Asianet News HindiAsianet News Hindi

यह पांच तरीके आपकी Home Loan EMI को कर सकते हैं कम

Home Loan EMI: आपको अपनी प्रोफ़ाइल के लिए मिलने वाली ब्‍याज दरों की तुलना करनी चाहिए। इसके अलावा, बेहतर क्रेडिट स्कोर (Credit Score) वालों को अक्सर सबसे कम ब्‍याज दर ऑफर की जाती है। इसलिए आपको अपनी क्रेडिट रिपोर्ट प्राप्त करने और अपने स्कोर के मुकाबले बेस्‍ट ब्‍याज दर की जांच करने की आवश्यकता होती है।

These Five Ways Can Reduce Your Home Loan EMI
Author
New Delhi, First Published Nov 22, 2021, 9:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

Home Loan EMI: किसी के लिए भी होम लोन (Home Loan)  लेना एक अहम फैसला होता है। यदि आप बेहतर डील के लिए पर्याप्त होमवर्क नहीं करते हैं तो यह आपको महंगा पड़ सकता है क्योंकि यह एक लांग टर्म लोन हैं जो अक्सर 15-20 वर्षों तक चलता रहता है। होम लोन लेने से पहले आपको ऐसे बैंक की तलाश करने की जरुरत है जो आपको सबसे कम दर पर ब्‍याज दर देने के लिए राजी हो। क्‍योंकि न्यूनतम संभव दर नहीं मिलना महंगा साबित हो सकता है। ऐसे में आपको होम लोन ईएमआई (Home Loan EMI) ज्‍यादा चुकानी पड़ सकती है। आज आपको ऐसे ही तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जि‍ससे आपहोम लोन ईएमआई की राश‍ि को कम कर सकते हैं।

तलाश करें, कहां म‍िल रहा है सबसे कम ब्‍याज
अगर आप ऑनलाइल सर्च करेंगे तो आपके सामने तमाम बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनि‍यों की लिस्‍ट सामने आ जाएगी। जिसमें उनकी होम लोन की ब्‍याज दरें भी होंगी। आपको यह समझने की आवश्यकता है कि सभी उधारकर्ताओं को न्यूनतम दर ऑफर नहीं की जाती है क्योंकि यह अक्सर विभिन्न नियमों और शर्तों के साथ आता है। इसलिए, आपको कम से कम 5-7 लेंडर्स को शॉर्टलिस्ट करना होगा और फिर सबसे कम ब्याज दर के लिए उनके नियमों और शर्तों को देखना होगा। यदि आपको उपयुक्त लेंडर मिल जाए तो कम ब्याज दर आपको अपनी ईएमआई कम करने में मदद करेगी।

सही संपत्ति चुनें
भले ही आपने ऐसे लेंडर को शॉर्टलिस्‍ट कर लिया हो, जो आपको कम दरों पर होम लोन देगा, लेकि‍न जो प्रॉपर्टी आप खरीदने का प्‍लान बना रहे हैं, कहीं वो उस बैंक की नेगेटिव लिस्‍ट में तो नहीं है। यह देख लेना काफी जरूरी है। कई बैंक कुछ इलाकों और प्रॉपर्टी को रेड लिस्‍ट में डाल देते हैं, जिसके लिए वो होम लोन नहीं देते हैं। इसलिए, आपको यह जांचना होगा कि जिस लेंडर से आप संपर्क करने की योजना बना रहे हैं, वह उस संपत्ति को फाइनेंस करेगा भी या नहीं। इसलि‍ए आपको अपनी प्रॉपर्टी के चयन इस तरह से करना होगा कि जिससे आप लेंडर की सभी शर्तों को पूरा कर सकें।

ज्‍यादा से ज्‍यादा डाउनपेमेंट करें
अधिकांश लेंडर उन बोरोअर्स को सबसे कम ब्याज दर देते हैं जो ज्‍यादा से ज्‍यादा डाउनपेमेंट करके लोन टू वैल्‍यू रेश्‍यो को कम रखते हैं। इसलिए, यदि आप 25 फीसदी से अधिक का डाउनपेमेंट कर सकते हैं, तो आप लेंडर द्वारा दी जाने वाली न्यूनतम दर प्राप्त कर सकते हैं। तो एक उच्च डाउनपेमेंट न केवल बकाया राशि को कम रखकर आपकी ईएमआई को कम करता है, यह आपको लोन कम ब्याज दर भी प्राप्त कर सकता है।

लंबे समय के लिए लें होम लोन
ईएमआई को कम रखने का एक और ऑप्‍शन भी है और वो है लोन का टेन्‍योर लंबा रखना। उदाहरण के लिए, यदि आप 7.5 फीसदी वार्षिक ब्याज दर पर 20 साल की अवधि के साथ 40 लाख रुपए का होम लोन ले रहे हैं, तो आपकी ईएमआई 32,224 रुपये होगी। हालांकि, अगर आप 25 साल के टेन्‍योर के लिए जाते हैं तो ईएमआई 29,560 रुपये हो जाती है और 30 साल के टेन्‍योर के मामले में ईएमआई 27,969 रुपये होगी। हालांकि, लोन का टेन्‍योर जितना लंबा होगा, कुल ब्याज भुगतान उतना ही अधिक होगा। तो, यह आपका अंतिम उपाय होना चाहिए। इसके अलावा, जिस क्षण आप अधिक ईएमआई राशि का भुगतान कर सकते हैं, आपको लोन का री-स्‍ट्रक्‍चर करना चाहिए और कार्यकाल को कम करना चाहिए, या आंशिक पूर्व भुगतान करना शुरू करना चाहिए।

होम सेवर लोन के लिए जाएं
यदि आपकी आय में उतार-चढ़ाव है और आप कुछ महीनों के लिए लचीलेपन की तलाश में हैं, जब आपको कम ईएमआई राशि का भुगतान करना होगा, तो होम सेवर लोन एक विकल्प हो सकता है। ये ओवरड्राफ्ट सुविधा के समान हैं, जहां आपका न्यूनतम दायित्व केवल मासिक ब्याज का भुगतान करना रहता है। इसलिए, कुछ महीनों में आप अपने मासिक भुगतान को केवल ब्याज राशि तक कम कर सकते हैं और जब भी आप सहज हों तो आप मूल बकाया राशि को कम करने के लिए अधिक राशि का भुगतान करना शुरू कर सकते हैं। यह उन व्यवसायियों और पेशेवरों के लिए उपयुक्त हो सकता है जिनकी इनकम में उतार चढ़ाव होता रहता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios