Asianet News HindiAsianet News Hindi

RIL 43rd AGM की बड़ी बातें; गूगल बना पार्टनर, एनर्जी बिजनेस पर भी अंबानी की नजर; दिया 15 साल का रोडमैप

कंपनी का मार्केट कैप रिकॉर्ड स्तर पर 12 लाख करोड़ के पार चला गया है। रिलायंस एजीएम की वजह से स्टॉक मार्केट में आज रौनक बनी हुई है। रिलायंस के शेयर्स ऊंचे स्तर पर दिख रहे हैं। 

RIL 43rd AGM Here are big things to know Mukesh Ambani Anant Ambani live Updates
Author
Delhi, First Published Jul 15, 2020, 8:38 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का 43वां एजीएम खत्म हो गया है। कंपनी के चेयरमैन और डायरेक्टर मुकेश अंबानी, आकाश अंबानी, ईशा अंबानी और नीता अंबानी के साथ कंपनी के अफसरों ने इसे एड्रेस किया। कंपनी ने 43वें एजीएम में टेलिकॉम, डिजिटल, ई-कॉमर्स, रिटेल और पेट्रो बिजनेस में आक्रामक तरीके से शुरुआत के संकेत दिए हैं। कई घोषणाएं और लांचिंग भी हुई। 

फीचर फोन की कीमत में स्मार्टफोन, चीन के फोन बाजार को चुनौती 
मुकेश अंबानी ने घोषणा की कि जियो भारत को 2 जी मुक्त बनाएगी। अंबानी ने कहा कि कंपनी गूगल के साथ मिलकर एंडराइड बेस्ड स्मार्टफोन बनाएगी और उनका मकसद भारत के हर हाथ तक स्मार्टफोन पहुंचाना है। मुकेश अंबानी ने कहा कि अब तक हमने 100 मिलियन जियो फोन बेचे हैं। लेकिन अब कई फीचर फोन यूजर स्मार्ट फोन का इंतजार कर रहे हैं। हमें भरोसा है कि हम एंट्री लेवल 4 जी या 5G स्मार्ट फोन डिजाइन कर लेंगे।

कहा, हमें भरोसा है कि हम इसी रेंज (फीचर फोन की कास्ट में) स्मार्टफोन डिजाइन कर सकते हैं। हमें इंजीनियर्ड स्मार्टफोन ऑपरेटिंग सिस्टम की जरूरत है। गूगल और जियो मिलकर भारत में ऐसा ही स्मार्टफोन ऑपरेटिंग सिस्टम बनाएंगे। एजीएम में गूगल सीईओ सुंदर पिचाई का मैसेज भी चलाया गया। भारत के स्मार्टफोन मार्केट में चीन के बाज़ारों का दबदबा है।  

शेयर होल्डर्स को संबोन्धित करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा, कोरोना से लड़कर भारत समेत बाहर निकलकर आएगी। उन्होंने बताया कि कुछ ही हफ्तों में वीडियो कॉलिंग ऐप जियो मीट 5 को मिलियन यूजर्स ने डाउनलोड किया है। 109 देशों में 2 लाख करोड़ से ज्यादा एक्सपोर्ट कर रहे हैं। 

अंबानी ने कहा, हमने पिछले एजीएम में निवेश के जरिए कंपनी के डैब्ट फ्री करने का वादा किया था। हमने समय से पहले ही राइट्स इश्यू और निवेश के जरिए उसे पूरा कर लिया। राइट्स इश्यू को सक्सेस बनाने के लिए शेयर होल्डर्स का धन्यवाद। 

इन्वेस्टर्स के बारे में जानकारी 
मुकेश अंबानी ने फेसबुक समेत जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करने वाले पार्टनर्स को लेकर बताया कि वो पैसे के अलावा भरोसा और विश्वास भी लेकर आ रहे हैं। 

जियो प्लेटफॉर्म्स में गूगल का भी निवेश 
मुकेश अंबानी ने बताया कि जियो प्लेटफॉर्म्स में गूगल ने भी आज निवेश किया है। गूगल ने 7.7 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 33 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश किया है। 

हाफ बिलियन मोबाइल कस्टमर का लक्ष्य 
मुकेश अंबानी ने मोबाइल और डिजिटल बिजनेस को लेकर अगले तीन साल का रोडमैप प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा, अगले तीन साल में हाफ बिलियन मोबाइल कस्टमर का लक्ष्य रखा है। अंबानी ने साफ किया कि कंपनी 4 जी से 5 जी की ओर बढ़ेगी। और इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत की ओर बढ़ता कदम बताया। अंबानी ने शेयर होल्डर्स से पांच बड़े लक्ष्य का जिक्र किया। 
 
- मोबाइल ब्राडबैंड 
- जियो फाइबर
- एंटरप्राइज़ ब्राड बैंड सर्विस 
- ब्राड बैंड फॉर एसएमई 
- नैरो बैंड  

आकाश ने बीटा प्रोग्राम की जानकारी दी 
बीटा प्रोग्राम पर आकाश ने जियो सेट टॉप बॉक्स, जियो फाइबर और जियो टीवी के बारे में जानकारी दी। नेटफ्लिक्स, अमेज़न समेत 12 ऐप के साथ ट्रीटी हुई है। आकाश ने बताया कि इन्हें सिंगल क्लिक से एक्सेस किया जा सकता है। 

जियो ग्लास 
किरण ने जियो ग्लास पेस किया। इसमें बेहतरीन फीचर्स हैं। इस खास चश्में में डिस्प्ले और वाइस सर्विस मिलेगी। एजीएम में इसका डेमोन्स्ट्रेशन भी हुआ। ईशा अंबानी ने जियो मीट को लेकर जानकारी दी। 

जियो का 5जी कब 
मेक इन इंडिया 5 जी इसे जियो के कर्मचारियों ने तैयार किया है। 5जी हर जगह काम करेगा। इसका डेमोंस्ट्रेशन भी किया गया। इससे देश की अर्थव्यवस्था की ग्रोथ होगी और रोजगार बढ़ेगा। आकाश ने  बताया कि हमने चार साल पहले 4 लॉन्च किया था अब जल्द ही 5 जी लेकर आएंगे। ईशा अंबानी ने बताया कि कोरोना महामारी के बाद जियो मार्ट कैसे कस्टमर और सेलर की दुनिया बदलेगी। कंपनी ने "कस्टमर आपका सपोर्ट हमारा" का नारा भी दिया।

जियो मार्ट और वाट्सऐप 
कंपनी ने फेसबुक के साथ डील की थी। एजीएम में अंबानी ने बताया कि जियो मार्ट और WhatsApp मिलकर किराना स्टोर्स और कंज्यूमर्स के लिए नए मौके तैयार करेंगे। यह साफ हो गया कि रिलायंस WhatsApp का इस्तेमाल जियो मार्ट में करने जा रहा है। 

क्लीन एनर्जी के लिए पेश किया 15 साल का खाका 
मुकेश अंबानी ने एजीएम में यह भी साफ किया कि डिजिटल के अलावा कंपनी केमिकल और एनर्जी के बिजनेस पर फोकस करने जा रही है। अंबानी ने कहा कि कंपनी कार्बन को रिसाइकिल कर उसे मटेरियल बनाने के बारे में सोच रही है। इसके लिए तकनीकी पर काम किया जाएगा। क्लीन एनर्जी के लिए 15 साल का खाका पेश करते हुए अंबानी ने कहा कि ये उनके लिए बिजनेस से ज्यादा सेवा है। उन्होंने कहा कि हाइड्रो, बैटरी, सोलर, नेचुरल गैस जैसी क्लीन एनर्जी के लिए काम किया जाएगा। उन्होंने कहा, हम नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल को ऑइल टू केमिकल बिजनेस को सेपरेट सब्सीडियरी के रूप में करने को अप्रोच करेंगे। हालांकि अंबानी ने यह भी बताया कि अरामको के साथ तय वक्त में दीन नहीं हो पाई। लेकिन अरामको हमारा पुराना और भरोसेमंद साथी है और ये पार्टनरशिप आगे भी बनी रहेगी। 

नीता ने फाउंडेशन के काम को बताया 
नीता अंबानी ने कोरोना महामारी के बाद रिलायंस फाउंडेशन के सोशल वर्क की जानकारी दी। 
 

यहां देखें लाइव


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios