Asianet News Hindi

हर महीने लाखों में कमाई, ये बिजनेस शुरू कर कोई भी बदल सकता है अपनी किस्मत; सरकार से मिलेगी मदद

First Published Jun 10, 2020, 3:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के चलते कारोबार जगत पर बहुत बुरा असर पड़ा है। बहुत सी कंपनियों में छंटनी हो रही है। ऐसे में, लोगों के लिए रोजगार के दूसरे विकल्पों पर ध्यान देना जरूरी हो गया है। कई ऐसे व्यवसाय हैं, जिनमें कम लागत से भी अच्छा मुनाफा हासिल किया जा सकता है। इनमें पूंजी डूबने का रिस्क भी नहीं रहता। डेयरी प्रोडक्ट्स का कारोबार भी इसी तरह का है। डेयरी प्रोडक्ट्स की डिमांड हमेशा बनी रहती है। इस व्यवसाय में घाटा होने की गुंजाइश कम ही रतही है। डेयरी प्रोडक्ट्स के कारोबार में 5 लाख रुपए के निवेश से हर महीने 70 हजार रुपए तक की कमाई की जा सकती है।

डेयरी कारोबार में तय करने होंगे प्रोडक्ट्स
डेयरी प्रोडक्ट्स में कई तरह की चीजें आती हैं। आप जिन प्रोडक्ट्स को बनाएंगे, उसी के हिसाब से लागत आएगी। आप चाहें तो फ्लेवर्ड मिल्क, दही, बटर, बटर मिल्क, और घी बना कर बेच सकते हैं। बाद में आप चाहें तो और भी प्रोडक्ट्स जोड़ सकते हैं। 

डेयरी कारोबार में तय करने होंगे प्रोडक्ट्स
डेयरी प्रोडक्ट्स में कई तरह की चीजें आती हैं। आप जिन प्रोडक्ट्स को बनाएंगे, उसी के हिसाब से लागत आएगी। आप चाहें तो फ्लेवर्ड मिल्क, दही, बटर, बटर मिल्क, और घी बना कर बेच सकते हैं। बाद में आप चाहें तो और भी प्रोडक्ट्स जोड़ सकते हैं। 

केंद्र सरकार की योजना से मिलेगी मदद
डेयरी प्रोडक्ट का कारोबार शुरू करने के लिए मोदी सरकार की प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना से पूंजी का इंतजाम किया जा सकता है। इस योजना के तहत न सिर्फ पैसे की मदद मिलेगी, बल्कि सरकार पूरे प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देगी। इस कारोबार को शुरू करने के पहले इसके बारे में हर जरूरी जानकारी हासिल करना बेहतर होगा।

केंद्र सरकार की योजना से मिलेगी मदद
डेयरी प्रोडक्ट का कारोबार शुरू करने के लिए मोदी सरकार की प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना से पूंजी का इंतजाम किया जा सकता है। इस योजना के तहत न सिर्फ पैसे की मदद मिलेगी, बल्कि सरकार पूरे प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देगी। इस कारोबार को शुरू करने के पहले इसके बारे में हर जरूरी जानकारी हासिल करना बेहतर होगा।

कितनी आएगी लागत
डेयरी प्रोडक्ट्स का कारोबार शुरू करने के पहले प्रोडक्ट्स तैयार करने की लागत को जानना जरूरी होगा। प्रधानमंत्री मुद्रा स्कीम से तैयार किए गए प्रोजेक्ट प्रोफाइल के अनुसार, करीब 16 लाख 50 हजार रुपए का प्रोजेक्ट तैयार किया जा सकता है। इसमें करीब 5 लाख रुपए खुद लगाना होगा और बाकी 70 फीसदी रकम प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत बैंक से मिलेगी। बैंक टर्म लोन के कतौर पर 7.5 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल लोन के तौर पर 4 लाख रुपए देगा।

कितनी आएगी लागत
डेयरी प्रोडक्ट्स का कारोबार शुरू करने के पहले प्रोडक्ट्स तैयार करने की लागत को जानना जरूरी होगा। प्रधानमंत्री मुद्रा स्कीम से तैयार किए गए प्रोजेक्ट प्रोफाइल के अनुसार, करीब 16 लाख 50 हजार रुपए का प्रोजेक्ट तैयार किया जा सकता है। इसमें करीब 5 लाख रुपए खुद लगाना होगा और बाकी 70 फीसदी रकम प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत बैंक से मिलेगी। बैंक टर्म लोन के कतौर पर 7.5 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल लोन के तौर पर 4 लाख रुपए देगा।

रॉ मैटेरियल का खर्च
प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक, डेयरी प्रोडक्ट का कारोबार शुरू करने पर महीने में 12 हजार 500 लीटर दूध नेला होगा और 1000 किलोग्राम चीनी खरीदनी होगी। इसके अलावा 200 किलोग्राम फ्लेवर, करीब 625 किलोग्राम स्पाइस और नमक भी खरीदना होगा। इन पर हर महीने करीब 4 लाख रुपए का खर्च आएगा।

रॉ मैटेरियल का खर्च
प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक, डेयरी प्रोडक्ट का कारोबार शुरू करने पर महीने में 12 हजार 500 लीटर दूध नेला होगा और 1000 किलोग्राम चीनी खरीदनी होगी। इसके अलावा 200 किलोग्राम फ्लेवर, करीब 625 किलोग्राम स्पाइस और नमक भी खरीदना होगा। इन पर हर महीने करीब 4 लाख रुपए का खर्च आएगा।

कितना हो सकता है टर्नओवर
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के प्रोजेक्ट के मुताबिक यह बिजनेस करने पर साल में 75 हजार लीटर फ्लेवर्ड मिल्क का कारोबार हो सकता है। इसके अलावा 36 हजार लीटर दही, 90 हजार लीटर बटर मिल्क और 4500 किलोग्राम घी बना कर भी बेचा जा सकता है। इसमें करीब 82 लाख 50 हजार रुपए का टर्नओवर संभव है।

कितना हो सकता है टर्नओवर
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के प्रोजेक्ट के मुताबिक यह बिजनेस करने पर साल में 75 हजार लीटर फ्लेवर्ड मिल्क का कारोबार हो सकता है। इसके अलावा 36 हजार लीटर दही, 90 हजार लीटर बटर मिल्क और 4500 किलोग्राम घी बना कर भी बेचा जा सकता है। इसमें करीब 82 लाख 50 हजार रुपए का टर्नओवर संभव है।

कितना होगा मुनाफा
इस कारोबार में अगर साल भर में 82 लाख 50 हजार रुपए की सेल होती है तो सालाना खर्च 74 लाख 40 हजार रुपए होगा। इसमें खर्च के साथ लोन पर 14 फीसदी की दर से ब्याज भी शामिल होगा। इसके बाद साल में करीब 8 लाख 10 हजार रुपए का शुद्ध मुनाफा होगा।
 

कितना होगा मुनाफा
इस कारोबार में अगर साल भर में 82 लाख 50 हजार रुपए की सेल होती है तो सालाना खर्च 74 लाख 40 हजार रुपए होगा। इसमें खर्च के साथ लोन पर 14 फीसदी की दर से ब्याज भी शामिल होगा। इसके बाद साल में करीब 8 लाख 10 हजार रुपए का शुद्ध मुनाफा होगा।
 

कितनी जगह की जरूरत
इस कारोबार के लिए 1000 वर्गफुट जगह की जरूरत पड़ेगी। इसमें 500 वर्ग फुट में प्रॉसेसिंग एरिया, 150 वर्ग फुट में रेफ्रिजरेशन रूम, 150 वर्ग फुट में वॉशिंग एरिया, 100 वर्ग फुट में ऑफिस और टॉयलेट व दूसरी सुविधाओं के लिए 100 वर्ग फुट की जरूरत पड़ेगी।
 

कितनी जगह की जरूरत
इस कारोबार के लिए 1000 वर्गफुट जगह की जरूरत पड़ेगी। इसमें 500 वर्ग फुट में प्रॉसेसिंग एरिया, 150 वर्ग फुट में रेफ्रिजरेशन रूम, 150 वर्ग फुट में वॉशिंग एरिया, 100 वर्ग फुट में ऑफिस और टॉयलेट व दूसरी सुविधाओं के लिए 100 वर्ग फुट की जरूरत पड़ेगी।
 

डेयरी प्रोडक्ट्स के लिए मशीनें
डेयरी प्रोडक्ट्स के कारोबार के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार क्रीम स्पेरेटर, पैकेजिंग मशीन, ऑटोक्लेव, बोतल कैपिंग मशीन, रेफ्रिजरेटर, फ्रीजर, केन कूलर, कॉपर बॉटम हीटिंग वेसल्स, स्टेनलेस स्टील स्टोरिंग वेसल्स, प्लास्टिक ट्रे. डिस्पेंसर, फिलर, साल्ट कन्वेयर और सीलर्स वगैरह की जरूरत पड़ेगी।  
 

डेयरी प्रोडक्ट्स के लिए मशीनें
डेयरी प्रोडक्ट्स के कारोबार के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार क्रीम स्पेरेटर, पैकेजिंग मशीन, ऑटोक्लेव, बोतल कैपिंग मशीन, रेफ्रिजरेटर, फ्रीजर, केन कूलर, कॉपर बॉटम हीटिंग वेसल्स, स्टेनलेस स्टील स्टोरिंग वेसल्स, प्लास्टिक ट्रे. डिस्पेंसर, फिलर, साल्ट कन्वेयर और सीलर्स वगैरह की जरूरत पड़ेगी।  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios