Asianet News Hindi

बॉलीवुड के दो जिगरी दोस्त जिन्होंने एक ही दिन कहा था दुनिया को अलविदा, दोनों को थी गंभीर बीमारी

First Published Apr 27, 2020, 11:42 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. गुजरे जमाने के दो फेमस एक्टर विनोद खन्ना और फिरोज खान की आज डेथ एनिवर्सिरी (27 अप्रैल) को है। इंडस्ट्री के इन दोनों जिगरी दोस्तों ने एक ही तारीख को दुनिया को अलविदा कहा था। हालांकि, फिरोज खान की डेथ 2009 में हुई, जबकि विनोद खन्ना ने 8 साल बाद 2017 में इसी दिन अंतिम सांस ली। इनकी दोस्ती के चर्चे बॉलीवुड में काफी फेमस। दोनों ने साथ में कई फिल्मों में काम किया था।

फिरोज खान और विनोद खन्ना दोनो की ही मौत कैंसर की वजह से हुई। फिरोज को फेफड़े का कैंसर था, वहीं विनोद खन्ना ब्लैडर कैंसर था। 1976 में आई फिल्म 'शंकर शंभू' में फिरोज खान और विनोद खन्ना एक साथ नजर आए। इस फिल्म में दोनों की जोड़ी को खूब पसंद किया गया था।

फिरोज खान और विनोद खन्ना दोनो की ही मौत कैंसर की वजह से हुई। फिरोज को फेफड़े का कैंसर था, वहीं विनोद खन्ना ब्लैडर कैंसर था। 1976 में आई फिल्म 'शंकर शंभू' में फिरोज खान और विनोद खन्ना एक साथ नजर आए। इस फिल्म में दोनों की जोड़ी को खूब पसंद किया गया था।

1980 में आई 'कुर्बानी' में भी दोनों साथ नजर आए। इसका डायरेक्शन फिरोज खान ने किया था। फिरोज खान और विनोद खन्ना के अलावा अमरीश पुरी, अमजद खान, जीनत अमान, कादर खान, शक्ति कपूर और अरुणा ईरानी जैसे एक्टर्स भी थे। फिल्म हिट साबित हुई और इसी फिल्म से दोनों की दोस्ती भी मजबूत हुई थी। 

1980 में आई 'कुर्बानी' में भी दोनों साथ नजर आए। इसका डायरेक्शन फिरोज खान ने किया था। फिरोज खान और विनोद खन्ना के अलावा अमरीश पुरी, अमजद खान, जीनत अमान, कादर खान, शक्ति कपूर और अरुणा ईरानी जैसे एक्टर्स भी थे। फिल्म हिट साबित हुई और इसी फिल्म से दोनों की दोस्ती भी मजबूत हुई थी। 

'कुर्बानी' के बाद फिरोज, विनोद को अपने प्रोडक्शन की अगली फिल्म जांबाज (1986) में भी कास्ट करना चाहते थे, लेकिन बाद में यह रोल अनिल कपूर ने निभाया। यह वह दौर था जब विनोद ओशो की शरण में चले गए थे और उनके आश्रम में माली का काम करते थे। 

'कुर्बानी' के बाद फिरोज, विनोद को अपने प्रोडक्शन की अगली फिल्म जांबाज (1986) में भी कास्ट करना चाहते थे, लेकिन बाद में यह रोल अनिल कपूर ने निभाया। यह वह दौर था जब विनोद ओशो की शरण में चले गए थे और उनके आश्रम में माली का काम करते थे। 

ओशो आश्रम से जुड़े विवादों के बाद जब वे बॉलीवुड में अपनी दूसरी पारी शुरू करने के लिए तैयार थे।

ओशो आश्रम से जुड़े विवादों के बाद जब वे बॉलीवुड में अपनी दूसरी पारी शुरू करने के लिए तैयार थे।

विनोद को बॉलीवुड में कमबैक करने में फिरोज ने मदद की थी। तब फिरोज ने उनके साथ दयावान (1988) साइन की। फिल्म में विनोद और माधुरी दीक्षित लीड रोल में थे।

विनोद को बॉलीवुड में कमबैक करने में फिरोज ने मदद की थी। तब फिरोज ने उनके साथ दयावान (1988) साइन की। फिल्म में विनोद और माधुरी दीक्षित लीड रोल में थे।

दोस्तों की जोड़ी ने 3 फिल्मों में साथ काम किया था। 27 अप्रैल, 2009 को लंग कैंसर से फिरोज खान का निधन हुआ तो 27 अप्रैल, 2017 को ब्लैडर कैंसर की वजह से विनोद खन्ना दुनिया छोड़ गए।

दोस्तों की जोड़ी ने 3 फिल्मों में साथ काम किया था। 27 अप्रैल, 2009 को लंग कैंसर से फिरोज खान का निधन हुआ तो 27 अप्रैल, 2017 को ब्लैडर कैंसर की वजह से विनोद खन्ना दुनिया छोड़ गए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios