Asianet News Hindi

बेटा क्रिकेटर-बहन डॉक्टर, बुलेट चलाती हैं पत्नी; पप्पू यादव के परिवार को कितना जानते हैं आप?

First Published Sep 17, 2020, 4:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । बिहार समेत देश की राजनीति के लिए पप्पू यादव (Pappu Yadav) कोई अपरिचित नाम नहीं हैं। जन अधिकार पार्टी  (Public rights party) चीफ का दायरा बिहार से बाहर भी है। दिल्ली की राजनीतिक गलियारे में वो एक जाना पहचाना नाम हैं। हालांकि पप्पू के परिवार के बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं है। पप्पू माता-पिता की इकलौती संतान हैं। उनकी एक छोटी बहन भी है। बहन डॉक्टर डॉक्टर है।


पप्पू यादव के बहनोई फर्रुखाबाद में मेडिकल कॉलेज चलाते हैं। पप्पू के दो बच्चे हैं, बेटी दिल्ली में रहकर पढ़ाई करती है जबकि बेटा सार्थक रंजन क्रिकेटर है। बहुत कम लोगों को इस बारे में पता होगा कि सार्थक दिल्ली अंडर-19 क्रिकेट टीम के उपकप्तान भी रह चुके हैं। (फाइल फोटो)
 


पप्पू यादव के बहनोई फर्रुखाबाद में मेडिकल कॉलेज चलाते हैं। पप्पू के दो बच्चे हैं, बेटी दिल्ली में रहकर पढ़ाई करती है जबकि बेटा सार्थक रंजन क्रिकेटर है। बहुत कम लोगों को इस बारे में पता होगा कि सार्थक दिल्ली अंडर-19 क्रिकेट टीम के उपकप्तान भी रह चुके हैं। (फाइल फोटो)
 


क्रिकेटर बेटे की वजह से कई बार पप्पू यादव का नाम चर्चाओं में रहा है। एक बार उनके चयन को लेकर यह भी आरोप लगा कि अच्छे खिलाड़ियों की कीमत पर उन्हें टीम में रखा गया है। बेटे सार्थक की प्रतिभा पर पप्पू को भरोसा है कि वो एक न एक दिन देश के लिए जरूर खेलेंगे। सार्थक ऑलराउंडर हैं।(फाइल फोटो)


क्रिकेटर बेटे की वजह से कई बार पप्पू यादव का नाम चर्चाओं में रहा है। एक बार उनके चयन को लेकर यह भी आरोप लगा कि अच्छे खिलाड़ियों की कीमत पर उन्हें टीम में रखा गया है। बेटे सार्थक की प्रतिभा पर पप्पू को भरोसा है कि वो एक न एक दिन देश के लिए जरूर खेलेंगे। सार्थक ऑलराउंडर हैं।(फाइल फोटो)


पप्पू यादव की पत्नी का नाम रंजीत रंजन है। 2014 में इस पॉलिटिकल कपल ने 8 करोड़ रुपए की संपत्ति डिक्लेयर की थी। इसमें बेटे के नाम 2.1 करोड़ रुपए की संपत्ति बताई गई थी।(फाइल फोटो)
 


पप्पू यादव की पत्नी का नाम रंजीत रंजन है। 2014 में इस पॉलिटिकल कपल ने 8 करोड़ रुपए की संपत्ति डिक्लेयर की थी। इसमें बेटे के नाम 2.1 करोड़ रुपए की संपत्ति बताई गई थी।(फाइल फोटो)
 


सार्थक रंजन तब सुर्खियों में आए थे जब दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने सैयद मुश्ताक अली टी-20 जोनल टूर्नामेंट के लिए चुनी गई दिल्ली की टीम में सलेक्ट कर लिया था। आरोप था कि उस सीजन में बिना मैच खेले उन्हें सलेक्ट कर लिया गया।(फाइल फोटो)


सार्थक रंजन तब सुर्खियों में आए थे जब दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने सैयद मुश्ताक अली टी-20 जोनल टूर्नामेंट के लिए चुनी गई दिल्ली की टीम में सलेक्ट कर लिया था। आरोप था कि उस सीजन में बिना मैच खेले उन्हें सलेक्ट कर लिया गया।(फाइल फोटो)


सत्र के अंत में सार्थक की मां ने डीडीसीए प्रशासक न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) विक्रमजीत सेन को ई-मेल भेजकर कहा था कि उनका बेटा पहले अवसाद से ग्रसित था, लेकिन अब खेलने के लिए फिट है।(फाइल फोटो)


सत्र के अंत में सार्थक की मां ने डीडीसीए प्रशासक न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) विक्रमजीत सेन को ई-मेल भेजकर कहा था कि उनका बेटा पहले अवसाद से ग्रसित था, लेकिन अब खेलने के लिए फिट है।(फाइल फोटो)


सार्थक रंजन ने दो मैच भी खेल लिए थे। इसमें जम्मू-कश्मीर के खिलाफ 20 गेंद में 31 रन की पारी खेली थी और सेना के खिलाफ 17 गेंद में 25 रन बनाए थे। हालांकि मामला तूल पकड़ता देख सार्थक रंजन को अतिरिक्त में रख लिया गया था। डीडीसीए पर आरोप लगे थे कि आइपीएल नीलामी में शामिल करने के लिए रंजन को अंडर-23 टीम में चुनने का जरिया बनाया गया था।(फाइल फोटो)


सार्थक रंजन ने दो मैच भी खेल लिए थे। इसमें जम्मू-कश्मीर के खिलाफ 20 गेंद में 31 रन की पारी खेली थी और सेना के खिलाफ 17 गेंद में 25 रन बनाए थे। हालांकि मामला तूल पकड़ता देख सार्थक रंजन को अतिरिक्त में रख लिया गया था। डीडीसीए पर आरोप लगे थे कि आइपीएल नीलामी में शामिल करने के लिए रंजन को अंडर-23 टीम में चुनने का जरिया बनाया गया था।(फाइल फोटो)

सार्थक की मां को हार्ले डेविडसन बाइक चलाना पसंद है। वो 2014 में हार्ले लेडीज क्लब की मेंबर भी थी। 2016 में वुमन्स डे के मौके पर वो संसद हार्ले डेविडसन बाइक ड्राइव कर पहुंची थीं। उन्होंने यह बाइक 2015 में खरीदी थी।(फाइल फोटो)

सार्थक की मां को हार्ले डेविडसन बाइक चलाना पसंद है। वो 2014 में हार्ले लेडीज क्लब की मेंबर भी थी। 2016 में वुमन्स डे के मौके पर वो संसद हार्ले डेविडसन बाइक ड्राइव कर पहुंची थीं। उन्होंने यह बाइक 2015 में खरीदी थी।(फाइल फोटो)


एक इंटरव्यू में रंजीता रंजन ने बताया था कि वो अपनी बाइक किसी को ड्राइव करने के लिए नहीं देतीं, अपने हसबैंड तक को नहीं। बता दें कि बेटी दिल्ली में रहकर ही पढ़ाई करती है।(फाइल फोटो)


एक इंटरव्यू में रंजीता रंजन ने बताया था कि वो अपनी बाइक किसी को ड्राइव करने के लिए नहीं देतीं, अपने हसबैंड तक को नहीं। बता दें कि बेटी दिल्ली में रहकर ही पढ़ाई करती है।(फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios