Asianet News Hindi

इन 4 वजहों से देख सकते हैं 'शिकारा', कश्मीरी पंडितों पर हुए जुल्म को दिखाती है फिल्म

First Published Feb 7, 2020, 4:58 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. डायरेक्टर विधु विनोद चोपड़ा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'शिकारा' शुक्रवार 7 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज की गई। इस फिल्म में कश्मीरियों के दर्द को देखने के लिए मिल रहा है। ये फिल्म उस दौर की कहानी को बयां करती है, जब कश्मीर में कश्मीरी पंडितों पर जुल्म किया गया था और उन्हें वहां से अपना सबकुछ छोड़कर भागना पड़ा था। शिकारा उसी दंगे की कहानी को बयां करती है साथ ही कश्मीरी पंडितों के दर्द को बयां करती है। फिल्म में सारे इमोशन्स और हर पड़ाव को बडे़ ही शालीन तरीके दिखाए गए हैं। इस मूवी को मीडिया रिपोर्ट्स में से 4 स्टार दिए जा रहे हैं। 

कहानी... शिकारी की कहानी एक सच्ची घटना पर आधारित है। इसमें कश्मीरी पंडितों के दर्द को दिखाया गया है। भले ही ये काला इतिहास रहा हो लेकिन, इस सच्ची घटना को लोगों को जरूर जानना चाहिए। इसमें कहानी है शिव कुमार धर और उसकी पत्नी शांति धर की, जो पंडित हैं और कश्मीर में शांत और खुशहाल जिंदगी बिता रहे हैं। ये समय 80s के अंत का है जहां घाटी में धीरे-धीरे सांप्रदायिक तनाव अपने पैर पसार रहा है। शिव और शांति को अपनी जिंदगी, अपनी जीवनभर की कमाई से बनाया घर और सुख को छोड़कर अपनी जान के लिए भागना पड़ेगा एक ऐसी जगह जो उनकी नहीं है।

कहानी... शिकारी की कहानी एक सच्ची घटना पर आधारित है। इसमें कश्मीरी पंडितों के दर्द को दिखाया गया है। भले ही ये काला इतिहास रहा हो लेकिन, इस सच्ची घटना को लोगों को जरूर जानना चाहिए। इसमें कहानी है शिव कुमार धर और उसकी पत्नी शांति धर की, जो पंडित हैं और कश्मीर में शांत और खुशहाल जिंदगी बिता रहे हैं। ये समय 80s के अंत का है जहां घाटी में धीरे-धीरे सांप्रदायिक तनाव अपने पैर पसार रहा है। शिव और शांति को अपनी जिंदगी, अपनी जीवनभर की कमाई से बनाया घर और सुख को छोड़कर अपनी जान के लिए भागना पड़ेगा एक ऐसी जगह जो उनकी नहीं है।

डायरेक्शन... विधु विनोद चोपड़ा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'शिकारा' का डायरेक्शन कमाल का है। फिल्म में कश्मीर में कश्मीरी पंडितों के साथ हुए बुरे बर्ताव के हर पहलू को छूने की कोशिश की है। इतिहास के उस काले पन्नू को विधु ने बेहतरीन तरीके से बड़े पर्दे पर उतारा है। इस फिल्म के जरिए से विधु विनोद चोपड़ा ने उन 4 लाख कश्मीरी पंडितों के बारे में बताया है, जो अपने वतन में भी गैरों की तरह ही रह रहे हैं।

डायरेक्शन... विधु विनोद चोपड़ा के डायरेक्शन में बनी फिल्म 'शिकारा' का डायरेक्शन कमाल का है। फिल्म में कश्मीर में कश्मीरी पंडितों के साथ हुए बुरे बर्ताव के हर पहलू को छूने की कोशिश की है। इतिहास के उस काले पन्नू को विधु ने बेहतरीन तरीके से बड़े पर्दे पर उतारा है। इस फिल्म के जरिए से विधु विनोद चोपड़ा ने उन 4 लाख कश्मीरी पंडितों के बारे में बताया है, जो अपने वतन में भी गैरों की तरह ही रह रहे हैं।

एक्टिंग... फिल्म 'शिकारा' से आदिल खान और सादिया ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है। इसमें आदिल ने शिव और सादिया ने शांति की रोल प्ले किया है, जो एक कश्मीरी पंडित होते हैं। इन दोनों ही एक्टर्स ने फिल्म में अच्छा काम किया है। शिव कुमार धर के किरदार में आदिल खान ने जान डाली है। इस फिल्म के जरिए दिखाने की कोशिश की गई है कि हर युद्ध का सबसे बड़ा हथियार प्यार है।

एक्टिंग... फिल्म 'शिकारा' से आदिल खान और सादिया ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है। इसमें आदिल ने शिव और सादिया ने शांति की रोल प्ले किया है, जो एक कश्मीरी पंडित होते हैं। इन दोनों ही एक्टर्स ने फिल्म में अच्छा काम किया है। शिव कुमार धर के किरदार में आदिल खान ने जान डाली है। इस फिल्म के जरिए दिखाने की कोशिश की गई है कि हर युद्ध का सबसे बड़ा हथियार प्यार है।

सॉन्ग... फिल्म के गाने भी कमाल के हैं। ए आर रहमान और कुतुब-ए-कृपा का कंपोज किया बैकग्राउंड स्कोर खूबसूरत है। फिल्म के गानों को इरशाद कामिल ने लिखा है जो बहुत बढ़िया हैं। सिंगर पापोन की आवाज में 'ऐ वादी शहजादी' सुनकर आपकी आंखों में आंसू आ जाएंगे।

सॉन्ग... फिल्म के गाने भी कमाल के हैं। ए आर रहमान और कुतुब-ए-कृपा का कंपोज किया बैकग्राउंड स्कोर खूबसूरत है। फिल्म के गानों को इरशाद कामिल ने लिखा है जो बहुत बढ़िया हैं। सिंगर पापोन की आवाज में 'ऐ वादी शहजादी' सुनकर आपकी आंखों में आंसू आ जाएंगे।

इस फिल्म के जरिए दिखाने की कोशिश की गई है कि हर युद्ध का सबसे बड़ा हथियार प्यार है।

इस फिल्म के जरिए दिखाने की कोशिश की गई है कि हर युद्ध का सबसे बड़ा हथियार प्यार है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios