Asianet News Hindi

सिर्फ 1 रुपये में 24 कैरेट सोना खरीदने का मौका! इस तरह बना सकते हैं रुपये

First Published May 26, 2020, 4:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से सर्राफा बाजार बंद होने से सोना-चांदी की मांग में सुस्ती देखने को मिल रही है, लेकिन इंटरनेशनल मार्केट्स में गोल्ड के भाव में काफी तेजी आई है। एक्स्पर्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से निवेशकों का रुख शेयर मार्केट की जगह सोने में निवेश पर चला गया है। यही वजह है कि सोना महंगा होता जा रहा है। ज्यादातर लोग इस इंतजार में हैं कि सोने का भाव कम हो तो इसे खरीदें, लेकिन जो लोग गोल्ड में निवेश करना चाहते हैं, वे कभी भी इसे खरीद सकते हैं। सबसे बड़ी बात तो यह कि अब सोना एक रुपये में खरीदा जा सकता है। बहुत से लोगों को शायद इस पर यकीन नहीं हो, लेकिन यह पूरी तरह सच है। जानें इसके बारे में। 
 

डिजिटल गोल्ड में कर सकते हैं निवेश
अब जरूरी नहीं है कि पहले की तरह आप गोल्ड खरीद कर उसे अपने पास रखें। अब गोल्ड में डिजिटल निवेश किया जाने लगा है। कई कंपनियां डिजिटल गोल्ड में निवेश करा रही हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि कोई भी इसे खरीद सकता है और इसके लिए बड़ी रकम की जरूरत नहीं है। छोटी रकम जमा कर के भी गोल्ड खरीदा जा सकता है।

डिजिटल गोल्ड में कर सकते हैं निवेश
अब जरूरी नहीं है कि पहले की तरह आप गोल्ड खरीद कर उसे अपने पास रखें। अब गोल्ड में डिजिटल निवेश किया जाने लगा है। कई कंपनियां डिजिटल गोल्ड में निवेश करा रही हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि कोई भी इसे खरीद सकता है और इसके लिए बड़ी रकम की जरूरत नहीं है। छोटी रकम जमा कर के भी गोल्ड खरीदा जा सकता है।

पेमेंट वॉलेट कंपनियां देती हैं सुविधा
कई पेमेंट वॉलेट कंपनिया डिजिटल गोल्ड अकाउंट खोलने की सुविधा देती हैं। भारत में पेटीएम, गूगल-पे, फोन-पे जैसी पेमेंट वॉलेट कंपनियां यह सुविधा दे रही हैं। डिजिटल गोल्ड खरीदने में सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें सिर्फ 24 कैरेट सोने की कीमत में ही निवेश होता है, जबकि ऐसे सोना खरीदने में उसमें लगे दूसरे स्टोन की कीमत भी आंकी जाती है और उसे लॉकर में रखना भी महंगा पड़ता है। 
 

पेमेंट वॉलेट कंपनियां देती हैं सुविधा
कई पेमेंट वॉलेट कंपनिया डिजिटल गोल्ड अकाउंट खोलने की सुविधा देती हैं। भारत में पेटीएम, गूगल-पे, फोन-पे जैसी पेमेंट वॉलेट कंपनियां यह सुविधा दे रही हैं। डिजिटल गोल्ड खरीदने में सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें सिर्फ 24 कैरेट सोने की कीमत में ही निवेश होता है, जबकि ऐसे सोना खरीदने में उसमें लगे दूसरे स्टोन की कीमत भी आंकी जाती है और उसे लॉकर में रखना भी महंगा पड़ता है। 
 

डिजिटल गोल्ड का क्या है मतलब
डिजिटल गोल्ड के लिए आपको बाजार से खरीददारी नहीं करनी पड़ती है। इसमें 24 कैरेट गोल्ड ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। इसमें जितना ज्यादा निवेश किया जाएगा, गोल्ड उतना ही सुरक्षित रहेगा। इस तरह से सोना खरीदने पर अलग से किसी तरह का चार्ज भी नहीं देना पड़ता है। डिजिटल गोल्ड में निवेश कराने वाली कंपनियां 2 साल तक कोई चार्ज नहीं लेती हैं और 2 साल के बाद मामूली चार्ज देना पड़ता है। वॉलेट में डिजिटल गोल्ड रखने की अधिकतम सीमा 5 साल है।

डिजिटल गोल्ड का क्या है मतलब
डिजिटल गोल्ड के लिए आपको बाजार से खरीददारी नहीं करनी पड़ती है। इसमें 24 कैरेट गोल्ड ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। इसमें जितना ज्यादा निवेश किया जाएगा, गोल्ड उतना ही सुरक्षित रहेगा। इस तरह से सोना खरीदने पर अलग से किसी तरह का चार्ज भी नहीं देना पड़ता है। डिजिटल गोल्ड में निवेश कराने वाली कंपनियां 2 साल तक कोई चार्ज नहीं लेती हैं और 2 साल के बाद मामूली चार्ज देना पड़ता है। वॉलेट में डिजिटल गोल्ड रखने की अधिकतम सीमा 5 साल है।

डिजिटल गोल्ड के हैं 8 करोड़ खाते
डिजिटल गोल्ड की शुरुआत साल 2012 में हुई। शुरुआती दौर में लोग इस तरह का निवेश करने से बचते थे, क्योंकि उन्हें इस पर भरोसा नहीं था। लेकिन धीरे-धीरे निवेश का यह तरीका पॉपुलर होता चला गया। आंकड़ों के मुताबिक, फिलहाल वॉलेट कंपनियों के पास डिजिटल गोल्ड के करीब 8 करोड़ खाते हैं। पेटीएम, गूगल-पे, फोन-पे जैसे वॉलेट के अलावा कई कंपनियां अब डिजिटल गोल्ड से बिना किसी शुल्क के जूलरी बनवाने की सुविधा भी दे रही हैं

डिजिटल गोल्ड के हैं 8 करोड़ खाते
डिजिटल गोल्ड की शुरुआत साल 2012 में हुई। शुरुआती दौर में लोग इस तरह का निवेश करने से बचते थे, क्योंकि उन्हें इस पर भरोसा नहीं था। लेकिन धीरे-धीरे निवेश का यह तरीका पॉपुलर होता चला गया। आंकड़ों के मुताबिक, फिलहाल वॉलेट कंपनियों के पास डिजिटल गोल्ड के करीब 8 करोड़ खाते हैं। पेटीएम, गूगल-पे, फोन-पे जैसे वॉलेट के अलावा कई कंपनियां अब डिजिटल गोल्ड से बिना किसी शुल्क के जूलरी बनवाने की सुविधा भी दे रही हैं

सिर्फ एक रुपये से हो सकता है निवेश
डिजिटल गोल्ड में निवेश करना काफी सस्ता है। इससे कोई भी व्यक्ति इसमें निवेश कर सकता है। डिजिटल गोल्ड में सिर्फ एक रुपये से भी निवेश किया जा सकता है। वैसे, अलग-अलग कंपनियों की अलग-अलग शर्तें हो सकती हैं। 

सिर्फ एक रुपये से हो सकता है निवेश
डिजिटल गोल्ड में निवेश करना काफी सस्ता है। इससे कोई भी व्यक्ति इसमें निवेश कर सकता है। डिजिटल गोल्ड में सिर्फ एक रुपये से भी निवेश किया जा सकता है। वैसे, अलग-अलग कंपनियों की अलग-अलग शर्तें हो सकती हैं। 

कोई मेकिंग चार्ज नहीं
डिजिटल गोल्ड में सबसे बड़ा फायदा यह है कि किसी तरह का कोई मेकिंग चार्ज नहीं लगता, जबकि सोने की जूलरी की खरीद में मेकिंग चार्ज भी देना पड़ता है। ज्वैलर्स सोने के गहनों की खरीद पर 5 से 13 फीसदी तक मेकिंग चार्ज वसूल करते हैं। 
 

कोई मेकिंग चार्ज नहीं
डिजिटल गोल्ड में सबसे बड़ा फायदा यह है कि किसी तरह का कोई मेकिंग चार्ज नहीं लगता, जबकि सोने की जूलरी की खरीद में मेकिंग चार्ज भी देना पड़ता है। ज्वैलर्स सोने के गहनों की खरीद पर 5 से 13 फीसदी तक मेकिंग चार्ज वसूल करते हैं। 
 

शुद्धता की गारंटी
डिजिटल गोल्ड में 24 कैरेट की शुद्धता की गांरटी मिलती है। इसमें आप बाजार के मौजूदा भाव पर आप गोल्ड की खरीद-बिक्री कर सकते हैं।
 

शुद्धता की गारंटी
डिजिटल गोल्ड में 24 कैरेट की शुद्धता की गांरटी मिलती है। इसमें आप बाजार के मौजूदा भाव पर आप गोल्ड की खरीद-बिक्री कर सकते हैं।
 

सुरक्षित रहता है निवेश
डिजिटल गोल्ड में आपका पैसा सुरक्षित रहता है। यह किसी बैंक के खाते में जमा रकम की तरह होता है। आपको गोल्ड की सुरक्षा की कोई चिंता नहीं करनी पड़ती।

सुरक्षित रहता है निवेश
डिजिटल गोल्ड में आपका पैसा सुरक्षित रहता है। यह किसी बैंक के खाते में जमा रकम की तरह होता है। आपको गोल्ड की सुरक्षा की कोई चिंता नहीं करनी पड़ती।

कहीं से भी खरीद सकते हैं
डिजिटल गोल्ड अकाउंट से सोने की खरीद या बिक्री में समय नहीं लगता। इसे कहीं से और किसी भी वॉलेट कंपनी से खरीदा जा सकता है। सारी प्रक्रिया ऑनलाइन होती है। 

कहीं से भी खरीद सकते हैं
डिजिटल गोल्ड अकाउंट से सोने की खरीद या बिक्री में समय नहीं लगता। इसे कहीं से और किसी भी वॉलेट कंपनी से खरीदा जा सकता है। सारी प्रक्रिया ऑनलाइन होती है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios