Asianet News Hindi

एक ही जगह नहीं इन्वेस्ट करें पूरा पैसा, इन छोटी-छोटी बातों का रखें ध्यान नहीं होगी पैसों की कमी

First Published May 14, 2021, 3:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क. कोरोना संक्रमण के कारण बीते एक सालों से लोगों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। इस तरह की बीमारी से निपटने के लिए पैसों का इंतजाम भविष्य के लिए करके रखना चाहिए। हम आपको बता रहे हैं कि ऐसी स्थिति से निपटने के लिए आपको क्या करना चाहिए। कहां आपको अपना पैसा लगाना चाहिए और किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि संकट के समय में आपका इन्वेस्टमेंट प्लान आपको कई मुश्किलों से निकाल सकता है। जानते हैं कैसे करें पैसों का सही इन्वेस्टमेंट।

इमरजेंसी फंड बनाएं
सबसे पहले आपको इमरजेंसी फंड बनाना चाहिए। अगर किसी वजह से आप आर्थिक संकट में फसंते हैं तो कम से कम आपके पास इतने पैसे होने चाहिए की आप अपने परिवार के लिए खाने-पीने के साथ अनिवार्य चीजों की पूर्ति कर सकें। इसके लिए आप कम से कम एक इमरजेंसी फंड बनाकर रखें। यह फंड आप बैंक के सेविंग अकाउंट या म्यूचुअल फंड के लिक्विड फंड में बना सकते हैं। ध्यान रखें इस पंड का यूज आपको केवल इमरजेंसी के समय ही करना है। 

इमरजेंसी फंड बनाएं
सबसे पहले आपको इमरजेंसी फंड बनाना चाहिए। अगर किसी वजह से आप आर्थिक संकट में फसंते हैं तो कम से कम आपके पास इतने पैसे होने चाहिए की आप अपने परिवार के लिए खाने-पीने के साथ अनिवार्य चीजों की पूर्ति कर सकें। इसके लिए आप कम से कम एक इमरजेंसी फंड बनाकर रखें। यह फंड आप बैंक के सेविंग अकाउंट या म्यूचुअल फंड के लिक्विड फंड में बना सकते हैं। ध्यान रखें इस पंड का यूज आपको केवल इमरजेंसी के समय ही करना है। 

लाइफ और हेल्थ इंश्योरेंस है जरूरी
संकट के समय में आपके पास मेडिकल और लाइफ इंश्योरेंस का प्लान होना जरूरी है। अगर कभी आपके पास मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति आती है तो आप हेल्थ पॉलिसी के जरिए इसे पूरा कर सकते हैं। अगर आपके पास हेल्थ पॉलिसी नहीं होगी तो आप के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। 
 

लाइफ और हेल्थ इंश्योरेंस है जरूरी
संकट के समय में आपके पास मेडिकल और लाइफ इंश्योरेंस का प्लान होना जरूरी है। अगर कभी आपके पास मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति आती है तो आप हेल्थ पॉलिसी के जरिए इसे पूरा कर सकते हैं। अगर आपके पास हेल्थ पॉलिसी नहीं होगी तो आप के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। 
 

कर्ज लेने से बचें
बिना कारण या जरूरत से ज्यादा कर्ज या लोन लेना आपको मुश्किल में डाल सकते हैं। अगर समय में आप किस्त नहीं भर पाते हैं तो आपका सिविल स्कोर खराब होगा और ब्याज भी बढ़ता है। इसीलिए संकट के समय में जब जरूरी हो तभी कर्ज लें।

कर्ज लेने से बचें
बिना कारण या जरूरत से ज्यादा कर्ज या लोन लेना आपको मुश्किल में डाल सकते हैं। अगर समय में आप किस्त नहीं भर पाते हैं तो आपका सिविल स्कोर खराब होगा और ब्याज भी बढ़ता है। इसीलिए संकट के समय में जब जरूरी हो तभी कर्ज लें।

एक ही जगह नहीं इन्वेस्ट करें पैसा
अपना पूरा पैसा एक ही जगह इन्वेस्ट नहीं करें। अपने पैसे को दो से तीन- जगहों में इन्वेस्ट करें। एक ही जगह पैसा लगा देने से पैसे डूबने का भी डर रहता है क्योंकि मार्केट में लगातार उतार-चढ़ाव होता रहता है इसलिए पैसे को अलग-अलग जगहों पर लगाएं।  

एक ही जगह नहीं इन्वेस्ट करें पैसा
अपना पूरा पैसा एक ही जगह इन्वेस्ट नहीं करें। अपने पैसे को दो से तीन- जगहों में इन्वेस्ट करें। एक ही जगह पैसा लगा देने से पैसे डूबने का भी डर रहता है क्योंकि मार्केट में लगातार उतार-चढ़ाव होता रहता है इसलिए पैसे को अलग-अलग जगहों पर लगाएं।  

पार्टनर को दें अपने निवेश की जानकारी
आपने जहां भी और जितना भी निवेश कर रखा है इसकी जानकारी अपने पार्टनर को जरूर बताएं। ताकि विपरीत समय पर उसका उपयोग कर सके। अपने निवेश की जानकारी अपने पार्टनर से छुपाकर नहीं करें।  

पार्टनर को दें अपने निवेश की जानकारी
आपने जहां भी और जितना भी निवेश कर रखा है इसकी जानकारी अपने पार्टनर को जरूर बताएं। ताकि विपरीत समय पर उसका उपयोग कर सके। अपने निवेश की जानकारी अपने पार्टनर से छुपाकर नहीं करें।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios