Asianet News Hindi

हे भगवान क्या किया: दुल्हन की विदाई से पहले उठेगी पिता-भाई की अर्थी, घर में बचा सिर्फ 12 साल का एक बच्चा

First Published Feb 23, 2021, 7:53 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रोसड़ा (Bihar ) । कटिहार हादसे में सात लोगों की मौत हो गई। इनमें पिता-पुत्र और तीन पड़ोसी भी शामिल हैं, जिनका अब अंतिम संस्कार एक साथ किया जाएगा। वहीं, दिल दहला देने वाली हुई इस घटना के बाद समस्तीपुर के रोसड़ा में एक बेटी अपने भाग्य को कोस रही है। क्योंकि, उसके पिता और भाई  शादी के शगुन लेकर कटिहार जाने के लिए निकले थे, मगर सड़क हादसे में अपनी जान गवां बैठे। अब घर के पुरुष सदस्य में के तौर पर 12 साल का छोटा भाई राजू बच गया है, जिसका गार्जियन भी अब उसे खुद बनना होगा। बता दें कि जिस घर में शहनाई बजने वाली थी, वहां आज चीख-पुकार मची है। पूरा गांव ही सदमे में है।

हादसे में मरने वालों में सभी लड़की के रिश्तेदार और पड़ोसी हैं। पड़ोस के एक घर से दो मौतें हुई हैं। रामस्वरूप साह (40) और उसके साले संतोष साह (32) शामिल हैं। बता दें कि संतोष साह ही गाड़ी चला रहा था। जबकि पड़ोस के दो और लोग सड़क हादसे में मरे हैं।
 

हादसे में मरने वालों में सभी लड़की के रिश्तेदार और पड़ोसी हैं। पड़ोस के एक घर से दो मौतें हुई हैं। रामस्वरूप साह (40) और उसके साले संतोष साह (32) शामिल हैं। बता दें कि संतोष साह ही गाड़ी चला रहा था। जबकि पड़ोस के दो और लोग सड़क हादसे में मरे हैं।
 

सुबह सभी लोग कटिहार कुरसेला के फुलवरिया गांव में लड़के को शगुन देने जा रहे थे। कोसी नदी के कटरिया पुला पर पूर्णिया से नवगछिया की तरफ ही जा रहे ट्रक से साइड लेने के लिए स्कॉर्पियों आगे बढ़ा ही था कि सामने से बाइक आ गई। इससे तीनों ही गाड़ियां असंतुलित होकर टकरा गईं थी।

सुबह सभी लोग कटिहार कुरसेला के फुलवरिया गांव में लड़के को शगुन देने जा रहे थे। कोसी नदी के कटरिया पुला पर पूर्णिया से नवगछिया की तरफ ही जा रहे ट्रक से साइड लेने के लिए स्कॉर्पियों आगे बढ़ा ही था कि सामने से बाइक आ गई। इससे तीनों ही गाड़ियां असंतुलित होकर टकरा गईं थी।

स्कॉर्पियो पुल की रेलिंग से बचने में ट्रक के अंदर ही घुस गया। घायलों में से एक अर्जुन महतो ने सिर्फ इतना ही बताया कि स्कॉर्पियो पर 10 लोग थे, जिनमें तीन लोग बचे हैं।
 

स्कॉर्पियो पुल की रेलिंग से बचने में ट्रक के अंदर ही घुस गया। घायलों में से एक अर्जुन महतो ने सिर्फ इतना ही बताया कि स्कॉर्पियो पर 10 लोग थे, जिनमें तीन लोग बचे हैं।
 

इस हादसे से पूरा गांव सदमे में है। परिजनों ने बताया कि पहली बार इतना बड़ा हादसा हुआ है। इसके बाद हमलोग उन्हें लेकर गांव आएंगे।
 

इस हादसे से पूरा गांव सदमे में है। परिजनों ने बताया कि पहली बार इतना बड़ा हादसा हुआ है। इसके बाद हमलोग उन्हें लेकर गांव आएंगे।
 

 गांव में सामूहिक दाह संस्कार की तैयारी चल रही है। शवों को जब गांव ले आया जाएगा तब अंतिम संस्कार किया जाएगा।
 

 गांव में सामूहिक दाह संस्कार की तैयारी चल रही है। शवों को जब गांव ले आया जाएगा तब अंतिम संस्कार किया जाएगा।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios