Asianet News Hindi

इस कमी के चलते बचपन में पापा-मम्मी की डांट खाते थे अभिषेक, इन 8 सेलेब्स में भी रहीं शारीरिक कमियां

First Published Feb 5, 2021, 1:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। जूनियर बच्चन यानी अभिषेक (Abhishek Bachchan) 45 साल के हो गए हैं। 5 फरवरी 1976 को उनका जन्म मुंबई में हुआ था। ज्यादातर लोग उन्हें बतौर एक्टर जानते हैं लेकिन अभिषेक प्रोड्यूसर, प्लेबैक सिंगर और टीवी प्रेजेंटर भी रह चुके हैं। जब अभिषेक बड़े हो रहे थे तो उस दौर में उनके पापा अमिताभ सुपरस्टार थे। अपनी फिल्मी लाइफ में बेहद बिजी होने के चलते उनके पास इतना वक्त नहीं था कि वो अभिषेक पर फोकस कर पाते। यही वजह थी कि अभिषेक पढ़ाई में पिछड़ने लगे थे। पढ़ाई में नंबर न लाने की वजह से अभिषेक मम्मी-पापा दोनों से डांट खाते थे। इसलिए बचपन में ही वो इंट्रोवर्ट भी हो गए थे। 

डिसलेक्सिया से पीड़ित थे अभिषेक बच्चन : 
हालांकि बाद में अमिताभ को अहसास हुआ तो उन्होंने अभिषेक को डॉक्टर को दिखाया। तब पता चला कि अभिषेक को डिसलेक्सिया है। स्लो लर्नर के साथ-साथ उन्हें अक्षर भी ठीक से समझ नहीं आते थे। इस प्रॉब्लम को जान लेने के बाद उनका इलाज हुआ। बता दें कि आमिर खान इस बीमारी पर एक फिल्म 'तारे जमीं पर' बना चुके हैं, जिसमें दर्शील सफारी ने इस बीमारी से पीड़ित बच्चे का किरदार निभाया था। इस बीमारी में अक्षरों को ठीक से पहचान पाने, शब्दों या नामों को याद रखने में मुश्किल होती है। 

डिसलेक्सिया से पीड़ित थे अभिषेक बच्चन : 
हालांकि बाद में अमिताभ को अहसास हुआ तो उन्होंने अभिषेक को डॉक्टर को दिखाया। तब पता चला कि अभिषेक को डिसलेक्सिया है। स्लो लर्नर के साथ-साथ उन्हें अक्षर भी ठीक से समझ नहीं आते थे। इस प्रॉब्लम को जान लेने के बाद उनका इलाज हुआ। बता दें कि आमिर खान इस बीमारी पर एक फिल्म 'तारे जमीं पर' बना चुके हैं, जिसमें दर्शील सफारी ने इस बीमारी से पीड़ित बच्चे का किरदार निभाया था। इस बीमारी में अक्षरों को ठीक से पहचान पाने, शब्दों या नामों को याद रखने में मुश्किल होती है। 

डायबिटीज का शिकार हो चुकीं सोनम कपूर : 
बॉलीवुड में फेमस आइकॉन की अलग पहचान बनाने वालीं सोनम को लेकर कम ही लोग जानते हैं कि वो डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित रह चुकी हैं। दरअसल सोनम कम उम्र से ही डायबिटिक रही हैं। सोनम ने रोजाना इंसुलिन के डोज के अलावा खास डाइट अपनाने के बाद ही इस बीमारी पर काबू पाया है। इस बीमारी के कारण कभी उनका वजन 85 किलो से भी ज्यादा हुआ करता था। हालांकि, अब सोनम इस बीमारी से छुटकारा पा चुकी हैं और बढ़े हुए वजन से भी उन्हें निजात मिल चुकी है। 

डायबिटीज का शिकार हो चुकीं सोनम कपूर : 
बॉलीवुड में फेमस आइकॉन की अलग पहचान बनाने वालीं सोनम को लेकर कम ही लोग जानते हैं कि वो डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित रह चुकी हैं। दरअसल सोनम कम उम्र से ही डायबिटिक रही हैं। सोनम ने रोजाना इंसुलिन के डोज के अलावा खास डाइट अपनाने के बाद ही इस बीमारी पर काबू पाया है। इस बीमारी के कारण कभी उनका वजन 85 किलो से भी ज्यादा हुआ करता था। हालांकि, अब सोनम इस बीमारी से छुटकारा पा चुकी हैं और बढ़े हुए वजन से भी उन्हें निजात मिल चुकी है। 

बचपन में हकलाते थे ऋतिक रोशन :
ऋतिक रोशन जब 6 साल की उम्र के थे तो ठीक से बोल नहीं पाते थे। उनकी आवाज हकलाती थी। 2009 में उन्होंने फराह खान के शो 'तेरे मेरे बीच में' में बताया था कि वो इस समस्या से 35 साल की उम्र तक जूझते रहे। इसके चलते स्कूल में बच्चे मजाक उड़ाते थे और उन्हें बहुत बुरा लगता था। ऋतिक ने बताया था कि हकलाने की आदत के चलते मौखिक (ओरल) परीक्षा में हिस्सा लेना उनके लिए सबसे ज्यादा मुश्किल काम था। बकौल ऋतिक, ओरल टेस्ट वाले दिन मैं स्कूल से बंक मार देता था। उन्होंने हकलापन से छुटकारा पाने के लिए अपनी खुद की टेक्निक बनाई। वो नॉवल या कोई और किताब जोर-जोर से पढ़ने लगे। पेज-बाय-पेज, लाइन-बाय-लाइन और वर्ड-बाय-वर्ड जोर-जोर से पढ़ते थे ताकि उन्हें अपने शब्द खुद सुनाई दे और उनका आत्मविश्वास बना रहे। 

बचपन में हकलाते थे ऋतिक रोशन :
ऋतिक रोशन जब 6 साल की उम्र के थे तो ठीक से बोल नहीं पाते थे। उनकी आवाज हकलाती थी। 2009 में उन्होंने फराह खान के शो 'तेरे मेरे बीच में' में बताया था कि वो इस समस्या से 35 साल की उम्र तक जूझते रहे। इसके चलते स्कूल में बच्चे मजाक उड़ाते थे और उन्हें बहुत बुरा लगता था। ऋतिक ने बताया था कि हकलाने की आदत के चलते मौखिक (ओरल) परीक्षा में हिस्सा लेना उनके लिए सबसे ज्यादा मुश्किल काम था। बकौल ऋतिक, ओरल टेस्ट वाले दिन मैं स्कूल से बंक मार देता था। उन्होंने हकलापन से छुटकारा पाने के लिए अपनी खुद की टेक्निक बनाई। वो नॉवल या कोई और किताब जोर-जोर से पढ़ने लगे। पेज-बाय-पेज, लाइन-बाय-लाइन और वर्ड-बाय-वर्ड जोर-जोर से पढ़ते थे ताकि उन्हें अपने शब्द खुद सुनाई दे और उनका आत्मविश्वास बना रहे। 

बचपन में हाइपर एक्टिव थीं तापसी पन्नू : 
बचपन में तापसी पन्नू इतनी हायपर एक्टिव थीं कि कभी एक जगह पर ज्यादा देर नहीं बैठ पाती थीं। हर समय कोई ना कोई शरारत, तोड़-फोड़ करती रहती थीं। जब उनकी यह दिक्कत उनके पेरेंट्स को समझ आई तो उनका इलाज कराया गया। उन्हें दूसरे कामों में बिजी किया गया ताकि उनकी एनर्जी सही कामों में लग सके। तापसी को एक बार खेल-कूद की आदत लग गई तो वो दिनभर खेलती रहती। इसके बाद इतनी थक जाती थीं कि और कोई काम नहीं कर पाती थीं। 

बचपन में हाइपर एक्टिव थीं तापसी पन्नू : 
बचपन में तापसी पन्नू इतनी हायपर एक्टिव थीं कि कभी एक जगह पर ज्यादा देर नहीं बैठ पाती थीं। हर समय कोई ना कोई शरारत, तोड़-फोड़ करती रहती थीं। जब उनकी यह दिक्कत उनके पेरेंट्स को समझ आई तो उनका इलाज कराया गया। उन्हें दूसरे कामों में बिजी किया गया ताकि उनकी एनर्जी सही कामों में लग सके। तापसी को एक बार खेल-कूद की आदत लग गई तो वो दिनभर खेलती रहती। इसके बाद इतनी थक जाती थीं कि और कोई काम नहीं कर पाती थीं। 

नसों से जुड़ी बीमारी का शिकार हैं सलमान : 
सलमान खान साल 2001 से ही एक बेहद दुर्लभ बीमारी ट्राइजेमिनल न्यूराल्जिया से पीड़ित थे। ये एक न्यूरोपैथिक डिसऑर्डर होता है, जिसमें इंसान के चेहरे के कई हिस्सों (सिर, जबड़ा आदि) में जबरदस्त दर्द होता है। हालांकि, अब वो इस बीमारी से उबर चुके हैं लेकिन सलमान खान अब भी बहुत ज्यादा गुस्सा नहीं कर सकते, क्योंकि गुस्सा करने से उनकी नसों में तकलीफ होती है। इस बीमारी की वजह से ही सलमान की आवाज कभी-कभी कर्कश हो जाती है। यह इसलिए नहीं होता क्योंकि वह नशे में हैं, बल्कि इस बीमारी की वजह से होता है। इस बीमारी का इलाज सलमान ने अमेरिका में करवाया। 

नसों से जुड़ी बीमारी का शिकार हैं सलमान : 
सलमान खान साल 2001 से ही एक बेहद दुर्लभ बीमारी ट्राइजेमिनल न्यूराल्जिया से पीड़ित थे। ये एक न्यूरोपैथिक डिसऑर्डर होता है, जिसमें इंसान के चेहरे के कई हिस्सों (सिर, जबड़ा आदि) में जबरदस्त दर्द होता है। हालांकि, अब वो इस बीमारी से उबर चुके हैं लेकिन सलमान खान अब भी बहुत ज्यादा गुस्सा नहीं कर सकते, क्योंकि गुस्सा करने से उनकी नसों में तकलीफ होती है। इस बीमारी की वजह से ही सलमान की आवाज कभी-कभी कर्कश हो जाती है। यह इसलिए नहीं होता क्योंकि वह नशे में हैं, बल्कि इस बीमारी की वजह से होता है। इस बीमारी का इलाज सलमान ने अमेरिका में करवाया। 

बढ़ते वजन से परेशान थीं सोनाक्षी सिन्हा : 
‘दबंग गर्ल’ सोनाक्षी सिन्हा कभी बहुत मोटी हुआ करती थीं। अब बेहद फिट दिखने वाली सोनाक्षी कभी अपने हैवी वेट के कारण ट्रोल होती थीं। अपनी बॉडी को शेप में लाने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी। वैसे अपने वजन के कारण वो कई बार ट्रोल भी हुई हैं। बचपन से लेकर अब तक वो हमेशा से ट्रोल्स का शिकार हुई हैं।

बढ़ते वजन से परेशान थीं सोनाक्षी सिन्हा : 
‘दबंग गर्ल’ सोनाक्षी सिन्हा कभी बहुत मोटी हुआ करती थीं। अब बेहद फिट दिखने वाली सोनाक्षी कभी अपने हैवी वेट के कारण ट्रोल होती थीं। अपनी बॉडी को शेप में लाने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी। वैसे अपने वजन के कारण वो कई बार ट्रोल भी हुई हैं। बचपन से लेकर अब तक वो हमेशा से ट्रोल्स का शिकार हुई हैं।

मोटापे से परेशान थे अर्जुन कपूर : 
अर्जुन कपूर इस समय बॉलीवुड के सबसे ज्यादा इलीजिबल बैचलर में से एक हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं सिक्स पैक बॉडी से लड़कियों को अपना दीवाना बनाने वाले अर्जुन कपूर कभी 140 किलो के थे। हालांकि अब अर्जुन कपूर पूरी तरह फिट हैं। अर्जुन अपने पहले की फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं।

मोटापे से परेशान थे अर्जुन कपूर : 
अर्जुन कपूर इस समय बॉलीवुड के सबसे ज्यादा इलीजिबल बैचलर में से एक हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं सिक्स पैक बॉडी से लड़कियों को अपना दीवाना बनाने वाले अर्जुन कपूर कभी 140 किलो के थे। हालांकि अब अर्जुन कपूर पूरी तरह फिट हैं। अर्जुन अपने पहले की फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं।

ऑटोइम्यून डिसऑर्डर का शिकार हो चुकीं स्नेहा उल्लाल : 
स्नेहा उल्लाल सलमान खान के साथ फिल्म लकी में नजर आई थीं। कहा जाता है कि वो ऐश्वर्या राय की हमशक्ल हैं। कुछ साल पहले स्नेहा उल्लाल को ऑटोइम्यून डिसऑर्डर हुआ था, जिसकी वजह से वह आधे घंटे से ज्यादा अपने पैरों पर खड़ी भी नहीं हो पाती थीं। हालांकि बाद में उन्होंने फिल्मों से ब्रेक लिया और अपना इलाज करवाया। अब वो इस बीमारी से पूरी तरह ठीक हैं। 

ऑटोइम्यून डिसऑर्डर का शिकार हो चुकीं स्नेहा उल्लाल : 
स्नेहा उल्लाल सलमान खान के साथ फिल्म लकी में नजर आई थीं। कहा जाता है कि वो ऐश्वर्या राय की हमशक्ल हैं। कुछ साल पहले स्नेहा उल्लाल को ऑटोइम्यून डिसऑर्डर हुआ था, जिसकी वजह से वह आधे घंटे से ज्यादा अपने पैरों पर खड़ी भी नहीं हो पाती थीं। हालांकि बाद में उन्होंने फिल्मों से ब्रेक लिया और अपना इलाज करवाया। अब वो इस बीमारी से पूरी तरह ठीक हैं। 

डिप्रेशन का शिकार रह चुकीं दीपिका पादुकोण : 
दीपिका पादुकोण बॉलीवुड की सबसे कामयाब एक्ट्रेसेस में से एक हैं। उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़ कमाई करती हैं। हालांकि, एक समय ऐसा था जब दीपिका डिप्रेशन का शिकार हो गई थीं। इस बारे में उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था। उन्होंने कहा था कि कुछ महीने तक पता ही नहीं चला था कि उन्हें क्या हुआ है। लेकिन बाद में वह इलाज के बाद ठीक हो गईं।

डिप्रेशन का शिकार रह चुकीं दीपिका पादुकोण : 
दीपिका पादुकोण बॉलीवुड की सबसे कामयाब एक्ट्रेसेस में से एक हैं। उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़ कमाई करती हैं। हालांकि, एक समय ऐसा था जब दीपिका डिप्रेशन का शिकार हो गई थीं। इस बारे में उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था। उन्होंने कहा था कि कुछ महीने तक पता ही नहीं चला था कि उन्हें क्या हुआ है। लेकिन बाद में वह इलाज के बाद ठीक हो गईं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios