Asianet News Hindi

मुकेश अंबानी का नया बिजनेस 'प्लान', जियो के बाद इस कारोबार से करने जा रहे हैं बड़ा धमाका

First Published Feb 25, 2020, 11:43 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई: मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो के बाद एक बार फिर से मार्केट में धूम मचाने की तैयारी में है। रिलायंस कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने Decode CEO 2020 सम्मेलन में माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्य नडेला से बात करते हुए कहा की भारत में ऑनलाइन गेमिंग एक बड़ी इंडस्ट्री हो सकती है। अंबानी के कहा कि अभी इंडिया में गेमिंग बहुत मशहुर नहीं है लेकिन आने वाले समय में इसकी मांग भारत में बढ़ेगी।

दरसल मुंबई में चल रहे Decode CEO 2020 समिट में मुकेश अंबानी और सत्य नाडेला शामिल हुए, जहां दोनों के बीच बातचीत हुई। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि आज देश का मोबाइल नेटवर्क दुनिया के किसी भी नेटवर्क से बेहतर या उसके समकक्ष हो चुका है, ऐसे में भारत के पास एक ‘प्रमुख डिजिटल समाज’ बनने का अवसर है।

दरसल मुंबई में चल रहे Decode CEO 2020 समिट में मुकेश अंबानी और सत्य नाडेला शामिल हुए, जहां दोनों के बीच बातचीत हुई। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि आज देश का मोबाइल नेटवर्क दुनिया के किसी भी नेटवर्क से बेहतर या उसके समकक्ष हो चुका है, ऐसे में भारत के पास एक ‘प्रमुख डिजिटल समाज’ बनने का अवसर है।

मुकेश अंबानी ने कहा कि ''हम जैसे लोग जिन्हें गेमिंग का मतलब नहीं पता, हमारे लिए ये सोचना बहुत ही  मुश्किल था की गेमिंग आज के समय म्यूजिक,मूवीज और टीवी शोज से बड़ा हो गया है।''

मुकेश अंबानी ने कहा कि ''हम जैसे लोग जिन्हें गेमिंग का मतलब नहीं पता, हमारे लिए ये सोचना बहुत ही मुश्किल था की गेमिंग आज के समय म्यूजिक,मूवीज और टीवी शोज से बड़ा हो गया है।''

आंकड़ों के अनुसार, भारत उभरती अर्थव्यवस्थाओं के बीच गेम डाउनलोड के लिए सबसे बड़े बाजारों में से एक है और पिछले कुछ सालों में यहां गेमिंग का बाजार तेजी से बढ़ा है। अधिकांश स्मार्टफोन यूजर्स गेमिंग पर औसतन एक घंटे का समय बिताते हैं। इसके कारण, भारत में अब गेमिंग उत्पादों की खपत के साथ बढ़ी है।

आंकड़ों के अनुसार, भारत उभरती अर्थव्यवस्थाओं के बीच गेम डाउनलोड के लिए सबसे बड़े बाजारों में से एक है और पिछले कुछ सालों में यहां गेमिंग का बाजार तेजी से बढ़ा है। अधिकांश स्मार्टफोन यूजर्स गेमिंग पर औसतन एक घंटे का समय बिताते हैं। इसके कारण, भारत में अब गेमिंग उत्पादों की खपत के साथ बढ़ी है।

आपको बता दें की रिलायंस ने हाल ही में  एक गेमिंग कंसोल लॉन्च किया था जो जियो सेट टॉप बॉक्स के जैसा था।

आपको बता दें की रिलायंस ने हाल ही में एक गेमिंग कंसोल लॉन्च किया था जो जियो सेट टॉप बॉक्स के जैसा था।

अंबानी ने कहा कि जियो से पहले देश में डेटा का मूल्य 300 से 500 रुपये प्रति जीबी था। देश के सबसे गरीब 2जी का इस्तेमाल करने वालों के लिए यह 10,000 रुपये एक जीबी थी। जियो के बाद यह कीमत घटकर 12 से 14 रुपये प्रति जीबी रह गई है।

अंबानी ने कहा कि जियो से पहले देश में डेटा का मूल्य 300 से 500 रुपये प्रति जीबी था। देश के सबसे गरीब 2जी का इस्तेमाल करने वालों के लिए यह 10,000 रुपये एक जीबी थी। जियो के बाद यह कीमत घटकर 12 से 14 रुपये प्रति जीबी रह गई है।

इस बातचीत के मौके पर अंबानी ने नडेला की ओर इशारा करते हुए कहा कि ''अगली पीढ़ी काफी अलग भारत देखेगी, यह उस भारत से भिन्न होगा जिसमें आप और हम पले बढ़े हैं। अंबानी ने कहा कि रिलायंस की स्थापना उनके पिता पांच दशक पूर्व एक स्टार्टअप के रूप में एक कुर्सी-मेज और 1,000 रुपये की पूंजी के साथ की थी।''

इस बातचीत के मौके पर अंबानी ने नडेला की ओर इशारा करते हुए कहा कि ''अगली पीढ़ी काफी अलग भारत देखेगी, यह उस भारत से भिन्न होगा जिसमें आप और हम पले बढ़े हैं। अंबानी ने कहा कि रिलायंस की स्थापना उनके पिता पांच दशक पूर्व एक स्टार्टअप के रूप में एक कुर्सी-मेज और 1,000 रुपये की पूंजी के साथ की थी।''

अंबानी ने कहा, ''मैं ऐसा सिर्फ यह बताने के लिए कह रहा हूं कि भारत में सभी छोटे कारोबारी और उद्यमियों के पास धीरूभाई अंबानी या बिल गेट्स बनने का अवसर है। यह शक्ति है, जो भारत को शेष दुनिया से अलग करती है।''

अंबानी ने कहा, ''मैं ऐसा सिर्फ यह बताने के लिए कह रहा हूं कि भारत में सभी छोटे कारोबारी और उद्यमियों के पास धीरूभाई अंबानी या बिल गेट्स बनने का अवसर है। यह शक्ति है, जो भारत को शेष दुनिया से अलग करती है।''

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios