Asianet News Hindi

करीना के चाचा राजीव कपूर ने 38 साल की उम्र में इनसे की थी शादी, लेकिन दो साल में ही टूट गया था रिश्ता

First Published Feb 9, 2021, 3:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। बॉलीवुड की सबसे बड़ी कपूर फैमिली के सदस्य राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) का मंगलवार को मुंबई में निधन हो गया। राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर ने 58 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। 25 अगस्त, 1962 को मुंबई में जन्मे राजीव कपूर ने 1984 में फिल्म 'आसमान' से डेब्यू किया था। हालांकि उन्हें बतौर एक्टर पहचान 1985 में आई फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली' से मिली। इसके बाद राजीव ने कुछ और फिल्मों में काम किया लेकिन बतौर एक्टर वो कामयाब नहीं हो पाए। 1999 में राजीव कपूर ने आखिरी बार फिल्म 'आ अब लौट चलें' को प्रोड्यूस की। 2001 में राजीव कपूर ने 38 साल की उम्र में आर्किटेक्ट आरती सभरवाल (Aarti Sabarwal) से शादी कर ली। 

हालांकि राजीव कपूर की शादीशुदा लाइफ भी कामयाब नहीं रही और शादी के महज दो साल बाद ही उनका पत्नी से तलाक हो गया। तलाक के बाद फिलहाल राजीव कपूर अपने भाई रणधीर कपूर के साथ ही रहते थे। वैसे, आरती सभरवाल ने भले ही राजीव से तलाक ले लिया था, लेकिन कपूर फैमिली से उनके अच्छे संबंध थे। 
 

हालांकि राजीव कपूर की शादीशुदा लाइफ भी कामयाब नहीं रही और शादी के महज दो साल बाद ही उनका पत्नी से तलाक हो गया। तलाक के बाद फिलहाल राजीव कपूर अपने भाई रणधीर कपूर के साथ ही रहते थे। वैसे, आरती सभरवाल ने भले ही राजीव से तलाक ले लिया था, लेकिन कपूर फैमिली से उनके अच्छे संबंध थे। 
 

राजीव कपूर पांच भाई-बहन हैं, जिनमें ऋषि कपूर का 9 महीने पहले अप्रैल, 2020 में निधन हो गया था। वहीं उनसे पहले बहन रितु नंदा ने भी जनवरी, 2020 में दुनिया को अलविदा कह दिया था। पांच भाई-बहनों में अब सिर्फ रणधीर कपूर और रीमा कपूर जीवित हैं। 

राजीव कपूर पांच भाई-बहन हैं, जिनमें ऋषि कपूर का 9 महीने पहले अप्रैल, 2020 में निधन हो गया था। वहीं उनसे पहले बहन रितु नंदा ने भी जनवरी, 2020 में दुनिया को अलविदा कह दिया था। पांच भाई-बहनों में अब सिर्फ रणधीर कपूर और रीमा कपूर जीवित हैं। 

राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर उर्फ ‘चिंपू’ का एक्टिंग करियर कुछ खास नहीं रहा। ‘राम तेरी गंगा मैली’ जैसी एकाध हिट फिल्म करने के बाद उनका करियर लगभग खत्म हो गया था, जिसके बाद उन्होंने प्रोडक्शन और डायरेक्शन में हाथ आजमाया। 
 

राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर उर्फ ‘चिंपू’ का एक्टिंग करियर कुछ खास नहीं रहा। ‘राम तेरी गंगा मैली’ जैसी एकाध हिट फिल्म करने के बाद उनका करियर लगभग खत्म हो गया था, जिसके बाद उन्होंने प्रोडक्शन और डायरेक्शन में हाथ आजमाया। 
 

राम तेरी गंगा मैली फिल्म तो सुपरहिट रही लेकिन इसका सारा क्रेडिट एक्ट्रेस मंदाकिनी को मिल गया। जैसे-जैसे फिल्म चर्चित होने लगी राजीव कपूर पिता राज कपूर से नाराज होते गए। इस फिल्म के बाद बाप-बेटे में काफी अनबन हो गई थी।

राम तेरी गंगा मैली फिल्म तो सुपरहिट रही लेकिन इसका सारा क्रेडिट एक्ट्रेस मंदाकिनी को मिल गया। जैसे-जैसे फिल्म चर्चित होने लगी राजीव कपूर पिता राज कपूर से नाराज होते गए। इस फिल्म के बाद बाप-बेटे में काफी अनबन हो गई थी।

'राम तेरी गंगा मैली' के बाद राज कपूर ने दोबारा कभी राजीव को लेकर कोई फिल्म नहीं बनाई। इस बात से राजीव पापा राज कपूर से से इतने नाराज थे कि वे पिता के मरने के बाद उनके अंतिम संस्कार में भी नहीं गए थे। 

'राम तेरी गंगा मैली' के बाद राज कपूर ने दोबारा कभी राजीव को लेकर कोई फिल्म नहीं बनाई। इस बात से राजीव पापा राज कपूर से से इतने नाराज थे कि वे पिता के मरने के बाद उनके अंतिम संस्कार में भी नहीं गए थे। 

राजीव कपूर ने अपने करियर में आसमान, मेरा साथी, लावा, जबर्दस्त, राम तेरी गंगा मैली, लवर ब्वॉय, अंगारे, जलजला, हम तो चले परदेस, नाग-नागिन और जिम्मेदार जैसी फिल्मों में बतौर एक्टर काम किया। 

राजीव कपूर ने अपने करियर में आसमान, मेरा साथी, लावा, जबर्दस्त, राम तेरी गंगा मैली, लवर ब्वॉय, अंगारे, जलजला, हम तो चले परदेस, नाग-नागिन और जिम्मेदार जैसी फिल्मों में बतौर एक्टर काम किया। 

राजीव कपूर ने बतौर एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर 1991 में आई फिल्म हिना और 1996 में आई प्रेमग्रंथ में काम किया। इसके बाद 1999 में उन्होंने बतौर प्रोड्यूसर फिल्म 'आ अब लौट चलें' बनाई। इसमें अक्षय खन्ना और ऐश्वर्या राय लीड रोल में थे। 

राजीव कपूर ने बतौर एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर 1991 में आई फिल्म हिना और 1996 में आई प्रेमग्रंथ में काम किया। इसके बाद 1999 में उन्होंने बतौर प्रोड्यूसर फिल्म 'आ अब लौट चलें' बनाई। इसमें अक्षय खन्ना और ऐश्वर्या राय लीड रोल में थे। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios