Asianet News HindiAsianet News Hindi

CBSE class 12 English paper: देखें सैंपल पेपर, जानें कैसे होगी इंग्लिश सब्जेक्ट की मार्किंग स्कीम

सीबीएसई कक्षा 12 में अंग्रेजी कोर पेपर प्रमुख विषयों में से एक है। बता दें कि कोरोना के कारण इस बार बोर्ड ने दो टर्म में परीक्षा आयोजित करने का फैसला किया है। पहले टर्म की परीक्षाएं शुरू हो गई हैं जबकि दूसरे टर्म की परीक्षाएं, फरवरी या मार्च में हो सकती हैं।

exam alert CBSE class 12 English core paper check sample paper and marking scheme pwt
Author
New Delhi, First Published Dec 3, 2021, 10:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 3 दिसंबर को कक्षा 12 के छात्रों (Students ) के लिए अंग्रेजी कोर का पेपर (English core paper) आयोजित करेगा। पेपर का कोड 301 है और यह सुबह 11.30 बजे से दोपहर 1 बजे तक आयोजित किया जाएगा। छात्रों को बोर्ड और उनके स्कूलों द्वारा दिए गए निर्देशों को पढ़ना चाहिए और परीक्षा केंद्र (exam centre) पर उनका पालन करना चाहिए। इस साल सीबीएसई की परीक्षाएं बहुविकल्पीय फॉर्मेट (MCQ format) में हो रही हैं। इसलिए छात्रों को सीबीएसई द्वारा जारी आधिकारिक सैंपल पेपरों के माध्यम से परीक्षा पैटर्न का खास ध्यान रखना होगा।

सीबीएसई कक्षा 12 में अंग्रेजी कोर पेपर प्रमुख विषयों में से एक है। बता दें कि कोरोना के कारण इस बार बोर्ड ने दो टर्म में परीक्षा आयोजित करने का फैसला किया है। पहले टर्म की परीक्षाएं शुरू हो गई हैं जबकि दूसरे टर्म की परीक्षाएं, फरवरी या मार्च में हो सकती हैं।

एग्जाम के दौरान इस बात का रखें ध्यान
प्रश्न पत्र में तीन सेक्शन में होंगे- पढ़ना, लिखना और साहित्य। रीडिंग सेक्शन में कुल 18 प्रश्न होंगे और छात्रों को 14 प्रश्नों को सॉल्व करना होगा। राइटिंग सेक्शन में 12 प्रश्न होंगे, जिनमें से छात्रों को 10 प्रश्नों को सॉल्व करना होगा। साहित्य सेक्शन में कुल 30 प्रश्न होंगे और छात्रों को कुल 26 प्रश्नों को सॉल्व करना होगा। इसके साथ ही कैंडिडेट्स को एग्जाम शुरू करने से पहले क्वेश्चन पेपर को सही तरीके से पढ़ना चाहिए उसे बाद सॉल्व करना शुरू करें। 

यहां देखें कैसे होगा सैंपल पेपर
यहां क्लिक कर देंखे कैंसे होगी मार्किंग स्कीम

कोविड गाइडलाइन को करना होगा फॉलो
परीक्षा के दौरान छात्रों को 90 मिनट का समय दिया जाएगा। इसके साथ ही छात्रों को कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करना होगा। एग्जाम सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ मास्क लगाकार आना अनिवार्य है।  गलत जवाब देने पर स्टूडेंट्स को किसी भी तरह की माइनस मार्किंग नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें- IIT Madras की नई रिसर्च: 80 फीसदी दिव्यांग विकासशील देशों से, उनमें से अधिकांश कम शिक्षित और बेरोजगार

HPPSC: लेबर वेलफेयर ऑफिसर की पोस्ट पर निकली वैकेंसी, जानें कितनी मिलेगी सैलरी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios