Asianet News Hindi

आखिर क्या है ये Fastag जिसके बिना ड्राइविंग है मुश्किल? घर बैठे यूं मंगवाए अपना स्टीकर, लगेंगे इतने पैसे

First Published Feb 15, 2021, 12:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क: भारत में पिछले साल से एक शब्द जो आपने कई  बार सुना होगा, वो है Fastag. 15 फरवरी से जिस कार के ऊपर फास्टैग नहीं लगा होगा उसके लिए मुसीबत है। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने 15 फरवरी से हर गाड़ी में फास्टैग लगवाना  अनिवार्य कर दिया है। इससे पहले इसकी डेडलाइन 15 दिसम्बर थी। अब अगर आप ड्राइव करते हुए बिना फास्टैग के टोल प्लाजा में जाएंगे तो आपको दोगुना टोल चुकाना होगा। फास्टैग को टोल प्लाजा में अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसा कैश ट्रांजेक्शन घटाने और प्लाजा में वेटिंग टाइम को खत्म करने के लिए किया गया है। कई लोग इसे लेकर परेशान है कि आखिर फास्टैग को कैसे ख़रीदा जाए? आपको बता दें कि ये काफी आसान है। हम आपको फास्टैग खरीदने की जगह और तरीका बताने जा रहे हैं। साथ ही साथ इसके लिए आपको कितनी कीमत चुकानी है, इसकी भी जानकारी देने जा रहे हैं... 

 फास्टैग को लेकर परेशान होने की जगह पहले आप समझें ये क्या है? फास्टैग असल में एक स्टिकर है, जिसे आपकी कार के विंडस्क्रीन पर लगाना है। ये अंदर की तरफ चिपका होगा, जिसमें डिवाइस रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। ये टोल प्लाजा में लगे स्कैनर से कनेक्ट होता है। 

 फास्टैग को लेकर परेशान होने की जगह पहले आप समझें ये क्या है? फास्टैग असल में एक स्टिकर है, जिसे आपकी कार के विंडस्क्रीन पर लगाना है। ये अंदर की तरफ चिपका होगा, जिसमें डिवाइस रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। ये टोल प्लाजा में लगे स्कैनर से कनेक्ट होता है। 


जैसे ही आप इस स्कैनर से गुजरेंगे, आपके फास्टैग के स्टिकर और कोड से जुड़े बैंक खाते से अपने आप पैसे कट जाएंगे। इसके लिए आपको वहां रुककर कैश देने और रशीद लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी। जब भी आप किसी टोल से क्रॉस करेंगे पैसे अपने आप कट जाएंगे। 
 


जैसे ही आप इस स्कैनर से गुजरेंगे, आपके फास्टैग के स्टिकर और कोड से जुड़े बैंक खाते से अपने आप पैसे कट जाएंगे। इसके लिए आपको वहां रुककर कैश देने और रशीद लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी। जब भी आप किसी टोल से क्रॉस करेंगे पैसे अपने आप कट जाएंगे। 
 

अगर आप बिना फास्टैग के 15 फरवरी से टोल क्रॉस करेंगे तो आपसे जुर्माना वसूला जाएगा। सबसे पहले तो आपको मार्शल लेन में घुसने नहीं दिया जाएगा। अगर गलती से आपने कार घुसा ली, तो आपसे जितना टोल अमाउंट है, उसका दोगुना कैश लिया जाएगा। अब आपके मन में सवाल उठेगा कि अगर हम टोल बूथ से फास्टैग लेने गए तो एक बार तो हमें दोगुना टोल देना ही पड़ेगा। लेकिन ऐसा नहीं है। बूथ पर फास्टैग का काउंटर लेन से पहले ही है। आपको वहीं टैग लगवा लेना है। जुर्माना तब देना होगा जब आप बिना स्टिकर के लेन में घुस जाएंगे। 

अगर आप बिना फास्टैग के 15 फरवरी से टोल क्रॉस करेंगे तो आपसे जुर्माना वसूला जाएगा। सबसे पहले तो आपको मार्शल लेन में घुसने नहीं दिया जाएगा। अगर गलती से आपने कार घुसा ली, तो आपसे जितना टोल अमाउंट है, उसका दोगुना कैश लिया जाएगा। अब आपके मन में सवाल उठेगा कि अगर हम टोल बूथ से फास्टैग लेने गए तो एक बार तो हमें दोगुना टोल देना ही पड़ेगा। लेकिन ऐसा नहीं है। बूथ पर फास्टैग का काउंटर लेन से पहले ही है। आपको वहीं टैग लगवा लेना है। जुर्माना तब देना होगा जब आप बिना स्टिकर के लेन में घुस जाएंगे। 

अब बताते हैं कि आप फास्टैग कहां से खरीद सकते हैं? फास्टैग खरीदने के लिए आपको आपके गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के डॉक्युमेंट्स चाहिए होंगे। इसके बाद आप इसे देशभर के किसी भी टोल बूथ से खरीद सकते हैं। वो आपकी गाड़ी के विंडस्क्रीन में टैग लगा देंगे। 

अब बताते हैं कि आप फास्टैग कहां से खरीद सकते हैं? फास्टैग खरीदने के लिए आपको आपके गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के डॉक्युमेंट्स चाहिए होंगे। इसके बाद आप इसे देशभर के किसी भी टोल बूथ से खरीद सकते हैं। वो आपकी गाड़ी के विंडस्क्रीन में टैग लगा देंगे। 

टोल बूथ के अलावा आप फास्टैग को बैंक से भी खरीद सकते हैं। आप स्टेट बैंक, HDFC सहित पूरे देश के करीब 22 बैंकों से फास्टैग स्टिकर्स खरीद सकते हैं। इसके लिए आपको शाखा में जाना होगा। वहां फास्टैग के लिए अलग से काउंटर्स बनाए गए हैं जहां भुगतान कर आप स्टिकर खरीद सकते हैं। 

फास्टैग जारी करने वाले सभी बैंक की सूची ये रही... 
ICICI बैंक, एक्सिस बैंक, IDFC बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, HDFC बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, KVB, फिनो पेमेंट्स बैंक, यस बैंक, नागपुर नागरिक सहकारी बैंक, कोटक महिन्द्रा बैंक, सिंडीकेट बैंक, फेडरल बैंक, साउथ इंडियन बैंक, इंडसइंड बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, सारस्वत बैंक, PMC बैंक, Paytm पेमेंट्स बैंक, PNB, इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक, सिटी यूनियन बैंक, एयरटेल पेमेंट्स बैंक। 

टोल बूथ के अलावा आप फास्टैग को बैंक से भी खरीद सकते हैं। आप स्टेट बैंक, HDFC सहित पूरे देश के करीब 22 बैंकों से फास्टैग स्टिकर्स खरीद सकते हैं। इसके लिए आपको शाखा में जाना होगा। वहां फास्टैग के लिए अलग से काउंटर्स बनाए गए हैं जहां भुगतान कर आप स्टिकर खरीद सकते हैं। 

फास्टैग जारी करने वाले सभी बैंक की सूची ये रही... 
ICICI बैंक, एक्सिस बैंक, IDFC बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, HDFC बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, KVB, फिनो पेमेंट्स बैंक, यस बैंक, नागपुर नागरिक सहकारी बैंक, कोटक महिन्द्रा बैंक, सिंडीकेट बैंक, फेडरल बैंक, साउथ इंडियन बैंक, इंडसइंड बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, सारस्वत बैंक, PMC बैंक, Paytm पेमेंट्स बैंक, PNB, इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक, सिटी यूनियन बैंक, एयरटेल पेमेंट्स बैंक। 

तीसरा और सबसे आसान तरीका है ऑनलाइन। आप घर बैठे भी अपना फास्टैग मंगवा सकते हैं। पेटीएम, अमेज़ॉन और फ्लिपकार्ट जैसे ऐप्स पर भी फास्टैग की सेल की जा रही है। ये सबसे आसान तरीका भी है। आपको कहीं जाना नहीं होगा। घर बैठे ही आप अपना स्टिकर मंगवा सकते हैं।  

ऑनलाइन मंगवाने की प्रॉसेस क्या होगी, जैसे क्या हमें ऑनलाइन मंगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन की डिटेल्स भरनी होगी। और जरूरी फॉर्मेलिटी क्या होगी?

अगर आप ऑफलाइन फास्टैग खरीद रहे हैं तो इसके लिए आपको कार का पंजीकरण, प्रमाण पत्र, पते का प्रमाण, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट-आकार की फोटो चाहिए होगी। इनके अलावा विधिवत भरा हुआ और साइन किया हुआ FASTag एप्लिकेशन फॉर्म आपको जमा करना होगा। सभी ब्योरे देने के बाद बैंक फास्टैग प्रदान करेगा जिसे आपको अपने वाहन की विंडस्क्रीन पर लगाना होगा। 

तीसरा और सबसे आसान तरीका है ऑनलाइन। आप घर बैठे भी अपना फास्टैग मंगवा सकते हैं। पेटीएम, अमेज़ॉन और फ्लिपकार्ट जैसे ऐप्स पर भी फास्टैग की सेल की जा रही है। ये सबसे आसान तरीका भी है। आपको कहीं जाना नहीं होगा। घर बैठे ही आप अपना स्टिकर मंगवा सकते हैं।  

ऑनलाइन मंगवाने की प्रॉसेस क्या होगी, जैसे क्या हमें ऑनलाइन मंगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन की डिटेल्स भरनी होगी। और जरूरी फॉर्मेलिटी क्या होगी?

अगर आप ऑफलाइन फास्टैग खरीद रहे हैं तो इसके लिए आपको कार का पंजीकरण, प्रमाण पत्र, पते का प्रमाण, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट-आकार की फोटो चाहिए होगी। इनके अलावा विधिवत भरा हुआ और साइन किया हुआ FASTag एप्लिकेशन फॉर्म आपको जमा करना होगा। सभी ब्योरे देने के बाद बैंक फास्टैग प्रदान करेगा जिसे आपको अपने वाहन की विंडस्क्रीन पर लगाना होगा। 

बात अगर फास्टैग के कीमत की करें, तो ये डिपेंड करता है कि आप इसे खरीद कहां से रहे हैं? साथ ही आप अपनी किस गाड़ी के लिए फास्टैग ले रहे हैं? अगर आप कार के लिए खरीद रहे हैं, तो उसका अलग अमाउंट है। जीप, वैन, बस, ट्रक आदि के लिए दूसरा अमाउंट देना पड़ सकता है।  

बात अगर फास्टैग के कीमत की करें, तो ये डिपेंड करता है कि आप इसे खरीद कहां से रहे हैं? साथ ही आप अपनी किस गाड़ी के लिए फास्टैग ले रहे हैं? अगर आप कार के लिए खरीद रहे हैं, तो उसका अलग अमाउंट है। जीप, वैन, बस, ट्रक आदि के लिए दूसरा अमाउंट देना पड़ सकता है।  

पहली बार फास्टैग खरीदने के लिए आपको सौ रूपये देने ही होंगे। इसके अलावा अलग-अलग बैंक अपने चार्जेस को इसमें जोड़कर आपसे पैसे मांगेगा। इसके साथ जुड़ेगा सिक्युरिटी अमाउंट। ये अमाउंट अलग -अलग वाहन के लिए अलग है। 

पहली बार फास्टैग खरीदने के लिए आपको सौ रूपये देने ही होंगे। इसके अलावा अलग-अलग बैंक अपने चार्जेस को इसमें जोड़कर आपसे पैसे मांगेगा। इसके साथ जुड़ेगा सिक्युरिटी अमाउंट। ये अमाउंट अलग -अलग वाहन के लिए अलग है। 

*कार, जीप, वैन, और दूसरे छोटे कमर्शियल गाड़ियों के लिए आपको 200 का सिक्युरिटी अमाउंट देना होगा। 

*लाइट कमर्शियल वाहनों के लिए 300 रुपए का सिक्युरिटी अमाउंट है। 

*बस, ट्रक, और फिर चार से सात पहियों वाले सभी वाहनों के लिए सिक्युरिटी अमाउंट चार सौ रुपए रखी गई है। 

*कार, जीप, वैन, और दूसरे छोटे कमर्शियल गाड़ियों के लिए आपको 200 का सिक्युरिटी अमाउंट देना होगा। 

*लाइट कमर्शियल वाहनों के लिए 300 रुपए का सिक्युरिटी अमाउंट है। 

*बस, ट्रक, और फिर चार से सात पहियों वाले सभी वाहनों के लिए सिक्युरिटी अमाउंट चार सौ रुपए रखी गई है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios