Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिवालिया हो सकती है वोडाफोन आइडिया, कर्ज चुकाने के लिए कंपनी ने दिए बड़े संकेत

 वोडाफोन आइडिया और एयरटेल के जारी आंकड़ों के मुताबिक कंपनियों को काफी ज्यादा घाटा हुआ है। खबरों का माने तो वोडाफोन आइडिया फिलहाल कंपनी के असेट्स को बेचने पर विचार कर रही है। वोडाफोन आइडिया को इस तिमाही 51,000 करोड़ रुपए और एयरटेल को 23,000 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।

Vodafone Ideas auditors may sell assets soon, government indicate positive moves
Author
New Delhi, First Published Nov 16, 2019, 4:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश के टेलिकॉम सेक्टर में समायोजित सकल राजस्व (AGR) की मार से कंपनियों का भविष्य खतरे में दिखाई दे रहा है। वोडाफोन आइडिया और एयरटेल के जारी आंकड़ों के मुताबिक कंपनियों को काफी ज्यादा घाटा हुआ है। खबरों का माने तो वोडाफोन आइडिया फिलहाल कंपनी के असेट्स को बेचने पर विचार कर रही है। दोनों कंपनियों पर कुल 92,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। 

 

Vodafone Ideas auditors may sell assets soon, government indicate positive moves

सबसे बड़ा घाटा

वोडाफोन के प्रमुख ने हाल ही भारत सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा था कि सरकार से किसी भी प्रकार की सहायता नहीं मिल रही है। इस तिमाही में तीनों कंपनियों को हुए घाटे का आंकड़ा कुल 74,000 करोड़ रुपए है। कॉर्पोरेट इतिहास में यह अब तक का सबसे बड़ा घाटा बताया जा रहा है। वोडाफोन आइडिया को इस तिमाही 51,000 करोड़ रुपए और एयरटेल को 23,000 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।

 

Vodafone Ideas auditors may sell assets soon, government indicate positive moves

वोडाफोन आइडिया हो सकती है दिवालिया 

दरअसल में पिछले महीने ही सुप्रीम कोर्ट ने एजीआर पर सरकार के पक्ष में फैसला देते हुए सभी टेलीकॉम कंपनियों को बकाया टैक्स जमा करने की बात कही थी। इसमें सबसे ज्यादा राशि वोडाफोन आइडिया को करीब 39,000 करोड़ रुपए देने हैं। बता दें कि इसी सप्ताह आदित्य बिरला समूह ने संकेत दिए थे कि अगर सरकार इस मामले में राहत नहीं देती है तो वह कंपनी में और निवेश नहीं करेंगे। ऐसे में वोडाफोन आइडिया के दिवालिया होने के आसार नजर आ रहे हैं। 

 

Vodafone Ideas auditors may sell assets soon, government indicate positive moves

कंपनी बेंच सकती है हिस्सेदारी

अब वोडोफोन आइडिया के पास कंपनी की हिस्सेदारी बेचने के अलावां कोई रास्ता नजर नहीं नजर आ रहा है। कंपनी के प्रबंध निदेशक रविंद्र ठक्कर का कहना है कि वो ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क और डेटा सेंटर को बेंच सकते हैं। इसी हफ्ते कंपनी कर्जदाता बैंकों के कर्ज को वापस करने में असमर्थता जता चुकी है। 

 

Vodafone Ideas auditors may sell assets soon, government indicate positive moves

वित्त मंत्रालय दे सकती है राहत

कंपनियों के कारोबार ठप होने से इस सेक्टर में काम कर रहे कर्मचारियों का भविष्य भी अधर में लटका नजर आ रहा है। सरकार भी इस मामले पर गंभीरता से नजर बनाए हुए है। टेलिकॉम सेक्टर में चल रही मंदी और दिक्कतों को देखते हुए वित्त मंत्रालय टेलीकॉम सेक्टर के लिए राहत पैकेज का एलान कर सकती है। भारी मंदी के कारण पहले ही सरकार आलोचनाओं से घिरी हुई है। ऐसे में सरकार ने घाटे में चल रही वोडाफोन आइडिया और एयरटेल जैसी कंपनियों की मुश्किलें आसान करने के लिए जल्द बड़े एलान के संकेत दे सकती है। 

 

Vodafone Ideas auditors may sell assets soon, government indicate positive moves

मार्केट में बड़ी हिस्सेदारी

हाल ही में सरकारी कंपनी बीएसएनल और एमटीएनएल के मर्जर के फैसले से सरकार ने इस ओर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। ट्राई के अक्टूबर डेटा के मुताबिक इन दोनों का मार्केट शेयर 10.22 फीसदी है। जबकी प्राइवेट कंपनियों का शेयर  89.78 फीसदी हिस्सा है, जिसमें वोडाफोन आइडिया के 37.5 करोड़ यूजर्स, एयरटेल के 32.79 करोड़ यूजर्स और रिलायंस जियो के 34.8 करोड़ यूजर्स शामिल हैं। 

सरकार के सकारात्मक संकेत से कल शेयर बाजार में भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के शेयरों में तेजी देखी गई थी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios