Asianet News Hindi

बारिश में कार और बाइक चलाते समय इन 5 बातों का रखें ध्यान, सुरक्षित पहुंचेंगे घर

First Published Jun 8, 2021, 5:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क. मानसून भारत पहुंच गया है। देश के कई राज्यों में प्री-मानसून ने भी दस्त दे दी है। बारिश के समय में लोग अक्सर अपने वाहनों से लांग ड्राइव पर जाते हैं। ऐसे में अब हमें सड़क पर कार और बाइक्स चलाते समय कई सावधानियां बरतनी चाहिए। इन बातों को नजरअंदाज करना कभी-कभी हमारे लिए मुश्किलें खड़ी कर देता है। आइए जानते हैं बारिश के मौसम में कार और बाइक चलाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

हेलमेट लगाएं
अगर आप बारिश के सीजन में अपने घर से बाहर बाइक लेकर जा रहे हैं तो  हेलमेट जरूर लगाएं। बारिश के सीजन में बिना हेलमेट बाइक चलना खतरनाक हो सकता है। बारिश के कारण कभी-कभी गाड़ी स्लिप हो जाती है ऐसे में हेलमेट आपकी सुरक्षा करेगा। 

हेलमेट लगाएं
अगर आप बारिश के सीजन में अपने घर से बाहर बाइक लेकर जा रहे हैं तो  हेलमेट जरूर लगाएं। बारिश के सीजन में बिना हेलमेट बाइक चलना खतरनाक हो सकता है। बारिश के कारण कभी-कभी गाड़ी स्लिप हो जाती है ऐसे में हेलमेट आपकी सुरक्षा करेगा। 

स्पीड से  बचें
बरसात के मौसम में तेज रफ्तार से बाइक या कार चलाने से बचना चाहिए। बारिश में ओवर स्पीडिंग की वजह दुर्घटना का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अपने वाहन को धीमी गति से चलाएं अगर कहीं पहुंचने में लेट हो रहे हैं तो घर से पहले निकले लेकिन बारिश में गाड़ी तेज नहीं चलाएं।
 

स्पीड से  बचें
बरसात के मौसम में तेज रफ्तार से बाइक या कार चलाने से बचना चाहिए। बारिश में ओवर स्पीडिंग की वजह दुर्घटना का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अपने वाहन को धीमी गति से चलाएं अगर कहीं पहुंचने में लेट हो रहे हैं तो घर से पहले निकले लेकिन बारिश में गाड़ी तेज नहीं चलाएं।
 

सड़क के बीच में न चलें
सड़क में जेबरा क्रॉसिंग, लेन सेपरेटर में ज्यादा फिसलन होती है। जहां तक ​​हो सके उन पर चलाने से बचें। दूसरी गाड़ियां के तेल बीच सड़क पर गिराते हुए जाते हैं। इसलिए बीच लेन में चलने से बचें। बारिश के सीजन में दूसरे वाहनों से दूरी बनाकर पीछे चलें। 

सड़क के बीच में न चलें
सड़क में जेबरा क्रॉसिंग, लेन सेपरेटर में ज्यादा फिसलन होती है। जहां तक ​​हो सके उन पर चलाने से बचें। दूसरी गाड़ियां के तेल बीच सड़क पर गिराते हुए जाते हैं। इसलिए बीच लेन में चलने से बचें। बारिश के सीजन में दूसरे वाहनों से दूरी बनाकर पीछे चलें। 

ब्रेक सही रखें
कार के वाइपर और बाइक के ब्रेक भी चेक कर लें। बारिश में एक्सीडेंट का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में ब्रेक ठीक होने चाहिए। वहीं, कार में वाइपर सही होने से आपको सामने के बाहन क्लियर दिखाई देंगे। 

ब्रेक सही रखें
कार के वाइपर और बाइक के ब्रेक भी चेक कर लें। बारिश में एक्सीडेंट का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में ब्रेक ठीक होने चाहिए। वहीं, कार में वाइपर सही होने से आपको सामने के बाहन क्लियर दिखाई देंगे। 

वाटर प्रूफ जूते
बारिश में गाड़ी चलाने के लिए जूते पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। लोग स्लीपर या अमूमन सैंडल का उपयोग करते हैं। इसलिए आपको वाटर प्रूफ जूते पर खर्च करना चाहिए। वाटर प्रूफ जूते होने से आपके ध्यान नहीं भटकेगा। 

वाटर प्रूफ जूते
बारिश में गाड़ी चलाने के लिए जूते पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। लोग स्लीपर या अमूमन सैंडल का उपयोग करते हैं। इसलिए आपको वाटर प्रूफ जूते पर खर्च करना चाहिए। वाटर प्रूफ जूते होने से आपके ध्यान नहीं भटकेगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios