Asianet News HindiAsianet News Hindi

जानें क्यों भारत के गुमनाम अरबपति कहलाते थे पलोनजी मिस्त्री, ग्रुप में 50 हजार से भी ज्यादा लोग करते हैं काम

देश के जाने-माने बिजनेसमैन शापूरजी पालोनजी मिस्त्री (Pallonji Mistry) का सोमवार रात मुंबई में निधन हो गया। वे 93 साल के थे। शापूरजी पालोनजी ग्रुप का बिजनेस दुनियाभर के 50 देशों में फैला है। इसमें करीब 50 हजार लोग काम कर रहे हैं।

Why Pallonji Mistry was called Indias anonymous billionaire, business has spread in more than 50 countries kpg
Author
Mumbai, First Published Jun 28, 2022, 11:17 AM IST

Pallonji Mistry Passes away: बिजनेसमैन शापूरजी पालोनजी मिस्त्री (Pallonji Mistry) का सोमवार रात को निधन हो गया। वे 93 साल के थे। शापूरजी पालोनजी ग्रुप (Shapoorji Pallonji Group) देश के सबसे बिजनेस घरानों में से एक है। उनका कारोबार कंस्ट्रक्शन के अलावा इंजीनियरिंग और रियल एस्टेट समेत कई फील्ड में फैला हुआ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, शापूरजी पालोनजी ग्रुप का बिजनेस दुनियाभर के 50 देशों में फैला है। इसमें करीब 50 हजार लोग काम कर रहे हैं। बता दें कि पालोनजी को भारत का सबसे गुमनाम अरबपति भी कहा जाता था। 

आखिर क्यों गुमनाम अरबपति कहलाते थे पालोनजी मिस्त्री?
पालोनजी मिस्त्री को भारत का गुमनाम अरबपति कहने की सबसे बड़ी वजह ये थी कि वो सार्वजनिक मंचों से दूर ही रहते थे। उन्होंने खुद को हमेशा लाइमलाइट से दूर ही रखा। हालांकि, बावजूद इसके बिजनेस की दुनिया में लोग उकनी बड़ी इज्जत करते थे।  

आयरिश महिला से की थी शादी : 
पालोनजी मिस्त्री ने आयरलैंड की एक महिला से शादी की थी, जिसके बाद उन्हें वहां की नागरिकता भी मिल गई थी। भले ही उन्हें आयरलैंड की नागरिकता मिल गई थी, लेकिन फिर भी उनका ज्यादा समय भारत में ही बीतता था। वो मुंबई मुंबई में वाकेश्वर में समंदर किनारे बने बंगले में रहते थे। उन्होंने अंतिम सांस भी इसी घर में ली। 

टाटा ग्रुप में है मिस्त्री परिवार की हिस्सेदारी : 
टाटा ग्रुप में पलोनजी मिस्त्री फैमिली की भी हिस्सेदारी है। टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी टाटा संस में मिस्त्री परिवार के पास करीब 18 फीसदी हिस्सेदारी है। बता दें कि शापोरजी पालोनजी ग्रुप की स्थापना साल 1865 में हुई थी। शापूरजी पालोनजी ग्रुप ने ही मुंबई की कई मशहूर इमारतें बनाई हैं। इनमें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, ताज महल पैलेस जैसी इमारतें शामिल हैं।

ये भी देखें : 
पद्म भूषण बिजनेस टायकून शापूरजी पालोनजी मिस्त्री का 93 वर्ष की उम्र में निधन, कई देशों में फैला है कारोबार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios