Asianet News Hindi

इरफान पठान का खुलासा, शोएब अख्तर ने मुझे दी थी उठवा लेने की धमकी; धोनी से इस बात के लिए नाराजागी

शोएब अख्तर से जुड़ा वाकया पाकिस्तान टूर के दौरान फैसलाबाद टेस्ट का है। ये मैच ड्रा पर छूटा था। महेंद्र सिंह धोनी ने 153 गेंदों पर 19 चौके व 4 छक्कों के साथ 148 रन और इरफान ने 90 रन बनाए थे। 

Irrfan Pathan s disclosure Shoaib Akhtar threatened in Pakistan tour
Author
New Delhi, First Published May 31, 2020, 5:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क। कुछ साल पहले टीम इंडिया के दिग्गज ऑल राउंडर में शुमार इरफान पठान ने एक इंटरव्यू में कई खुलासे किए हैं। उन्होंने बताया कि एक बार पाकिस्तान के दिग्गज पेसर शोएब अख्तर ने उठवा लेने तक की धमकी दी थी। इतना ही नहीं टीम इंडिया में कमबैक नहीं होने को लेकर भी इरफान ने तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आरोप भी लगाए। 

एक यूट्यूब चैनल के साथ बातचीत में इरफान पठान ने 2006 में पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज का जिक्र किया। 2006 में भारत और पाकिस्तान के बीच खेली गई तीन मैचों की सीरीज में भारत को 1-0 से हार मिली थी। मुल्तान और फैसलाबाद में खेले गए दो मैच बराबरी पर खत्म हुए थे जबकि तीसरा टेस्ट पाकिस्तान ने जीत लिया था। 

 

 

बाउंसर पर बाउंसर डाल रहे थे शोएब 
उस मैच में शोएब अख्तर ने कई बाउंसर डाले थे। उन्होंने सचिन को भी एक बाउंसर पर आउट किया था। इरफान ने कहा, "हमने (धोनी के साथ) शोएब अख्तर को स्लेज करने की योजना बनाई थी। मैंने धोनी से कहा कि मैं शोएब को कुछ बोलूंगा और आप कुछ मत करना सिर्फ उस बात पर हंसना। मैं शोएब के पहुंचा और कहा कि क्या तुम अपने इस स्पेल में भी उसी तरह की जान लगा पाओगे।" 

धोनी के साथ की रिकॉर्ड साझेदारी 
इरफान ने बताया, "मेरे इतना कहने पर अख्तर नाराज हो गए और बोले कि बहुत ज्यादा बोल रहे हो। मैं तुमको यहां से उठवा लूंगा। मैंने कहा कि मैं भी पठान हूं और आप ऐसी बात नहीं कर सकते।" फैसलाबाद टेस्ट में पठान और धोनी ने छठे विकेट के लिए 210 रनों की रिकॉर्ड पार्टनरशिप की थी। धोनी ने 153 गेंदों पर 19 चौके व 4 छक्कों के साथ 148 रन और इरफान ने 90 रन बनाए थे। इस मैच का कोई नतीजा नहीं निकल पाया था। 

 

 

धोनी को ठहराया जिम्मेदार 
इरफान ने अपने करियर और टीम इंडिया में वापसी को लेकर भी बातें कीं। इशारों-इशारों में उन्होंने धोनी को जिम्मेदार ठहराया। एक सवाल के जवाब में कहा कि दूसरे खिलाड़ियों की तरह उन्हें सपोर्ट नहीं मिला। रिद्धिमान साहा और ऋषभ पंत का उदाहरण देते हुए संकेतों में इरफान ने कहा, "कई बार किसी क्रिकेटर को बहुत सपोर्ट किया जाता है। कोई भाग्यशाली होता है और कोई दुर्भाग्यशाली। मैं दूसरी वाली लिस्ट में हूं।"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios