Asianet News Hindi

रघुवंश बाबू के निधन के बाद मांझी का लालू परिवार पर हमला, बेटों के संस्‍कार पर उठाए सवाल; पार्टी ने लगाए पोस्टर

First Published Sep 15, 2020, 4:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। एनडीए में शामिल हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (HAM) के चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी (Jeetanram Manjhi) ने आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव (RJD Chief Lalu Yadav) और उनके परिवार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) के निधन के बाद मांझी काफी आक्रामक दिख आ रहे हैं। बिहार में उनकी पार्टी ने पोस्टर लगाकर रघुवंश की मौत के लिए लालू को जिम्‍मेदार बताया। इतना ही नहीं मांझी की पार्टी ने लालू को रांची की होटवार जेल का सुप्रीमो भी बता दिया और कहा कि उनके दोनों बेटों में संस्कार नहीं हैं। रघुवंश को श्रद्धांजलि देते हुए तेजप्रताप यादव (TejPratap Yadav) की एक तस्वीर भी खूब वायरल है। 

बिहार में पहले ही तेजप्रताप की हरकतों और बयान को लेकर सवाल उठते रहे हैं। अब चुनाव से रघुवंश के इस्तीफा प्रकरण, तेजप्रताप के बयान को आधार बनाकर एनडीए (NDA) की ओर से मांझी लालू परिवार को मुद्दा बनाते दिख रहे हैं। पोस्टर के जरिए मांझी ने लालू से सवाल किया- अपने नकारा बेटों को राजनीति में स्‍थापित करने के लिए कितने लोगों की बलि लेंगे? 

बिहार में पहले ही तेजप्रताप की हरकतों और बयान को लेकर सवाल उठते रहे हैं। अब चुनाव से रघुवंश के इस्तीफा प्रकरण, तेजप्रताप के बयान को आधार बनाकर एनडीए (NDA) की ओर से मांझी लालू परिवार को मुद्दा बनाते दिख रहे हैं। पोस्टर के जरिए मांझी ने लालू से सवाल किया- अपने नकारा बेटों को राजनीति में स्‍थापित करने के लिए कितने लोगों की बलि लेंगे? 

मांझी ने एक दिन पहले तेजप्रताप के संस्‍कार पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि तेजप्रताप के बयान ने रघुवंश सिंह को इतना आहत किया कि उनका निधन हो गया। पटना में मंगलवार को हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा ने कई जगह रघुवंश बाबू की मौत का हवाला देते हुए पोस्टर लगाए हैं। वैसे इस पोस्टर में एक और चीज है। पहली बार पार्टी ने एनडीए के नेताओं के साथ LJP चीफ चिराग पासवान की फोटो भी है। हम के पिछले पोस्टर में चिराग गायब थे। ये इस बात का संकेत माना जा रहा है कि एनडीए के सहयोगी दलों का रिश्ता अब पहले के मुक़ाबले ज्यादा बेहतर है। (फोटो सोशल मीडिया से साभार)

मांझी ने एक दिन पहले तेजप्रताप के संस्‍कार पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि तेजप्रताप के बयान ने रघुवंश सिंह को इतना आहत किया कि उनका निधन हो गया। पटना में मंगलवार को हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा ने कई जगह रघुवंश बाबू की मौत का हवाला देते हुए पोस्टर लगाए हैं। वैसे इस पोस्टर में एक और चीज है। पहली बार पार्टी ने एनडीए के नेताओं के साथ LJP चीफ चिराग पासवान की फोटो भी है। हम के पिछले पोस्टर में चिराग गायब थे। ये इस बात का संकेत माना जा रहा है कि एनडीए के सहयोगी दलों का रिश्ता अब पहले के मुक़ाबले ज्यादा बेहतर है। (फोटो सोशल मीडिया से साभार)

इस बीच हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के प्रवक्ता ने बताया कि पार्टी के कार्यकर्ता समूचे राज्य में रघुवंश प्रसाद सिंह के पत्र को लेकर गांव-गांव जाएंगे। बताते चलें कि निधन से एक दिन पहले रघुवंश के कई पत्र चर्चा में बने थे। आरजेडी में लालू परिवार की भूमिका और केंद्रीय नेतृत्व को लेकर रघुवंश ने सवाल उठाए थे। 

इस बीच हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के प्रवक्ता ने बताया कि पार्टी के कार्यकर्ता समूचे राज्य में रघुवंश प्रसाद सिंह के पत्र को लेकर गांव-गांव जाएंगे। बताते चलें कि निधन से एक दिन पहले रघुवंश के कई पत्र चर्चा में बने थे। आरजेडी में लालू परिवार की भूमिका और केंद्रीय नेतृत्व को लेकर रघुवंश ने सवाल उठाए थे। 

उससे पहले तेजप्रताप ने रघुवंश के इस्तीफे और उनके जेडीयू (JDU) में जाने की अटकलों को लेकर कहा था कि वो लोटे का पानी हैं। आरजेडी को समुद्र बताते हुए उन्होंने कहा था कि समुद्र से एक लोटा पानी चले जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता। इस बयान के बाद इलाज के दिल्ली के एम्स में भर्ती रघुवंश काफी आहत बताए गए थे। पार्टी के सीनियर नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी तेजप्रताप की यह बात बुरी लगी थी। (फाइल फोटो: लालू फैमिली के साथ मांझी) 

उससे पहले तेजप्रताप ने रघुवंश के इस्तीफे और उनके जेडीयू (JDU) में जाने की अटकलों को लेकर कहा था कि वो लोटे का पानी हैं। आरजेडी को समुद्र बताते हुए उन्होंने कहा था कि समुद्र से एक लोटा पानी चले जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता। इस बयान के बाद इलाज के दिल्ली के एम्स में भर्ती रघुवंश काफी आहत बताए गए थे। पार्टी के सीनियर नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी तेजप्रताप की यह बात बुरी लगी थी। (फाइल फोटो: लालू फैमिली के साथ मांझी) 

कहते तो यह भी हैं कि बयान से लालू भी खासे नाराज थे और रिम्स में बुलाकर तेजप्रताप की क्लास लगाई थी। बाद में तेजप्रताप ने रघुवंश से जुड़े बयान मामले में मीडिया पर बयान के साथ तोड़मरोड़ कर पेश करने के आरोप लगाए थे। रघुवंश बाबू के निधन के बाद सोशल मीडिया में तेजप्रताप की एक तस्वीर खूब वायरल हो रही है। 

कहते तो यह भी हैं कि बयान से लालू भी खासे नाराज थे और रिम्स में बुलाकर तेजप्रताप की क्लास लगाई थी। बाद में तेजप्रताप ने रघुवंश से जुड़े बयान मामले में मीडिया पर बयान के साथ तोड़मरोड़ कर पेश करने के आरोप लगाए थे। रघुवंश बाबू के निधन के बाद सोशल मीडिया में तेजप्रताप की एक तस्वीर खूब वायरल हो रही है। 

वायरल तस्वीर में तेजप्रताप, रघुवंश प्रसाद सिंह को श्रद्धांजलि देते नजर आ रहे हैं। रघुवंश के अंतिम दर्शन में तेजस्वी समेत आरजेडी के बड़े नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए, मगर तेजप्रताप गायब रहे। उन्होंने अपने घर से ही रघुवंश को श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि की उनकी तस्वीर बिहार में खूब वायरल हो रही है। 

वायरल तस्वीर में तेजप्रताप, रघुवंश प्रसाद सिंह को श्रद्धांजलि देते नजर आ रहे हैं। रघुवंश के अंतिम दर्शन में तेजस्वी समेत आरजेडी के बड़े नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए, मगर तेजप्रताप गायब रहे। उन्होंने अपने घर से ही रघुवंश को श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि की उनकी तस्वीर बिहार में खूब वायरल हो रही है। 

पत्नी ऐश्वर्या से विवाद के मामले में काफी किरकिरी झेल चुके तेजप्रताप और लालू परिवार को अब रघुवंश के बहाने मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है। वैसे राजनीति के जानकार भी मानकर चल रहे हैं कि लालू फैमिली को लेकर आरजेडी विरोधी दल जिस तरह से आक्रामक हैं उस स्थिति में चुनाव में आरजेडी को काफी सवालों का सामना करना पड़ेगा। 

पत्नी ऐश्वर्या से विवाद के मामले में काफी किरकिरी झेल चुके तेजप्रताप और लालू परिवार को अब रघुवंश के बहाने मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है। वैसे राजनीति के जानकार भी मानकर चल रहे हैं कि लालू फैमिली को लेकर आरजेडी विरोधी दल जिस तरह से आक्रामक हैं उस स्थिति में चुनाव में आरजेडी को काफी सवालों का सामना करना पड़ेगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios