Asianet News Hindi

सरकार ने 3 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, BCCI के सूत्रों ने बताया फिर टाला जाएगा IPL

 देश में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने 3 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया है। इसके बाद इंडियन प्रीमियर लीग का फिर से टाला जाना तय हो गया है। BCCI से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी। 

Government extends lockdown till May 3, sources in BCCI said IPL will be postponed again kpb
Author
New Delhi, First Published Apr 14, 2020, 2:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने 3 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया है। इसके बाद इंडियन प्रीमियर लीग का फिर से टाला जाना तय हो गया है। BCCI से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी। इससे पहले सरकार ने 14 अप्रैल तक के लिए पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया था। साथ ही सरकार ने 15 अप्रैल तक के लिए विदेशी नागरिकों का वीजा भी रद्द कर दिया था। सरकार के इस फैसले के बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने 15 अप्रैल तक के लिए इस टूर्नामेंट को टाल दिया था। 

क्रिकेट फैंस उम्मीद लगा रहे थे कि यदि 14 अप्रैल तक देश में हालात सुधर जाते हैं तो सरकार ल़कडाउन खत्म कर सकती है या उसमें नरमी बरती जा सकती है और छोटा IPL देखने को मिल सकता है। हालांकि देश के हालातों के देखते हुए अब इसकी कोई उम्मीद नहीं बची है। इसके बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि इस टूर्नामेंट को अनिश्चित काल के लिए टाल दिया गया है। जल्द ही इस बात की आधिकारिक घोषणा भी हो सकती है।

IPL को भूल जाएं- गांगुली

BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा था कि वो देश के हालातों पर नजर बनाए हुए हैं। सभी एयरपोर्ठ बंद हैं। सभी ऑफिस बंद हैं। लोग घरों के अंदर रहने पर मजबूर हैं। कोई विकल्प नहीं बचा है। खिलाड़ियों को कैसे भारत लाया जाएगा, कैसे मैच खेले जाएंगे। दुनियाभर में कहीं भी हालात खेल के लायक नहीं हैं। इसलिए IPL को भूल जाना ही बेहतर होगा। 

क्या हैं विकल्प ?
सरकार के लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ाने के बाद अब BCCI मिनी आईपीएल के बारे में सोच सकती है। इसके अलावा विदेशी खिलाड़ियों को भी इस टूर्नामेंट से बाहर रखकर मैच खेले जा सकते हैं, पर कोई भी टीम ऑनर इसके पक्ष में नहीं हैं। खाली मैदानों पर भी मैच कराए जा सकते हैं, पर इसके लिए भी देश में हालातों का सुधरना जरूरी है, जबकि अब तक लॉकडाउन के बावजूद देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते रहे हैं। 

दिसंबर तक नहीं हो पाएगा टूर्नामेंट
कोरोना वायरस के कहर को दखते हुए ICC ऑस्ट्रेलिया में होने वाले T-20 वर्ल्डकप को भी कैंसिल या स्थगित कर सकता है। यदि ऐसा होता है और तब तक हालात काबू में आ जाते हैं तो आनन फानन में भारतीय क्रिकेट बोर्ड सितंबर के महीने में भी यह टूर्नामेंट करा सकता है। हालांकि, सितंबर के महीने में पहले से ही एशिया कप खेला जाना है और पाकिस्तान की टीम किसी भी सूरत पर एशिया कप की जगह IPL कराने पर राजी नहीं होगी।  जुलाई में भी आईपीएल खेले जाने की बातें हो रही हैं। हालांकि भारत में जुलाई और अगस्त के महीने में जमकर बारिश होती है। ऐसे में यह टूर्नामेंट भारत की बजाय किसी दूसरे देश में कराना होगा। इसकी संभावनाएं भी काफी कम दिखाई देती हैं। इसके बाद अक्टूबर और नवंबर के महीने में T-20 वर्ल्डकप खेला जाना है। 

IPL रद्द हुआ तो 3 हजार करोड़ का नुकसान 

BCCI के एक अधिकारी के मुताबिक अगर इस टूर्नामेंट को रद्द किया जाता है तो 3 हजार करोड़ का नुकसान होगा। इसलिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड इसे अनिश्तितकाल के लिए टाल सकता है, पर इस टूर्नामेंट को रद्द होने से बचाने के लिए हर संभव कोशिशि की जाएगी। इस टूर्नामेंट से भारत की अर्थव्यवस्था में भी असर पड़ेगा। लगभग 2 महीने तक रोजाना मैच होने से विदेशी पर्यटक भी भारत में आते हैं और देश के लोग भी मैच देखने के लिए ट्रवल करते हैं और दूसरी जगहों पर भी घूमते हैं। इसके साथ टूर्नामेंट ना होने पर खिलाड़ियों को बड़ा नुकसान होगा।

खाली स्टेडियम में भी खेलने को तैयार हैं खिलाड़ी  

IPL में सभी 8 टीमों के लिए 64 विदेशी खिलाड़ी खेलते हैं और इनके बिना फ्रेंचाइजी टूर्नामेंट कराने पर राजी नहीं हैं। हालांकि मैक्सवेल और पैट कमिंस जैसे खिलाड़ी खाली मैदानों पर भी मैच खेलने के लिए तैयार हैं। सरकार ने 3 मई तक सभी तरह की इंटरनेशनल उड़ानों पर रोक लगा दी है, इस वजह से 3 मई तक कोई भी विदेशी खिलाड़ी भारत नहीं आ पाएगा। इसके बाद भी हालात सामान्य होने में समय लगेगा और मई के महीने में भी IPL का शुरू होना मुश्किल नजर आ रहा है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios