Asianet News HindiAsianet News Hindi

रांची टेस्ट में भारत ने 497 रन पर घोषित की पारी, दूसरे दिन बने ये 6 रिकॉर्ड

रोहित शर्मा के टेस्ट क्रिकेट में पहले दोहरे शतक के बाद भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और अंतिम मैच के दूसरे दिन रविवार को यहां अपनी पहली पारी 497 रन बनाकर 9 विकेट पर घोषित की। भारतीय पारी समाप्त होने के फैसले के बाद ही दूसरे दिन चाय का विश्राम ले लिया गया।

India declared on 497 runs in Ranchi Test, these 6 records made on second day
Author
Ranchi, First Published Oct 20, 2019, 4:58 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची. रोहित शर्मा के टेस्ट क्रिकेट में पहले दोहरे शतक के बाद भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और अंतिम मैच के दूसरे दिन रविवार को यहां अपनी पहली पारी 497 रन बनाकर 9 विकेट पर घोषित की। भारतीय पारी समाप्त होने के फैसले के बाद ही दूसरे दिन चाय का विश्राम ले लिया गया। तब तक हालांकि मैच में भारत का पलड़ा भारी हो गया था। वहीं साउथ अफ्रीका की पारी शुरू होते ही भारत ने 2 विकेट चटका लिए और दिन का खेल समाप्त होने तक अफ्रीका का स्कोर 2 विकेट पर 9 रन था।

रोहित ने अपने नाम किए कई रिकॉर्ड  
इस श्रृंखला में पहली बार सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरे रोहित ने सुबह 117 रन से अपनी पारी आगे बढ़ायी और 255 गेंदों का सामना करके 212 रन बनाये जिसमें 28 चौके और छह छक्के शामिल हैं। एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 264 रन के विश्व रिकार्ड के साथ तीन दोहरे शतक लगाने वाले रोहित लंच के समय 199 रन पर खेल रहे थे। इसके बाद उन्होंने लुंगी एनगिडी की गेंद पर छक्के से दोहरा शतक पूरा किया। वह छक्के से दोहरा शतक पूरा करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गये हैं। साथ ही घरेलू मैदानों में सर्वश्रेष्ठ औसत के मामने में रोहित ने डॉन ब्रैडमैन को पीछे छोड़ते हुए 99.84 का औसत हासिल कर लिया है। डॉन ब्रैडमैन का घरेलू मैदानों में 98.22 का औसत है। इसके अलावा रोहित एक सीरीज में 19 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं, उन्होंने वेस्टइंडीज के सिमरन हेटमेयर का रिकॉर्ड तोड़ा। रोहित टेस्ट और वनडे दोनों फॉर्मेट में दोहरा शतक लगाने वाले चौथे बल्लेबाज भी बने।

रहाणे का शतक, जड़ेजा का पचासा   
रोहित की शानदार पारी अजिंक्य रहाणे (115) के बेहतरीन प्रयास पर हावी हो गयी। उन्होंने घरेलू सरजमीं पर पिछले तीन साल में अपना पहला और कुल 11वां टेस्ट शतक लगाया। उन्होंने अपनी पारी में 192 गेंदें खेली तथा 17 चौके और एक छक्का लगाया। रविंद्र जडेजा (51) ने छठे नंबर के साथ पूरा न्याय करके अर्धशतक पूरा किया जबकि अंतिम क्षणों में उमेश यादव ने छक्कों की झड़ी लगायी और दस गेंदों पर पांच छक्कों की मदद से 31 रन बनाये।

रोहित-रहाणे की रिकॉर्ड साधेदारी  
मुंबई की जोड़ी रोहित और रहाणे ने चार घंटे से अधिक समय क्रीज पर बिताया और इस बीच चौथे विकेट के लिये रिकार्ड 267 रन की भागीदारी की। इन दोनों ने अच्छे रन रेट से रन बनाये जिससे पहले दिन की बारिश के व्यवधान का भारतीय प्रगति पर खास प्रभाव नहीं पड़ा। पहले दिन केवल 58 ओवर का खेल हो पाया था। रहाणे को 105 रन के निजी योग पर हेनरिक क्लासेन ने जीवनदान दिया। क्लासेन ने हालांकि इसके बाद अच्छा कैच लेकर इसमें सुधार किया और अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे जार्ज लिंडे को पहला टेस्ट विकेट भी दिलाया।

रबादा ने पूरे किए 250 विकेट 
इसके बाद जडेजा ने अच्छी भूमिका निभायी। भारतीय बल्लेबाजों के लिये तेजी से रन बनाने के साफ निर्देश पहुंच गये थे और रोहित दूसरे सत्र में 15 मिनट से भी कम समय क्रीज पर रहे। उन्होंने कैगिसो रबाडा की गेंद पर फाइन लेग बाउंड्री पर कैच दिया। रबाडा का यह प्रथम श्रेणी मैचों में 250वां विकेट था।

जडेजा और ऋद्धिमान साहा (24) के आउट होने के बाद उमेश ने जलवा दिखाया। रविचंद्रन अश्विन ने 14 रन बनाये। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे जार्ज लिंडे सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 133 रन देकर चार विकेट लिये। रबाडा ने 85 रन देकर तीन विकेट हासिल किये।

(यह खबर न्यूज एजेंसी पीटीआई भाषा की है। एशियानेट हिंदी की टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios