स्पोर्ट्स डेस्क। खेलों खासकर क्रिकेट पर कोरोना वायरस की महामारी का बुरा असर पड़ा है। कई महत्वपूर्ण सीरीज के बाद अब इस साल अक्टूबर-नवंबर में पहले से निर्धारित टी20 विश्वकप पर अनिश्चितता के बादल मंडराने लगे हैं। रिपोर्ट्स आ रही हैं कि कोरोना की वजह से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) टी20 क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट को लंबे समय के लिए टाल सकता है। 

कहा तो यह भी जा रहा है कि आईसीसी टूर्नामेंट को अगले दो साल यानी 2022 तक टालने का फैसला कर चुकी है जिस पर बोर्ड मेंबर्स की मीटिंग में मुहर भी लग जाएगी। कल यानी 28 मई को आईसीसी बोर्ड मेंबर्स की बैठक होने वाली है। इसी दौरान ऑस्ट्रेलिया में पहले से प्रस्तावित टी20 विश्वकप के टाले जाने की औपचारिक घोषणा की जाएगी। 

क्यों लिया जा रहा यह फैसला?
इसकी दो बड़ी वजहें सामने आ रही हैं। एक तो कोरोना की वजह से उपजे विपरीत हालात में अक्तूबर-नवंबर में टूर्नामेंट ना कराकर आईसीसी किसी भी तरह से कोरोना से होने वाली परेशानी से बचना चाहता है। जो दूसरी वजह सामने आ रही है वो ये कि 2021 के अक्टूबर में पहले से ही भारत में एक टी-20 विश्वकप निर्धारित है। आईसीसी स्पोंसर और आर्थिक वजहों से भी छह महीने के भीतर एक ही फॉर्मेट के दो क्रिकेट विश्वकप कराने के पक्ष में नहीं है। 

स्टार की व्यावसायिक मजबूरी 
स्टार स्पोर्ट्स सूत्रों के हवाले से कुछ रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि अगर अक्टूबर में भारत आईपीएल के मैच करवाता है तो 6 महीने बाद ही 2021 में भी आईपीएल का सीजन आएगा। इस वजह से छह महीने के अंदर तीन बड़े टूर्नामेंट को प्रसारित करना बेहद मुश्किल चुनौती है। वह भी उस स्थिति में जब कोरोना की वजह से दुनियाभर के मार्केट में भयानक सुस्ती छाई हुई है। इन्हीं चीजों के मद्देनजर टी20 विश्वकप रद्द नहीं बल्कि स्थगित किया जा रहा है। 2022 में आईसीसी के लिए अच्छी बात यह है कि क्रिकेट कैलेंडर में क्रिकेट का कोई भी बड़ा वर्ल्ड इवेंट नहीं है। प्रसारण के राइट्स स्टार के पास हैं। 

बीसीसीआई का सपोर्ट 
28 मई को बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली आईसीसी की मीटिंग में शामिल हो रहे हैं। संभावना है कि वो मौजूदा योजना का समर्थन करेंगे। भारत 2021 में टी-20 विश्व कप की मेजबानी के बाद 2023 में 50 ओवरों के विश्वकप की भी मेजबानी करेगा। अब देखना यह है कि कोरोना से उपजे विपरीत हालात के बाद आईसीसी की मीटिंग में आने वाले दिनों और क्रिकेट टूर्नामेंट्स को लेकर क्या फैसले किए जाते हैं।