गले तक कर्ज में डूबे अनिल अंबानी बेशुमार प्रॉपर्टीज के मालिक, कई हजार करोड़ में है इस 'मुख्यालय' की कीमत

First Published 10, Jul 2020, 5:36 PM

बिजनेस डेस्क। भारत के जाने-माने कारोबारी अनिल अंबानी भले ही इस वक्त कर्ज की वजह से वित्तीय मुश्किलों का सामना कर रहे हैं, मगर अब भी उनके पास कई ऐसी प्रॉपर्टीज हैं जिनकी कीमत बेशुमार है। अनिल की ये प्रॉपर्टीज खुद उनकी बनाई हैं और कुछ पिता धीरूभाई अंबानी के निधन के बाद भाई मुकेश अंबानी से बंटवारे में मिली थीं। इन्हीं में से एक बेशकीमती संपत्ति है मुंबई में उनके रिलायंस ग्रुप का मुख्यालय। 
 

<p>मुंबई में अनिल अंबानी का मुख्यालय सांताक्रूज में है। इसे रिलायंस सेंटर के नाम से जाना जाता है। करीब 7 लाख स्‍क्‍वायर फीट में फैले इस मुख्यालय की कीमत 1,500-2,000 करोड़ रुपये के बीच आंकी गई है। इस इमारत का मालिकाना रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर के पास है। <br />
 </p>

मुंबई में अनिल अंबानी का मुख्यालय सांताक्रूज में है। इसे रिलायंस सेंटर के नाम से जाना जाता है। करीब 7 लाख स्‍क्‍वायर फीट में फैले इस मुख्यालय की कीमत 1,500-2,000 करोड़ रुपये के बीच आंकी गई है। इस इमारत का मालिकाना रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर के पास है। 
 

<p>अनिल अंबानी की ये प्रॉपर्टी सांताक्रूज के प्राइम लोकेशन पर है। पिछले साल भी कर्ज चुकाने के लिए इसे बेचने की खबरें भी सामने आई थीं। ईटी ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि कर्ज चुकाने के प्रयास में लगे अनिल इस प्रॉपर्टी को बेचने के लिए डील कर रहे हैं। </p>

अनिल अंबानी की ये प्रॉपर्टी सांताक्रूज के प्राइम लोकेशन पर है। पिछले साल भी कर्ज चुकाने के लिए इसे बेचने की खबरें भी सामने आई थीं। ईटी ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि कर्ज चुकाने के प्रयास में लगे अनिल इस प्रॉपर्टी को बेचने के लिए डील कर रहे हैं। 

<p>कुछ ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी फर्म्स के साथ डील की चर्चाएं सामने आई थीं। हालांकि आधिकारिक रूप से कुछ भी सामने नहीं आ पाया था। अब एक बार फिर कर्ज के मामलों में अनिल बुरी तरह फंस गए हैं। इसकी वजह से उनकी सम्पत्तियों पर भी खतरा है।</p>

कुछ ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी फर्म्स के साथ डील की चर्चाएं सामने आई थीं। हालांकि आधिकारिक रूप से कुछ भी सामने नहीं आ पाया था। अब एक बार फिर कर्ज के मामलों में अनिल बुरी तरह फंस गए हैं। इसकी वजह से उनकी सम्पत्तियों पर भी खतरा है।

<p>एक तरफ चीनी बैंकों के कर्ज मामले में लंदन की कोर्ट ने अनिल अंबानी से सम्पत्तियों और आय से जुड़े ब्यौरे देने की डेडलाइन दी है। कर्ज चुका पाने की एक समय सीमा पूरी नहीं कर पाए अनिल को लंदन की कोर्ट ने जेल भेजने तक की बात कही है। </p>

एक तरफ चीनी बैंकों के कर्ज मामले में लंदन की कोर्ट ने अनिल अंबानी से सम्पत्तियों और आय से जुड़े ब्यौरे देने की डेडलाइन दी है। कर्ज चुका पाने की एक समय सीमा पूरी नहीं कर पाए अनिल को लंदन की कोर्ट ने जेल भेजने तक की बात कही है। 

<p>दूसरी तरफ भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने भी बकाए कर्ज की वसूली के लिए ट्रिब्यूनल का सहारा लिया है। एसबीआई ने दिवाला प्रक्रिया के तहत ट्रिब्यूनल से कर्ज जल्द वसूली की मांग की है। </p>

दूसरी तरफ भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने भी बकाए कर्ज की वसूली के लिए ट्रिब्यूनल का सहारा लिया है। एसबीआई ने दिवाला प्रक्रिया के तहत ट्रिब्यूनल से कर्ज जल्द वसूली की मांग की है। 

<p>अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्यूनिकेशन डूब चुकी है। कभी ये कंपनी भारत की अग्रणी टेलिकॉम कंपनियों में शुमार थी। इसी कंपनी पर चीन के तीन बैंकों का हजारों करोड़ रुपये का कर्ज है। </p>

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्यूनिकेशन डूब चुकी है। कभी ये कंपनी भारत की अग्रणी टेलिकॉम कंपनियों में शुमार थी। इसी कंपनी पर चीन के तीन बैंकों का हजारों करोड़ रुपये का कर्ज है। 

<p>अनिल के ग्रुप पर करीब 1 लाख करोड़ से ज्‍यादा का कर्ज है। मार्च 2018 में जो आंकड़े आए थे उसके मुताबिक रिलायंस ग्रुप के रिलायंस कैपिटल पर 46,400 करोड़, रिलायंस कम्यूनिकेशन पर 47, 234 करोड़, रिलायंस होम फाइनेंस और इंफ्रा पर करीब 36,000 करोड़ जबकि रिलायंस पावर पर 31, 000 करोड़ की बात सामने आई है। </p>

अनिल के ग्रुप पर करीब 1 लाख करोड़ से ज्‍यादा का कर्ज है। मार्च 2018 में जो आंकड़े आए थे उसके मुताबिक रिलायंस ग्रुप के रिलायंस कैपिटल पर 46,400 करोड़, रिलायंस कम्यूनिकेशन पर 47, 234 करोड़, रिलायंस होम फाइनेंस और इंफ्रा पर करीब 36,000 करोड़ जबकि रिलायंस पावर पर 31, 000 करोड़ की बात सामने आई है। 

<p>अनिल अंबानी कर्ज की वजह से मुश्किलों में जरूर हैं लेकिन उन्हें भरोसा है कि वो जल्द ही इस लफड़े से बाहर निकल आएंगे। पिछले दिनों AGM में उन्होंने प्रमोटर्स और निवेशकों को भी यही भरोसा दिया था। </p>

अनिल अंबानी कर्ज की वजह से मुश्किलों में जरूर हैं लेकिन उन्हें भरोसा है कि वो जल्द ही इस लफड़े से बाहर निकल आएंगे। पिछले दिनों AGM में उन्होंने प्रमोटर्स और निवेशकों को भी यही भरोसा दिया था। 

loader