विकास दुबे एनकाउंटर पर बन रहे ऐसे-ऐसे जोक्स, लोग Funny कमेंट्स कर उठा रहे सवाल

First Published 10, Jul 2020, 6:15 PM

मुंबई। 8 पुलिसकर्मियों का हत्यारा गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार को पुलिस एनकाउंटर में मारा गया। विकास गुरुवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था। उसे सड़क के रास्ते जिस गाड़ी से उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा था उसका एक्सीडेंट हो गया। इस दौरान विकास ने पुलिस की पिस्टल छीन हमला करने की कोशिश की तो जवाबी कार्रवाई में मारा गया। हालांकि सोशल मीडिया पर पुलिस की ये कहानी लोगों के गले नहीं उतर रही है और लोग जमकर मीम्स और जोक्स बना रहे हैं। विकास दुबे एनकाउंटर को जहां कई लोग फर्जी बता रहे हैं, तो वहीं कुछ ने इसे फिल्मी स्क्रिप्ट करार दिया है। सोशल मीडिया पर इस एनकाउंटर को लेकर फनी मीम्स जमकर वायरल हो रहे हैं।

<p>कानपुर देहात के बिकरू गांव में 2 जुलाई को पुलिस गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई थी। लेकिन विकास को इसकी सूचना पहले से लग गई। विकास और उसके साथी पहले से तैनात हो गए थे।</p>

कानपुर देहात के बिकरू गांव में 2 जुलाई को पुलिस गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई थी। लेकिन विकास को इसकी सूचना पहले से लग गई। विकास और उसके साथी पहले से तैनात हो गए थे।

<p>जैसे ही पुलिस विकास के घर पहुंची, विकास और उसके आसपास के घरों से फायरिंग शुरू हो गई। इसमें सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। हमलावर पुलिस के हथियार भी लूट ले गए थे।</p>

जैसे ही पुलिस विकास के घर पहुंची, विकास और उसके आसपास के घरों से फायरिंग शुरू हो गई। इसमें सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। हमलावर पुलिस के हथियार भी लूट ले गए थे।

<p>यूपी सरकार ने विकास और उसके साथियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस और एसटीएफ की कई टीमें बनाई थीं। 7 दिन में पुलिस ने विकास दुबे के कई साथियों को गिरफ्तार किया, वहीं कुछ साथी मुठभेड़ में मारे गए।</p>

यूपी सरकार ने विकास और उसके साथियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस और एसटीएफ की कई टीमें बनाई थीं। 7 दिन में पुलिस ने विकास दुबे के कई साथियों को गिरफ्तार किया, वहीं कुछ साथी मुठभेड़ में मारे गए।

<p>गुरुवार को विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ था। विकास ने मंदिर में खुद बताया था कि वह कानपुर वाला विकास दुबे है।</p>

गुरुवार को विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ था। विकास ने मंदिर में खुद बताया था कि वह कानपुर वाला विकास दुबे है।

<p>पुलिस के मुताबिक, विकास दुबे को उज्जैन से सड़क के रास्ते कानपुर ले जाया जा रहा था। उसी वक्त एसटीएफ की जिस कार से विकास दुबे लाया जा रहा था, उसका एक्सीडेंट हो गया।</p>

पुलिस के मुताबिक, विकास दुबे को उज्जैन से सड़क के रास्ते कानपुर ले जाया जा रहा था। उसी वक्त एसटीएफ की जिस कार से विकास दुबे लाया जा रहा था, उसका एक्सीडेंट हो गया।

<p>इसके बाद विकास ने पुलिसवाले की पिस्टल छीनकर फायरिंग कर भागने की कोशिश की। जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे ढेर हो गया।</p>

इसके बाद विकास ने पुलिसवाले की पिस्टल छीनकर फायरिंग कर भागने की कोशिश की। जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे ढेर हो गया।

<p>बताया जा रहा है कि जब पुलिस ने हथियार छीनकर भागने की कोशिश की, तो पुलिस ने उसे आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। लेकिन विकास दुबे नहीं माना। उसने पुलिसकर्मियों पर फायरिंग भी की। जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया।</p>

बताया जा रहा है कि जब पुलिस ने हथियार छीनकर भागने की कोशिश की, तो पुलिस ने उसे आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। लेकिन विकास दुबे नहीं माना। उसने पुलिसकर्मियों पर फायरिंग भी की। जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया।

<p>बता दें कि विकास दुबे गिरफ्तारी के महज 21 घंटे बाद ही मारा गया। उसे गुरुवार 9 जुलाई को सुबह 9 बजे उज्जैन से गिरफ्तार किया गया था। सुबह करीब साढ़े 6 बजे वो पुलिस एनकाउंटर में मारा गया। </p>

बता दें कि विकास दुबे गिरफ्तारी के महज 21 घंटे बाद ही मारा गया। उसे गुरुवार 9 जुलाई को सुबह 9 बजे उज्जैन से गिरफ्तार किया गया था। सुबह करीब साढ़े 6 बजे वो पुलिस एनकाउंटर में मारा गया। 

<p>विकास दुबे पर हत्या और लूट समेत पहले से ही 60 से ज्यादा केस दर्ज थे।</p>

विकास दुबे पर हत्या और लूट समेत पहले से ही 60 से ज्यादा केस दर्ज थे।

<p>इससे पहले बुधवार देर रात विकास दुबे का एक और करीबी प्रभात मिश्रा मारा गया था। प्रभात को पुलिस ने बुधवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया था। </p>

इससे पहले बुधवार देर रात विकास दुबे का एक और करीबी प्रभात मिश्रा मारा गया था। प्रभात को पुलिस ने बुधवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया था। 

<p>यूपी पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ले जा रही थी। रास्ते में प्रभात ने भागने की कोशिश की, उसने पुलिस की पिस्टल छीनकर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में प्रभात मारा गया। <br />
 </p>

यूपी पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ले जा रही थी। रास्ते में प्रभात ने भागने की कोशिश की, उसने पुलिस की पिस्टल छीनकर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में प्रभात मारा गया। 
 

<p>पुलिस ने बुधवार को ही विकास के करीबी अमर दुबे का भी एनकाउंटर कर दिया था। अमर हमीरपुर में छिपा था। अब तक विकास गैंग के 5 लोग एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं।</p>

पुलिस ने बुधवार को ही विकास के करीबी अमर दुबे का भी एनकाउंटर कर दिया था। अमर हमीरपुर में छिपा था। अब तक विकास गैंग के 5 लोग एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं।

loader