Asianet News Hindi

बाराती बनकर शादियों में पहुंचता है यह चोर गिरोह और फिर खा-पीकर कीमती सामान उठाकर हो जाता है रफूचक्कर

शादियों में घराती और बाराती बनकर शामिल होने और फिर मौका देखकर कीमती सामान चोरी करने वाले गिरोह की तलाश में छत्तीसगढ़ पुलिस युद्धस्तर पर जुट गई है। इस गिरोह ने अब तक छत्तीसगढ़, मप्र और महाराष्ट्र सहित 35 शहरों में चोरियां की हैं। इस गिरोह में  नाबालिग बच्चे भी शामिल हैं।

Shocking news related to gang stealing at weddings kpa
Author
Raipur, First Published Dec 12, 2020, 10:12 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायपुर, छत्तीसगढ़. शादियों में अकसर कई लोग ऐसे भी शामिल हो जाते हैं, जो न घराती होते हैं और न बाराती। चूंकि ऐसे माहौल में कोई किसी को टोकता नहीं है, लिहाजा यह नुकसानदायक साबित होता है। छत्तीसगढ़ पुलिस को शादियों में घराती और बाराती बनकर शामिल होने और फिर मौका देखकर कीमती सामान चोरी करने वाले गिरोह का पता चला है। इनकी तलाश में छत्तीसगढ़ पुलिस युद्धस्तर पर जुट गई है। इस गिरोह ने अब तक छत्तीसगढ़, मप्र और महाराष्ट्र सहित 35 शहरों में चोरियां की हैं। इस गिरोह में  नाबालिग बच्चे भी शामिल हैं। सांसी गिरोह ने यहां पहली बार हाल में सेरीखेड़ी के एक बड़े शादी समारोह में चोरी की घटना को अंजाम दिया। यहां से गिरोह दुल्हन के जेवर से भरा बैग ले उड़ा। इसमें 7 लाख के जेवर थे। 

सीसीटीवी के जरिये तलाश कर रही पुलिस...
चोरी की यह घटना सामने आने के बाद पुलिस ने शादियों में पहरेदारी शुरू कर दी है। सादा वर्दी में पुलिसवाले संदिग्ध लोगों पर नजर रखे हुए हैं। सभी शादी समारोह में लगे CCTV कैमरों पर नजर रखी जा रही है। पुलिस को आशंका है कि यह गिरोह एक शहर में एक नहीं, कम से कम 2-3 चोरियां करता है। पड़ताल में सामने आया है कि वर्ष, 2018 में इस गिरोह ने रायपुर में 4 चोरियां की थीं। यह गिरोह एक जगह नहीं रुकता। देशभर में घूम-फिरता रहता है।

मेहमानों की तरह पहुंचते हैं चोर
यह गिरोह मेहमानों की तरह सज-संवरकर, अच्छे कपड़ों में शादी समारोह में जाता है। कुछ देर रुकता है। खाता-पीता है और फिर मौका देखकर कीमती सामान से भरा बैग उठाकर रफूचक्कर हो जाता है। एएसपी तारकेश्वर पटेल ने बताया कि सेरीखेड़ी के विसलिंग वुड में चोरी करने वाले एक युवक का CCTV फुटेज मिला है। इसमें वो नीले रंग के सूट बूट में आया था। वो काफी देर तक बारातियों के बीच बैठा रहा। सबके साथ खाना खाया और फिर मंडप से जेवर का ट्रॉली बैग उठाकर गायब हो गया। चोर बड़े इत्मिनान से बाहर निकल गया।

मप्र में मिलता है यह गिरोह
छत्तीसगढ़ पुलिस की जांच में सामने आया है कि यह गिरोह मप्र के राजगढ़ जिले में मिलता है। सांसी एक जनजाति है। इस गिरोह में नाबालिग बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। कई बार महिलाएं गोद में भी बच्चे लेकर आती हैं। चोरी के दौरान ये एक-दूसरे से बात नहीं करते। रायपुर पुलिस की एक टीम मप्र रवाना हुई है। पुलिस को खबर मिली है कि गिरोह का चोर राजगढ़ का एक बदमाश है। रायपुर पुलिस ने 2018 में सांसी गिरोह के 5 लोगों को पकड़ा था। इसमें एक महिला भी थी। इनसे 4 वारदात का खुलासा हुआ था।

यह भी पढ़ें-

लोगों की मदद करते हुए सोनू सूद कि जिंदगी में आया शॉकिंग चेंज, बहन ने खोला राज़ 

मीनू भटनागर बेवफा है, फ्रेंडशिप करने से पहले 100 बार सोच लेना, वर्ना बहुत पछताओगे

मूंगफली छीलने की टेंशन से यूं मिला छुटकारा, देखिए उल्टी साइकिल का कमाल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios