स्पोर्ट्स डेस्क। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को रन मशीन भी कहा जाए तो कम नहीं होगा। कोहली ने अपने अब तक के करियर में क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट से अपनी बल्लेबाजी इसे साबित भी किया है। मैच दर मैच रन बनाने के मामले में वो बड़े रिकॉर्ड की ओर बढ़ भी रहे हैं। उन्होंने धोनी के बाद मिली कप्तानी की भूमिका को भी अब तक बखूबी निभाया है। कोहली ने अपने कप्तानी करियर के सबसे यादगार मैच की बात की है। उन्होंने यह भी बताया कि उनके लिए ये मैच हमेशा क्यों यादगार बना रहेगा। 

टेस्ट मैचों में कोहली की कप्तानी का डेब्यू 2014 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हुआ था। कोहली ने एडिलेड टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़े थे। सीरीज में कोहली ने बल्लेबाज के तौर पर 692 रन भी बनाए थे। उनके लिए ये मैच सबसे बड़े सबक की तरह भी है। कप्तान इसे खास दर्जा देते हैं। 

क्या लिखा कोहली ने?
एक इंस्टाग्राम पोस्ट में कोहली ने लिखा, "यह यादगार और महत्वपूर्ण टेस्ट मैच रहा, जब हमने टेस्ट टीम के रूप में हमारी यात्रा की शुरुआत की। एडिलेड दोनों तरफ की भावनाओं से भरा एक खेल था और दर्शकों के लिए भी यह एक अद्भुत टेस्ट मैच था। हालांकि बहुत करीब आकर भी हम इस मैच को जीत नहीं पाए थे।"

सचिन का तोड़ सकते हैं रिकॉर्ड 
कोहली के मुताबिक इस मैच ने हमें सबक दिया कि यदि हम दिमाग लगाते हैं तो कुछ भी असंभव नहीं है। कप्तान ने कहा, "एडिलेड टेस्ट एक टेस्ट टीम के रूप में हमारी यात्रा में मील का पत्थर रहेगा।" विराट कोहली की उम्र 31 साल है। माना जाता है कि कोहली ही दुनिया के वो बल्लेबाज हैं जो सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड्स को तोड़ सकते हैं। 

अब तक 70 शतक लगा चुके हैं कोहली 
कोहली ने अबतक 86 टेस्ट, 248 वनडे और टी 2- इंटरनेशन के 81 मैच खेले हैं। कोहली ने 27 शतक और 7 दोहरे शतकों के साथ अब तक 7240 रन बनाए हैं। जबकि 43 शतकों के साथ वनडे में 11867 रन बना चुके हैं। दोनों फॉर्मेट में अबतक 70 शतक लगा चुके हैं। टेस्ट और वनडे में सचिन के नाम सर्वाधिक रन और 100 शतक बनाने का रिकॉर्ड है।