Asianet News Hindi

रियल लाइफ में डॉक्टर भी है अक्षय कुमार की फिल्म का को-स्टार, कोरोना होने के बाद भी कर रहा लोगों की हेल्प

First Published May 2, 2021, 11:14 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की फिल्म गोल्ड, गैंग्स ऑफ वासेपुर, मुक्केबाज और सांड की आंख जोसी फिल्मों में काम करने वाले विनीत कुमार सिंह (Vineet Kumar Singh)एक्टर के साथ पेश से डॉक्टर भी है। वे कोरोना काल में लोगों की ऑनलाइन मदद कर रहे हैं। अभी वे खुद कोविड पॉजिटिव होते हुए भी सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को कंसल्ट कर रहे हैं। उन्होंने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में बताया- मैं अभी बनारस में कोविड से रिकवर हो रहा हूं। पूरी फैमिली पॉजिटिव हो गई हैं। इस दौरान मुझे फिजिकली और मेंटली तकलीफें उठानी पड़ीं। मुझे कुछ एंटीबायोटिक की जरूरत थी, लेकिन नहीं मिल रही थी। आखिर पंकज त्रिपाठी ने मेरी मदद की। तभी मुझे ख्याल आया कि मैं खुद डॉक्टर हूं, मेरी इतनी पहचान है, फिर भी हमें इतनी तकलीफ हुई, हम एक तरह से हेल्पलेस ही हो गए थे। तब मुझे ख्याल आया कि आमजन का क्या हाल होगा। फिर उन्होंने ऑनलाइन लोगों की मदद करना शुरू की। विनीत की तरह ही एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से जुड़े अन्य लोग भी मदद के लिए आगे आएं हैं।

उन्होंने बताया- अब मैं सोशल मीडिया पर एक्टिव हूं। लोगों को ऑनलाइन गाइड कर रहा हूं। कई शहरों में मेरे डॉक्टर फ्रेंड्स हैं। उन सबसे कनेक्ट करके मैं दवाई, बेड और दूसरी चीजें अरेंज करवा रहा हूं। किसी को भी किसी भी तरह की मदद की जरूरत है तो मुझे सोशल मीडिया पर कॉन्ट्रेक्ट कर सकता है। मैं अगर उनके कुछ काम आ सका तो समझूंगा कि जीवन में कुछ अच्छा कर पाया।

उन्होंने बताया- अब मैं सोशल मीडिया पर एक्टिव हूं। लोगों को ऑनलाइन गाइड कर रहा हूं। कई शहरों में मेरे डॉक्टर फ्रेंड्स हैं। उन सबसे कनेक्ट करके मैं दवाई, बेड और दूसरी चीजें अरेंज करवा रहा हूं। किसी को भी किसी भी तरह की मदद की जरूरत है तो मुझे सोशल मीडिया पर कॉन्ट्रेक्ट कर सकता है। मैं अगर उनके कुछ काम आ सका तो समझूंगा कि जीवन में कुछ अच्छा कर पाया।

वहीं, दूसी ओर हिमाचल प्रदेश के मंडी की प्रीति वर्धन ने हरियाणा में नर्सिंग में डिप्लोमा किया और कुरुक्षेत्र में राधाकिशन चिल्ड्रन हॉस्पिटल में नर्स के रूप में तीन साल काम भी किया। बाद में ग्वालियर से नर्सिंग में पोस्ट ग्रेजुएशन करके मुंबई आ गईं। यहां 2018 से वो कोकिलाबेन अस्पताल में नर्सिंग की जॉब करने लगी। शुरू से मॉडलिंग और एक्टिंग में रुचि थी तो साथ-साथ मॉडलिंग और थिएटर भी करने लगीं। फिर मुंबई आकर ऑडिशन और एड शूट करने लगी। कुछ वेब सीरिज और टीवी शूट में काम मिला।

वहीं, दूसी ओर हिमाचल प्रदेश के मंडी की प्रीति वर्धन ने हरियाणा में नर्सिंग में डिप्लोमा किया और कुरुक्षेत्र में राधाकिशन चिल्ड्रन हॉस्पिटल में नर्स के रूप में तीन साल काम भी किया। बाद में ग्वालियर से नर्सिंग में पोस्ट ग्रेजुएशन करके मुंबई आ गईं। यहां 2018 से वो कोकिलाबेन अस्पताल में नर्सिंग की जॉब करने लगी। शुरू से मॉडलिंग और एक्टिंग में रुचि थी तो साथ-साथ मॉडलिंग और थिएटर भी करने लगीं। फिर मुंबई आकर ऑडिशन और एड शूट करने लगी। कुछ वेब सीरिज और टीवी शूट में काम मिला।

प्रीति ने एक इंटरव्यू में बताया- फिर अचानक जिंदगी में एक नया मोड़ आ गया। कोविड की वजह से शूटिंग बंद हो गई। सारे दोस्त अपने-अपने घर चले गए। उन्होंने बताया- जहां मैं रहती थी देखा कि वहां एक आंटी की डेथ हो गई, वो काफी यंग थीं। 

प्रीति ने एक इंटरव्यू में बताया- फिर अचानक जिंदगी में एक नया मोड़ आ गया। कोविड की वजह से शूटिंग बंद हो गई। सारे दोस्त अपने-अपने घर चले गए। उन्होंने बताया- जहां मैं रहती थी देखा कि वहां एक आंटी की डेथ हो गई, वो काफी यंग थीं। 

उन्होंने बताया- लोगों की ऐसी हालत देखकर मैंने सोचा मैं घर पर नहीं बैठूंगी बल्कि लोगों की मदद करूंगी। तब मैंने पता किया कि मुंबई के बांद्रा बीकेसी में एक जंबो कोविड सेंटर बनाया गया है। जहां एक्सपीरियंस हो ऐसी बहुत सारी नर्स की जरूरत है, लेकिन मिल नहीं रही। पिछले साल जून में मैंने जंबो कोविड सेंटर नर्सिंग स्टाफ के रूप में ज्वाइन किया। मैं दिन-रात कोविड पेशेंट्स के साथ काम करने लगी। 

उन्होंने बताया- लोगों की ऐसी हालत देखकर मैंने सोचा मैं घर पर नहीं बैठूंगी बल्कि लोगों की मदद करूंगी। तब मैंने पता किया कि मुंबई के बांद्रा बीकेसी में एक जंबो कोविड सेंटर बनाया गया है। जहां एक्सपीरियंस हो ऐसी बहुत सारी नर्स की जरूरत है, लेकिन मिल नहीं रही। पिछले साल जून में मैंने जंबो कोविड सेंटर नर्सिंग स्टाफ के रूप में ज्वाइन किया। मैं दिन-रात कोविड पेशेंट्स के साथ काम करने लगी। 

प्रीति ने बताया- मेरी मेहनत और डेडीकेशन देखकर डीन डॉ. राजेश डेरे ने मुझे नर्सिंग सुपरवाइजर बना दिया। इससे मेरा मोटीवेशन बढ़ा। तब से लेकर मैं लगातार दिनरात जुटी हूं। ईश्वर की कृपा से मुझे अभी तक कोविड नहीं हुआ। मैं पेशेंट को भी बता रही हूं कि सिर्फ सावधानी बरतिए, खुश रहिए तो आप इससे जीत सकते हैं। इस दूसरे चरण में कोविड ने अपना विकराल रूप ले लिया है। लगातार मरीज बढ़ रहे हैं। मैंने बहुत सारी मौतें देखी हैं। 

प्रीति ने बताया- मेरी मेहनत और डेडीकेशन देखकर डीन डॉ. राजेश डेरे ने मुझे नर्सिंग सुपरवाइजर बना दिया। इससे मेरा मोटीवेशन बढ़ा। तब से लेकर मैं लगातार दिनरात जुटी हूं। ईश्वर की कृपा से मुझे अभी तक कोविड नहीं हुआ। मैं पेशेंट को भी बता रही हूं कि सिर्फ सावधानी बरतिए, खुश रहिए तो आप इससे जीत सकते हैं। इस दूसरे चरण में कोविड ने अपना विकराल रूप ले लिया है। लगातार मरीज बढ़ रहे हैं। मैंने बहुत सारी मौतें देखी हैं। 

प्रीति ने बताया- मेरे पापा-मम्मी और दूसरे रिश्तेदार शुरू में डरते थे। सब बोलते थे तुम एक्टिंग छोड़कर घर वापस आ जाओ। पर मैंने उनको समझाया कि हमें नर्सिंग में शपथ दिलाई गई थी कि आपको कहीं भी मौका मिले तो मरीज की मदद करना है और इलाज में पीछे नहीं हटना है। मुझे ये शपथ पूरी करने का मौका मिला है तो मैं ये काम रही हूं।

प्रीति ने बताया- मेरे पापा-मम्मी और दूसरे रिश्तेदार शुरू में डरते थे। सब बोलते थे तुम एक्टिंग छोड़कर घर वापस आ जाओ। पर मैंने उनको समझाया कि हमें नर्सिंग में शपथ दिलाई गई थी कि आपको कहीं भी मौका मिले तो मरीज की मदद करना है और इलाज में पीछे नहीं हटना है। मुझे ये शपथ पूरी करने का मौका मिला है तो मैं ये काम रही हूं।

बता दें कि महज कुछ फिल्मों में नजर आने वाली अदिति गोवित्रिकर भी क्वालिफाइड गायनोलॉजिस्ट हैं। वो अभी सायकोलोजिस्ट के तौर पर भी काम कर रही हैं।

 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आइए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...। जब भी घर से बाहर निकलें मास्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

बता दें कि महज कुछ फिल्मों में नजर आने वाली अदिति गोवित्रिकर भी क्वालिफाइड गायनोलॉजिस्ट हैं। वो अभी सायकोलोजिस्ट के तौर पर भी काम कर रही हैं।

 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आइए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...। जब भी घर से बाहर निकलें मास्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios