नई दिल्ली. वेस्टइंडीज की क्रिकेट टीम तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए इंग्लैंड रवाना हो गई। इससे पहले पूरी टीम का कोविड-19 परीक्षण करवाया गया था, जिसमें सभी की रिपोर्ट ‘नेगेटिव’ आई थी। सोमवार को वेस्टइंडीज के विभिन्न द्वीपों से खिलाड़ियों को दो विमानों से लाया गया और फिर वे विशेष विमान से इंग्लैंड के मैनचेस्टर के लिए रवाना हुए।

वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने बयान में कहा कि मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड पहुंचने पर पूरी टीम अलग-थलग कर दी जाएगी ओर उनका फिर से कोविड-19 के लिए परीक्षण किया जाएगा। इसके साथ ही टीम का सात सप्ताह का दौरा भी शुरू हो जाएगा जहां उन्हें जैव सुरक्षित वातावरण में रहना होगा।

सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा

इस दौरान खिलाड़ियों को सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। तीनों टेस्ट मैच 21 दिन के अंदर खाली स्टेडियमों में खेले जाएंगे। पहला टेस्ट आठ जुलाई से साउथम्पटन में खेला जाएगा। दूसरा (16 से 20 जुलाई) और तीसरा (24 से 28 जुलाई) टेस्ट मैच ओल्ड ट्रैफर्ड में खेले जाएंगे। इन स्थलों का चयन इसलिए किया गया है कि क्योंकि इनमें स्टेडियम के अंदर या उसके पास में होटल है और इनमें जैव सुरक्षित वातावरण तैयार किया जा सकता है।

कोरोना वायरस महामारी से टल गया था दौरा

वेस्टइंडीज को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मई और जून में इंग्लैंड का दौरा करना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था। कप्तान जेसन होल्डर ने कहा, ‘हम सीरीज के लिए इंग्लैंड जा रहे हैं और यह खेलों विशेषकर क्रिकेट के लिए यह बहुत बड़ा कदम है।’

वेस्टइंडीज की टेस्ट टीम

जेसन होल्डर (कप्तान), जर्मेन ब्लैकवुड, नक्रुमा बोनर, क्रैग ब्रैथवेट, शमर ब्रूक्स, जॉन कैंपबेल, रोस्टन चेज, रहकीम कॉर्नवाल, शेन डाउरिच, केमार होल्डर, शाई होप, अल्जारी जोसेफ, रेमन रीफर और केमार रोच।

रिजर्व खिलाड़ी : सुनील अंबरीस, जोशुआ डासिल्वा, शैनन गेब्रियल, कीन हार्डिंग, काइल मेयर, प्रेस्टन मैकस्वीन, मार्क्विनो मिंडले, शाइनी मोसले, एंडरसन फिलिप, ओशेन थॉमस और जोमेल वार्रिकान।