Asianet News HindiAsianet News Hindi

खाने-पीने का सामान महंगा होने से थोक मुद्रास्फीति नवंबर में बढ़कर हुआ इतना प्रतिशत

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के सोमवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, खाने-पीने के सामान की मुद्रास्फीति अक्टूबर में 9.80 प्रतिशत से बढ़कर नवंबर 2019 के दौरान 11 प्रतिशत पर पहुंच गई
 

Wholesale inflation rises in November as food and food became costlier kpm
Author
New Delhi, First Published Dec 16, 2019, 1:58 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली: खाद्य वस्तुओं की कीमतों में तेजी से थोक मूल्य आधारित मुद्रास्फीति नवबंर महीने में बढ़कर 0.58 प्रतिशत पर पहुंच गयी। अक्टूबर में यह 0.16 प्रतिशत पर थी। मासिक थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति नवंबर 2018 में 4.47 प्रतिशत पर थी।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के सोमवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, खाने-पीने के सामान की मुद्रास्फीति अक्टूबर में 9.80 प्रतिशत से बढ़कर नवंबर 2019 के दौरान 11 प्रतिशत पर पहुंच गई। वहीं, गैर-खाद्य उत्पाद वर्ग की मुद्रास्फीति अक्टूबर में 2.35 प्रतिशत से कम होकर नवंबर में 1.93 प्रतिशत रह गई।

खुदरा मुद्रास्फीति की दर बढ़कर 5.54 प्रतिशत पर 

विनिर्मित उत्पाद के लिए थोक मुद्रास्फीति इस महीने भी शून्य से 0.84 प्रतिशत नीचे रही। उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते आए आंकड़ों के मुताबिक, प्याज सहित अन्य सब्जियों, दाल और मांस, मछली जैसी प्रोटीन वाली वस्तुओं के दाम चढ़ने से नवंबर माह में खुदरा मुद्रास्फीति की दर बढ़कर 5.54 प्रतिशत पर पहुंच गई थी। यह इसका तीन साल का उच्चस्तर है।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(प्रतीकात्मक फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios