Asianet News Hindi

अचानक पुलिस स्टेशन के सामने से चोरी होने लगे कार के चक्के, फिर CCTV फुटेज से हुआ पूरा खुलासा

First Published Feb 21, 2021, 3:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क. बीते कुछ दिनों दिल्ली-एनसीआर में घर के बहार खड़ी कारों के पहिये चोरी होने की कई घटनाएं सामने आई थीं। अब ऐसी ही कुछ घटनाएं महाराष्ट्र में भी सामने आ रही हैं। महाराष्ट्र में पुलिस स्टेशन के सामने खड़ी कार के पहिए गायब हो गए। ठाणे के चिखली पुलिस स्टेशन के नजदीक खड़ी एक मारुति सेलेरियो के चारों पहिये अचानक गायब हो गए। एक बाद एक कई कारों के चक्के गायब देख लोग हरकत में आ गए और मामले का पता लगाने पुलिस को खबर दी। पुलिस भी पहले तो हैरान हुई कि कार छोड़ पहिए कोई क्यों चुरा ले गया? फिर सीसीटीवी फुटेज से पूरा मामला साफ हो गया-  

 

पुणे के रहने वाले 30 वर्षीय रविंद्र बागचंद ने बताया कि मंगलवार की रात में पार्किंग की समस्या के कारण उन्होंने अपनी मारुति सेलेरियो कार को चिखली पुलिस स्टेशन के नजदीक खाली जगह पर पार्क किया था। चिखली पुलिस स्टेशन से कार की दूरी महज 50 मीटर ही थी और रात भर कार वहीं खड़ी थी।

पुणे के रहने वाले 30 वर्षीय रविंद्र बागचंद ने बताया कि मंगलवार की रात में पार्किंग की समस्या के कारण उन्होंने अपनी मारुति सेलेरियो कार को चिखली पुलिस स्टेशन के नजदीक खाली जगह पर पार्क किया था। चिखली पुलिस स्टेशन से कार की दूरी महज 50 मीटर ही थी और रात भर कार वहीं खड़ी थी।

जब दूसरे दिन सुबह वह कार की तरफ बढे तो देखा की कार एक बड़े से पत्थर के सहारे खड़ी है और उसके चारों पहिये निकाल लिए गए हैं। यह देख कर उन्हें विश्वास नहीं हुआ कि पुलिस थाने के इतने नजदीक खड़ी की गई कार से ऐसी चोरी कैसे हो सकती है।

जब दूसरे दिन सुबह वह कार की तरफ बढे तो देखा की कार एक बड़े से पत्थर के सहारे खड़ी है और उसके चारों पहिये निकाल लिए गए हैं। यह देख कर उन्हें विश्वास नहीं हुआ कि पुलिस थाने के इतने नजदीक खड़ी की गई कार से ऐसी चोरी कैसे हो सकती है।

हालांकि, रविंद्र ने सामने ही स्थित चिखली पुलिस स्टेशन में कार के पहियों के चोरी होने की खबर दी और एफआईआर दर्ज करवाया। इस चोरी की घटना के बाद पुलिस एक्शन में आ गई और चोरों का पता लगाने में लग गई। पुलिस ने थाने के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को निकाला तो पता चला कि तीन चोरों ने रात में इस घटना को अंजाम दिया है।

हालांकि, रविंद्र ने सामने ही स्थित चिखली पुलिस स्टेशन में कार के पहियों के चोरी होने की खबर दी और एफआईआर दर्ज करवाया। इस चोरी की घटना के बाद पुलिस एक्शन में आ गई और चोरों का पता लगाने में लग गई। पुलिस ने थाने के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को निकाला तो पता चला कि तीन चोरों ने रात में इस घटना को अंजाम दिया है।

फुटेज में पुलिस ने देखा कि तीनो चोर अलग-अलग वाहन से आए और केवल 20 मिनट में ही कार के चारों टायर और ब्रेक को निकाल कर ले गए। रात में रास्ता खाली होने के चलते इस घटना की किसी को भी भनक तक नहीं लगी।

 

फुटेज में पुलिस ने देखा कि तीनो चोर अलग-अलग वाहन से आए और केवल 20 मिनट में ही कार के चारों टायर और ब्रेक को निकाल कर ले गए। रात में रास्ता खाली होने के चलते इस घटना की किसी को भी भनक तक नहीं लगी।

 

रविंद्र ने पुलिस स्टेशन में कार के चरों टायर चोरी होने की शिकायत दर्ज की है जिसमे उन्हें 20,000 रुपये का नुकसान हुआ है। पुलिस ने इस मामले को आईपीसी की धारा 379 के तहत दर्ज कर लिया है और चोरों की खोज बीन शुरू कर दी है।

रविंद्र ने पुलिस स्टेशन में कार के चरों टायर चोरी होने की शिकायत दर्ज की है जिसमे उन्हें 20,000 रुपये का नुकसान हुआ है। पुलिस ने इस मामले को आईपीसी की धारा 379 के तहत दर्ज कर लिया है और चोरों की खोज बीन शुरू कर दी है।

बता दें कि दिल्ली में भी पिछले महीने चोरी के कुछ ऐसे ही मामले सामने आये थे। दिल्ली में दो दर्जन से अधिक कारों के टायर चुराने के मामले दर्ज हुए हैं। कार का पहिया चुराने वाले चोर अक्सर अंधेरे या कोने में खड़ी कारों को अपना निशाना बनाते हैं।

 

पुलिस का कहना है कि इस तरह की चोरियां काफी सुनियोजित तरीके से की जाती हैं। कार के चारों पहिये निकालना आसान नहीं है, इस तरह की चोरी को जल्दी अंजाम देने के लिए लगभग 3-4 लोगों की जरूरत होती है।

बता दें कि दिल्ली में भी पिछले महीने चोरी के कुछ ऐसे ही मामले सामने आये थे। दिल्ली में दो दर्जन से अधिक कारों के टायर चुराने के मामले दर्ज हुए हैं। कार का पहिया चुराने वाले चोर अक्सर अंधेरे या कोने में खड़ी कारों को अपना निशाना बनाते हैं।

 

पुलिस का कहना है कि इस तरह की चोरियां काफी सुनियोजित तरीके से की जाती हैं। कार के चारों पहिये निकालना आसान नहीं है, इस तरह की चोरी को जल्दी अंजाम देने के लिए लगभग 3-4 लोगों की जरूरत होती है।

बड़ी कारों के अलॉय व्हील्स की सेकेंड हैंड बाजार में अच्छी कीमत मिल जाती है। ऐसे पहियों का इस्तेमाल खराब पहियों को बदलने या फिर मॉडिफिकेशन के लिए किया जाता है। एक अन्य घटना में सड़क किनारे खड़ी मारुति अल्टो की बैटरी चुरा ली गई। पार्किंग की कमी के कारण सड़क किनारे खड़ी कारों को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है।

 

बड़ी कारों के अलॉय व्हील्स की सेकेंड हैंड बाजार में अच्छी कीमत मिल जाती है। ऐसे पहियों का इस्तेमाल खराब पहियों को बदलने या फिर मॉडिफिकेशन के लिए किया जाता है। एक अन्य घटना में सड़क किनारे खड़ी मारुति अल्टो की बैटरी चुरा ली गई। पार्किंग की कमी के कारण सड़क किनारे खड़ी कारों को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है।

 

पिछले कुछ महीनों में किया सेल्टोस, हुंडई क्रेटा, वेन्यू जैसी कारों के साथ छोटी हैचबैक कारों के पहिये और बैटरी चुराने के कई मामले सामने आए हैं। लोगों का कहना है कि पार्किंग की कमी के कारण घर के बहार कार खड़ी करना मजबूरी है, लकिन अगर ऐसा ही चलता रहा तो आम लोगों के लिए कार रखना मुसीबत बन जाएगा।

 

पिछले कुछ महीनों में किया सेल्टोस, हुंडई क्रेटा, वेन्यू जैसी कारों के साथ छोटी हैचबैक कारों के पहिये और बैटरी चुराने के कई मामले सामने आए हैं। लोगों का कहना है कि पार्किंग की कमी के कारण घर के बहार कार खड़ी करना मजबूरी है, लकिन अगर ऐसा ही चलता रहा तो आम लोगों के लिए कार रखना मुसीबत बन जाएगा।

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios