Asianet News Hindi

भारत के लिए 420 विकेट लेने वाले इस खिलाड़ी ने लिया संन्यास, सौरव गांगुली ने लोगों से लड़कर कराया था डेब्यू

भारतीय गेंदबाज अशोक डिंडा ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। भारत के लिए 13 वनडे और 9 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेलने वाले 36 साल के डिंडा ने हाल ही सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में गोवा के लिए 3 मैच खेले थे। उन्होंने अबतक कुल 116 फर्स्ट क्लास मैचों में 420 विकेट हासिल किए हैं।

Indian bowler Ashok Dinda Announces Retirement From All Forms Of Cricket dva
Author
Kolkata, First Published Feb 3, 2021, 9:42 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय गेंदबाज अशोक डिंडा (Ashok Dinda) ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। भारत के लिए 13 वनडे और 9 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेलने वाले 36 साल के डिंडा ने हाल ही सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में गोवा के लिए 3 मैच खेले थे। इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि उनका शरीर साथ नहीं दे रहा है। इसके बाद मंगलवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहा हूं। मैंने बीसीसीआई और गोवा क्रिकेट संघ को इस संबंध में ई-मेल भेज दिया है।'

ऐसा रहा डिंडा का इंटरनेशनल करियर
मई 2010 में अपना वनडे डेब्यू करने वाले डिंडा ने भारतीय क्रिकेट के लिए 13 वनडे और 9 टी20 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने क्रमश: 13 और 9 विकेट लिए। इतना ही नहीं बल्ले से भी वनडे में 612 और टी20 में 254 रन बनाए हैं। घरेलू क्रिकेट में बंगाल (Bengal) के इस तेज गेंदबाज से हर कोई कांपता हैं। उन्होंने अबतक कुल 116 फर्स्ट क्लास मैचों में 420 विकेट हासिल किए हैं।

आईपीएल में भी खेल चुके हैं अशोक डिंडा
भारतीय टीम के ये पेसर (Indian bowler) इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में दिल्ली डेयरडेविल्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, पुणे वॉरियर्स, राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए भी खेल चुके हैं। इस खिलाड़ी के आईपीएल करियर की बात की जाएं, तो आईपीएल का 78 पारियों में डिंडा ने 75 विकेट और 2073 रन लिए हैं।

बीसीसीआई अध्यक्ष का किया शुक्रिया अदा
डिंडा ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली को धन्यवाद देते हुए कहा कि 'भारत के पूर्व कप्तान ने हमेशा उनका समर्थन किया।' बता दें कि गांगुली ने साल 2005-06 में लोगों के खिलाफ जाकर पुणे में महाराष्ट्र के खिलाफ इस तेज गेंदबाज को डेब्यू का मौका दिया था। उन्होंने कहा कि 'भारत के लिए खेलना हर किसी का उद्देश्य होता हैं, मैंने बंगाल के लिए खेला इसलिए मुझे भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। मुझे भारत के लिए खेलने का मौका देने के लिए मैं बीसीसीआई का शुक्रिया अदा करता हूं। दीप दास गुप्ता, रोहन गावस्कर जैसे वरिष्ठ खिलाड़ियों ने मेरा मार्गदर्शन किया।'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios