नई दिल्ली। इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस कंपनी ने रविवार को कहा कि यस बैंक के पास बांड के रूप में कंपनी के 662 करोड़ रुपये हैं और उस पर बैंक का कोई सावधि ऋण बकाया नहीं है।

कंपनी ने शेयर बाजार को बताया, “हम बताना चाहते हैं कि यस बैंक पर अतिरिक्त टियर वन (एटी-1) बांड के रूप में इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस के 662 करोड़ रुपये बकाया हैं।” 

इंडियाबुल्स ने किया था ऐसा निवेश 
इंडियाबुल्स ने बताया कि 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की नकद कोष के प्रबंधन के तहत उसने 2017 में यस बैंक के एटी-1 बांड में निवेश किया गया था, जब बैंक की बाजार हैसियत 10 अरब डॉलर से अधिक की थी।

कंपनी ने क्या कहा? 
कंपनी ने कहा, “इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस पर इस बैंक का कोई भी सावधि ऋण बकाया नहीं है।” इस गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी ने कहा कि इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस के प्रवर्तक समीर गहलोत, या उसकी किसी कंपनी या उनके परिवार के सदस्यों की किसी कंपनी पर यस बैंक का कोई भी कर्ज बकाया नहीं है।

(ये खबर न्यूज एजेंसी पीटीआई/भाषा की है। हिन्दी एशियानेट न्यूज ने सिर्फ हेडिंग में बदलाव किया है।)