Asianet News HindiAsianet News Hindi

घर पर है बुरा साया बताकर साध्वी ने लूट लिए थे 76 लाख, पकड़ी गई तो सामने आया चौंकाने वाला सच

घर में बुरे साये की बात कहकर परिवार को डराने और फिर लाखों की ठगी करने वाली महिला सुषमा और उसके साथी अशोक नाथूलाल को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस को फर्जी महिला साध्वी और उसके साथी की काफी दिनों से तलाश थी।

Fake sadhvi arrested for cheating people of crores uja
Author
First Published Oct 2, 2022, 11:04 AM IST

रायपुर.  घर में बुरे साये की बात कहकर परिवार को डराने और फिर लाखों की ठगी करने वाली महिला सुषमा और उसके साथी अशोक नाथूलाल को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस को फर्जी महिला साध्वी और उसके साथी की काफी दिनों से तलाश थी। पुलिस ने दोनों को महाराष्ट्र और गुजरात से छापा मारकर पकड़ा है। पुलिस की गिरफ्त में आई फर्जी महिला साध्वी महाराष्ट्र की ही रहने वाली है। 

मामला कुछ यूं था कि रायपुर के पुरानी बस्ती इलाके रेखा साहू अपने परिवार के साथ रहती हैं। बीते कुछ दिनों से उनके परिवार में आए दिन किसी न किसी की तबियत खराब रहती थी और व्यवसाय में भी कुछ खासा लाभ नहीं हो रहा था। इसी दौरान बीती फरवरी में रेखा अपने परिवार के साथ उज्जैन दर्शन पूजन के लिए गई थीं। वहां उनकी मुलाकात साध्वी जैसी वेशभूषा में एक महिला से हुई। रेखा ने उसे साध्वी समझ कर अपना हाथ दिखाया और परिवार पर आए संकट को बताते हुए ग्रह नक्षत्रों के बारे में पूछा। इस पर उस साध्वी जैसी दिखने वाली महिला ने रेखा को बताया कि उसके परिवार पर बुरा साया है, इसे ठीक नहीं किया तो परिवार पर और अधिक संकट आने वाला है। ठीक करने के नाम पर उसने रेखा के घर चलकर एक पूजा करने की बात कही।

मार्च में पूजा के लिए बुलाया अपने घर रायपुर 
फर्जी साध्वी सुषमा के झांसे में आकर रेखा और उसके परिवार ने उसे पूजन के लिए मार्च में रायपुर बुला लिया। ठग सुषमा और उसका साथी अशोक दोनों मार्च में रेखा के घर रायपुर पहुंचे और पूजा पाठ किया, जाते समय उन्होंने फिर से अप्रैल में दूसरी पूजा की बात कही। अप्रैल में दोनों फिर से रायपुर आए और पूजा करने के बाद अंतिम पूजा जून में करने की बात कहकर चले गए। दोनों फिर से जून में रेखा के घर पहुंचे और इस बार वारदात को अंजाम दे दिया।

नशीला प्रसाद खिलाकर लूट लिए लाखों 
दोनों आरोपियों ने जून के महीने में पूजा पाठ करने के बाद रेखा साहू व उसके पूरे परिवार को भभूत प्रसाद के नाम पर बेहोशी का पाउडर दिया। उसे खाने के बाद पूरा परिवार बेहोश गया। जिसके बाद आरोपी आधी रात को घर के लाखों के जेवर व कैश लेकर अपनी कार से फरार हो गए। सुबह जब परिवार को होश आया तो उन्हें अपने साथ हुई ठगी की जानकारी हुई। उन्होंने थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई, तब से पुलिस इन्हें तलाश रही थी।

कई राज्यों में कर चुके थे ठगी 
एसएसपी प्रशांत अग्रवाल के मुताबिक मूलत: महाराष्ट्र जलगांव निवासी सुषमा प्रभाकर पूरे कांड की मास्टर माइंड है। सुषमा और अशोक ने आधा दर्जन राज्यों में ठगी की है। कई जगह वे पति-पत्नी बनकर जाते थे। वहां लोगों को मृत्यु का डर दिखाते थे। यहां जिस तरह वारदात की उसी तरह पूजा पाठ का झांसा देकर घर के जेवर व कैश मंगवाकर लाल कपड़े में बंधवाकर उसे आलमारी में रखवाते थे। फिर उन्हें नींद की गोली खिलाकर जेवर और कैश की पोटली लेकर भाग जाते। आरोपियों ने राजस्थान, मध्यप्रदेश, हिमाचंल, पंजाब, उत्तराखंड समेत अन्य राज्यों में ठगी की हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios