Asianet News Hindi

करियर की शुरुआत में वसीम अकरम से बात भी नहीं कर पाते थे शमी, बाद में इसी दिग्गज ने संवारा करियर

शमी ने तिवारी के साथ चैट में कहा कि जब वो बड़े हो रहे थे तब भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच कांटे की टक्कर हुआ करती थी। सचिन और सहवाग के जोड़ी भारत की बैटिंग के दौरान सबको पसंद थी, जबकि गेंदबाजी के दौरान जहीर खान और वसीम अकरम को देखने में मजा आता था। 

Shami could not even talk to Wasim Akram at the beginning of his career, later this same veteran made his career kpb
Author
New Delhi, First Published Apr 22, 2020, 1:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में खेल से जुड़े इवेंट कैंसिल हे चुके हैं और अधिकतर खिलाड़ी अपने घर के अंदर कैद हो चुके हैं। इस वजह से अधिकतर खिलाड़ी अपना समय सोशल मीडिया पर बिता रहे हैं और फैंस से जुड़े रहने की कोशिश कर रहे हैं। कई खिलाड़ी अपने साथियों के साथ लाइव चैट कर रहे हैं तो कुछ खिलाड़ी मजेदार वीडियो बनाकर अफने फैंस का मनोरंजन कर रहे हैं। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने हाल ही में भारतीय बल्लेबाज मनोज तिवारी के साथ लाइव चैट की। इस दौरान उन्होंने बताया कि जहीर खान और वसीम अकरम ने उनके करियर को संवारने में अहम भूमिका निभाई है। 

शमी ने तिवारी के साथ चैट में कहा कि जब वो बड़े हो रहे थे तब भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच कांटे की टक्कर हुआ करती थी। सचिन और सहवाग के जोड़ी भारत की बैटिंग के दौरान सबको पसंद थी, जबकि गेंदबाजी के दौरान जहीर खान और वसीम अकरम को देखने में मजा आता था। शमी उस दौरान दोनों गेंदबाजों को देखते थे। दोनों ही बाएं हाथ के तेज गेंदबाज थे। 

अकरम से बात भी नहीं कर पाते थे शमी  
शमी ने इस चैट में बताया कि जब वो कोलकाता नाइटराईडर्स की टीम में पहुंचे तो उन्हें क्रिकेट से जुड़े स्किल और वैल्यू का पता चला। उन्होंने वसीम अकरम को पूरी जिंदगी टीवी पर देखा था और केकेआर के कैंप में उनसे मिलने पर शमी बात भी नहीं कर पाते थे। हालांकी वसीम ने खुद बातचीत शुरू की और बहुत ही कम समय में शमी की खामियां और खूबियां पता लगा ली। इसके बाद शमी ने उनसे शर्माना छोड़ सीखना शुरू किया उनका संवरता गया।

दिल्ली में साथ खेले हैं शमी और जहीर 
शमी को अपने दूसरे पसंदीदा गेंदबाज जहीर खान के साथ भी खेलने का मौका मिला। हालांकि दोनों लंबे समय तक साथ नहीं खेल सके पर कम समय में ही शमी ने उनसे काफी कुछ सीखा। शमी का कहना है कि वो जहीर से नई गेंद के साथ गेंदबाजी करना सीखना चाहते थे, पर उन्हें इसका मौका नहीं मिला।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios