Asianet News Hindi

PPF अकाउंट में 1 करोड़ का फंड बनाने के लिए जानें कितना करना होगा निवेश, अब पहले जैसा ही है इंटरेस्ट

First Published Apr 2, 2021, 8:34 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। छोटी बचत करने के लिहाज से पीपीएफ (PPF) को सबसे अच्छी स्कीम माना जाता है। पीपीएफ अकाउंट पोस्ट ऑफिस के साथ बैंकों में भी खोला जा सकता है। बता दें कि सरकार ने आम लोगों को बड़ी राहत देते हुए स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर ब्याज दरें घटाने का फैसला वापस ले लिया। इनमें पीपीएफ भी शामिल है। अप्रैल से जून तिमाही तक के लिए दूसरी स्मॉल सेविंग्स स्कीम के साथ पीपीएफ पर भी पहले की तरह ही ब्याज मिलता रहेगा। पीपीएफ स्कीम आम नौकरीपेशा वर्ग के बीच काफी पॉपुलर है। इसमें सालाना 7.1 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। जानें कैसे पीपीएफ में निवेश कर 1 करोड़ रुपए का फंड तैयार किया जा सकता है।
(फाइल फोटो)
 

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम में कम्पाउंडिंग के हिसाब से ब्याज मिलता है। इसका मतलब है कि आपकी जमा राशि में जो ब्याज जुड़ता है, उस पर भी ब्याज मिलता है। इससे फायदा ज्यादा होता है। जो लोग भविष्य को ध्यान में रखकर पीपीएफ में राशि जमा कर रहे हैं, वे बड़ा फंड तैयार करने का लक्ष्य लेकर चलते हैं। बता दें कि पीपीएफ के जरिए इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। (फाइल फोटो)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम में कम्पाउंडिंग के हिसाब से ब्याज मिलता है। इसका मतलब है कि आपकी जमा राशि में जो ब्याज जुड़ता है, उस पर भी ब्याज मिलता है। इससे फायदा ज्यादा होता है। जो लोग भविष्य को ध्यान में रखकर पीपीएफ में राशि जमा कर रहे हैं, वे बड़ा फंड तैयार करने का लक्ष्य लेकर चलते हैं। बता दें कि पीपीएफ के जरिए इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। (फाइल फोटो)

वैसे, अभी भी ज्यादा लोग बैंक में पैसा जमा करना ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि उन्हें यह भरोसा होता है कि बैंक में पैसा सुरक्षित रहेगा। लेकिन बैंकों में जहां सेविंग्स अकाउंट पर 3 से 3.5 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है, वहीं एफडी पर भी ब्याज की दरें पीपीएफ की तुलना में बहुत कम हैं। (फाइल फोटो)

वैसे, अभी भी ज्यादा लोग बैंक में पैसा जमा करना ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि उन्हें यह भरोसा होता है कि बैंक में पैसा सुरक्षित रहेगा। लेकिन बैंकों में जहां सेविंग्स अकाउंट पर 3 से 3.5 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है, वहीं एफडी पर भी ब्याज की दरें पीपीएफ की तुलना में बहुत कम हैं। (फाइल फोटो)

जानकारों का कहना है कि पीपीएफ स्कीम में रिटर्न की गारंटी है। बता दें कि अगर पोस्ट ऑफिस में पीपीएफ अकाउंट खोला जाता है, तो यहां जमा पूंजी पूरी तरह सुरक्षित रहती है, क्योंकि सरकार पोस्ट ऑफिस की जमा योजनाओं पर सॉवरेन गारंटी देती है। बैंकों में जमा राशि पर सॉवरेन गारंटी नहीं मिलती है। बैंकों के डूब जाने की स्थिति में सिर्फ 5 लाख रुपए ही वापस मिल सकते हैं। (फाइल फोटो)

जानकारों का कहना है कि पीपीएफ स्कीम में रिटर्न की गारंटी है। बता दें कि अगर पोस्ट ऑफिस में पीपीएफ अकाउंट खोला जाता है, तो यहां जमा पूंजी पूरी तरह सुरक्षित रहती है, क्योंकि सरकार पोस्ट ऑफिस की जमा योजनाओं पर सॉवरेन गारंटी देती है। बैंकों में जमा राशि पर सॉवरेन गारंटी नहीं मिलती है। बैंकों के डूब जाने की स्थिति में सिर्फ 5 लाख रुपए ही वापस मिल सकते हैं। (फाइल फोटो)

अगर आप पीपीएफ अकाउंट में अधिकतम हर महीने 12,500 रुपए जमा करते है, तो  सालाना जमा राशि 1,50,000 रुपए होगी। नई ब्याज दर 7.1 फीसदी सालाना के हिसाब से  15 साल बाद मेच्योरिटी पर रकम 40,68,209 रुपए हो जाएगी। इस तरह कुल 22 लाख 50 हजार रुपए के कुल निवेश पर ब्याज का फायदा 18,18,209 रुपए होगा। (फाइल फोटो)

अगर आप पीपीएफ अकाउंट में अधिकतम हर महीने 12,500 रुपए जमा करते है, तो सालाना जमा राशि 1,50,000 रुपए होगी। नई ब्याज दर 7.1 फीसदी सालाना के हिसाब से 15 साल बाद मेच्योरिटी पर रकम 40,68,209 रुपए हो जाएगी। इस तरह कुल 22 लाख 50 हजार रुपए के कुल निवेश पर ब्याज का फायदा 18,18,209 रुपए होगा। (फाइल फोटो)

पीपीएफ में निवेश करके 1 करोड़ का फंड तैयार करने लिए अधिकतम मंथली जमा 12,500 रुपए करते हैं, तो सालाना यह रकम 1,50,000 रुपए होगी। नई ब्याज दर 7.1 फीसदी के हिसाब से 25 साल बाद मेच्योरिटी पर रकम 1.03 करोड़ रुपए हो जाएगी। इसमें कुल निवेश 37,50,000 रुपए होगा और ब्याज का फायदा 65,58,015 रुपए मिलेगा। (फाइल फोटो)

पीपीएफ में निवेश करके 1 करोड़ का फंड तैयार करने लिए अधिकतम मंथली जमा 12,500 रुपए करते हैं, तो सालाना यह रकम 1,50,000 रुपए होगी। नई ब्याज दर 7.1 फीसदी के हिसाब से 25 साल बाद मेच्योरिटी पर रकम 1.03 करोड़ रुपए हो जाएगी। इसमें कुल निवेश 37,50,000 रुपए होगा और ब्याज का फायदा 65,58,015 रुपए मिलेगा। (फाइल फोटो)

पीपीएफ अकाउंट में पैसा जमा करने पर बाजार की अनिश्चितता के हालात में भी तय ब्याज के मुताबिक ही रिटर्न मिलेगा। वहीं, कैपिटल मार्केट में निवेश के डूबने का रिस्क बना रहता है। म्यूचुअल फंड में पिछले 1 साल के दौरान इक्विटी सेगमेंट की हर कैटेगिरी में 20 फीसदी से ज्यादा गिरावट आई है। इक्विटी मा​र्केट में 1 साल में कुल 23 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। ऐसे में, पीपीएफ अकाउंट में निवेश हर लिहाज से सुरक्षित होता है। (फाइल फोटो)

पीपीएफ अकाउंट में पैसा जमा करने पर बाजार की अनिश्चितता के हालात में भी तय ब्याज के मुताबिक ही रिटर्न मिलेगा। वहीं, कैपिटल मार्केट में निवेश के डूबने का रिस्क बना रहता है। म्यूचुअल फंड में पिछले 1 साल के दौरान इक्विटी सेगमेंट की हर कैटेगिरी में 20 फीसदी से ज्यादा गिरावट आई है। इक्विटी मा​र्केट में 1 साल में कुल 23 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। ऐसे में, पीपीएफ अकाउंट में निवेश हर लिहाज से सुरक्षित होता है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios