Asianet News Hindi

UP Board Result: 10-12वीं में फेल हुए स्टूडेंट्स का साल नहीं होगा खराब, इन 3 तरीकों से हो सकते हैं पास

हम यहां फेल होने वाले बच्चों को कुछ ऐसे रास्‍ते बता रहे हैं, ज‍िससे वह परीक्षा में दोबारा सफलता हास‍िल कर सकते हैं और उनका वर्ष भी बर्बाद नहीं होगा।

up board result 2020 fail students can pass by these three options know how kpt
Author
New Delhi, First Published Jun 28, 2020, 5:17 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  UP Board Result 2020: उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा परिषद (Uttar Pradesh Madhyamik Shiksha Parishad), यूपीएमएसपी (UPMSP) ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर पर‍िणाम जारी कर द‍िये हैं। यूपी बोर्ड ने कक्षा 10वीं और 12वीं बोर्ड के नतीजे घोषित क‍िये हैं, जहां कुछ छात्रों ने बेहतरीन अंक से परीक्षा में सफलता हास‍िल की है, वहीं कुछ छात्र ऐसे भी हैं, जो सफल नहीं हो सके हैं। ऐसे छात्र न‍िराश न हों और इस बात से वह परेशान भी न हों क‍ि उनका साल बर्बाद हो जाएगा। 

हम यहां उन्हें कुछ ऐसे रास्‍ते बता रहे हैं, ज‍िससे वह परीक्षा में दोबारा सफलता हास‍िल कर सकते हैं और उनका वर्ष भी बर्बाद नहीं होगा।

1. कंपार्टमेंट परीक्षा

जो छात्र कुछ विषयों में असफल रहे हैं, वह कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए फॉर्म भर सकते हैं. कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए फॉर्म ऑनलाइन और ऑ‍फलाइन दोनों उपलब्‍ध है। आप अगर ऑफलाइन फॉर्म भरना चाहते हैं तो अपने स्‍कूल में जाकर इसका फॉर्म भर सकते हैं। यह सबसे आसान तरीका होता है। कंपार्टमेंट परीक्षा देकर आप ब‍िना साल बर्बाद क‍िये ही अगली कक्षा में जा सकते हैं। सप्लीमेंट्री एग्जाम के नियम ठीक उसी तरह से है जैसा कि बोर्ड एग्जाम में होता है। बोर्ड सप्लीमेंट्री परीक्षा की तिथि घोषित करता है, उसके बाद ऑनलाइन फॉर्म भरना होता है। इसके लिए छात्र को 350 रुपए फीस जमा करनी होगी।

 

 

2. स्‍क्रूटनी या रीचेकिंग

कुछ छात्र ऐसे भी होंगे जो कुछ विषयों में फेल हो जाने की वजह से पास नहीं हो सकें हैं। ऐसे विद्यार्थियों को निराश होने की जरूरत नहीं है। वह सप्लीमेंट्री या कंपार्टमेंट परीक्षा के अलावा अपनी कॉपी रीचेकिंग के ल‍िये भी दे सकते हैं। सभी विषयों में फेल स्टूडेंट्स भी स्क्रूटनी या रीचेकिंग के लिए अप्लाई कर सकते हैं लेकिन इसमें कॉपी की री-चेकिंग नहीं होती। सिर्फ पाए मार्क्स फिर से जोड़े जाते हैं।

 

 

3. एनआईओएस (NIOS) का लें सहारा

फेल छात्र कभी भी एनआईओएस (नेशनल स्कूल ऑफ ओपन स्कूलिंग) में दाखिला लेकर परीक्षा दे सकते हैं। बता दें क‍ि NIOS हर हफ्ते परीक्षाएं आयोजित कराता है। इसमें दाखिला लेना जितना आसान है उतना ही इस बोर्ड की परीक्षाओं को पास करना भी आसान है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios