मुंबई. भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत को महेंद्र सिंह धोनी के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है। हालांकि, दिल्ली के इस बल्लेबाज से जब धोनी से तुलना का सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह सबसे मुश्किल सवाल है। उन्होंने कहा कि कोई भी रातों-रात धोनी नहीं बन सकता। 

बॉम्बे टाइम्स से बातचीत में पंत ने कहा कि मैं धोनी से तुलना के बारे में नहीं सोचता। मैं उनसे सीख रहा हूं। कोई भी खिलाड़ी एक रात में उनकी लीग में शामिल नहीं हो सकता। मैं धोनी को अपना मेंटॉर मानता हूं और उन्होंने खेल से जुड़ी कई बारिकियों को समझाया है।

हमेशा धोनी से सीखने की कोशिश करता हूं- पंत
पंत ने बताया कि वे हमेशा धोनी से सीखने की कोशिश करते हैं। अपना माइंडसेट भी धोनी की तरह करना चाहते हैं। वे दबाव में भी शांत रहकर बल्लेबाजी करने की कला सीखना चाहते हैं। पंत ने कहा- मैं नहीं सोचता कि उनकी तरह खेलूं। मैं बस अपनी क्षमताओं से टीम को जीत दिलाने के इरादे से खेलता हूं। 

टीम में सिलेक्शन को लेकर उन्होंने कहा कि किसी खिलाड़ी को जल्दी मौका मिलने का ये मतलब नहीं होता कि उसे ये मुफ्त में मिली हो। मैंने भी इसके लिए कड़ी मेहनत की है। तभी टीम में जगह मिली, किसी ने ये मुझे गिफ्ट में नहीं दी। उन्होंने कहा, ''कोई ऐसा नहीं कहता भाई टीम में आ जा। ऐसा नहीं होता है।''

पंत का करियर 
रिषभ पंत ने टीम इंडिया के लिए अब तक 11 टेस्ट, 12 वनडे और 18 टी-20 मैच खेले हैं। टेस्ट में उन्होंने 44.35 के औसत से 1065, वनडे में 22.9 की औसत से 237 जबकि टी-20 में 21.57 की औसत से 242 रन बनाए हैं। टेस्ट में 2 शतक भी जड़े हैं।