Asianet News Hindi

शमी के घर के बाहर भूख से तड़प रहा था मजदूर, फरिश्ता बनकर तेज गेंदबाज ने बचाई गरीब की जान

कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में जारी है। अब तक 210 देशों में यह महामारी फैल चुकी है। भारत में भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, जिसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया है। 

The worker was suffering from hunger outside Shami's house, the fast bowler saved the life of the poor kpb
Author
New Delhi, First Published Apr 15, 2020, 7:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में जारी है। अब तक 210 देशों में यह महामारी फैल चुकी है। भारत में भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, जिसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया है। लॉकडाउन के कारण कई दिहाड़ी मजदूर अपने घरों से दूर दूसरे शहरों और राज्यों में फंस गए हैं। लॉकडाउन के चलते इनका काम काज भी ठप है और ये अपने घर से भी दूर हैं। इनके पास ना तो घर लौटने का साधन है और ना ही खाने के पैसे। ऐसा ही एक मजदूर राजस्थान से अपने घर वापस लौट रहा था, जो शमी के घर के पास बेहोश होकर गिर गया था। 

सीसीटीवी पर वीडियो देखकर की मदद 
शमी ने बताया कि यह व्यक्ति राजस्थान से आ रहा था और इसे बिहार जाना था। उसके पास कोई साधन नहीं था। उन्होंने अपने घर के सीसीटीवी में देखा कि वह उनके घर के सामने आकर बेहोश हो गया है, जिसके बाद उन्होंने उसे खाना खिलाया। शमी का घर हाइवे के पास है, इसलिए अक्सर लोग उनके पास मदद के लिए आते रहते हैं। उन्हें यह भी पता है कि लोग कैसी मुश्किलों में फंस जाते हैं। इसलिए वो हर व्यक्ति की मदद करते रहते हैं।  

किचन में मां की मदद कर रहे शमी 
युजवेन्द्र चहल के साथ इंस्टाग्राम में लाइव चैट के दौरान शमी ने इस घटना के बारे में बताया। इस दौरान उन्होंने अपने जीवन से जुड़ी कई और बातें भी बताई। उन्होंने बताया कि वो फिलहाल खाना बनाने में अपनी मां की मदद कर रहे हैं और उन्हें उम्मीद है कि वो जल्द ही खाना बनाना भी सीख लेंगे। इसके अलावा उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट मैच को शानदार लम्हा बताया। इस मैच में उन्होंने कुल 9 विकेट निकाले थे। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios