैं।  2019-20 में बैंक ने इस शुल्क से 114.08 करोड़ रुपये की राशि जुटाई थी।

बीते वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सरकार के निर्देश के बाद बैंक ने एटीएम शुल्क में छूट दी थी। बैंक की तरफ से एक अन्य जानकारी में बताया गया है कि 30 जून, 2021 तक उसके 4,27,59,597 खाते निष्क्रिय थे. वहीं 13,37,48,857 खाते सक्रिय थे।
यह भी पढ़ें-अपना 'TIME'आएगा: दुनिया के पॉवरफुल लोगों में शुमार एलन ने रचा इतिहास, फंड जुटाने 4 लोगों को Space में भेजा

ATM से कैश निकालने पर लगेगा ज्यादा शुल्क 
RBI ने 1 अगस्त, 2021 से ATM ट्रांजेक्शन पर  शुल्क 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये किया है।  गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये किया गया है।

1 अक्टूबर तक कर लें ये काम
वहीं बैंक ने ये भी ऐलान किया है कि 1 अक्टूबर से ई-ओबीसी और ई-यूएनआई के पुराने चेक उपयोग नहीं किए जा सकेंगे।  जिन ग्राहकों के पास ओबीसी और यूएनआई बैंक के पुराने चेक बुक हैं, वेनई चेक बुक ले लें,1 अक्टूबर से पुराने चेक बुक बेकार हो जाएंगे। ओरिएंटल बैंक और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का पीएनबी के साथ पिछले साल 1 अप्रैल 2020 को विलय किया गया था. अब यूबीआई और ओबीसी के सभी काम पीएनबी के तहत कराए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें-अपना 'TIME'आएगा: दुनिया के पॉवरफुल लोगों में शुमार एलन ने रचा इतिहास, फंड जुटाने 4 लोगों को Space में भेजा

सेविंग बैंक अकाउंट में कितना जरूरी है मिनिमम बैलेंस रखना 

कृपया ध्यान दे की मिनिमम बैलेंस और सन्देश का शुल्क जिस तिथि से नहीं लगने की बैंक ने घोषणा की है उस तिथि से पहले अगर आपका कोई शुल्क देय है तो उसका भुगतान करना होगा I

11 मार्च, 2020 को स्टेट बैंक ने ऐलान किया था कि एवरेज मंथली बैलेंस या AMB को माफ किया जा रहा है। इसका अर्थ है कि  अगर कोई ग्राहक खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं रखता है तो उसे कोई जुर्माना नहीं देना होगा। वहीं आरबीआई की गाइडलाइन के मुताबिक अलग-अलग बैंक मिनिमम बैलेंस संबंध में दिशा निर्देश जारी करते हैं।  

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios