Asianet News Hindi

इस तरह जुटा सकते हैं 1 करोड़ का फंड, रिटायरमेंट के बाद नहीं होगी किसी तरह की परेशानी

First Published Oct 15, 2020, 10:16 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। हर आदमी चाहता है कि रिटायरमेंट के बाद उसकी जिंदगी आराम से बीते। यह तभी संभव है जब उसके पास अच्छी-खासी बचत हो। आजकल नियमित पेंशन का ऑप्शन ज्यादातर नौकरियों में नहीं रह गया है। अक्सर एकमुश्त फंड मिल जाता है, जिसके जरिए लंबे समय तक गुजारा कर पाना मुश्किल होता है। ज्यादातर लोग रिटायरमेंट के बाद अपने बाल-बच्चों पर निर्भर हो जाते हैं। वे भी उनका बेहतर ख्याल नहीं रख पाते। इसलिए रिटायरमेंट को लेकर पहले से निवेश का ऐसा प्लान बनाना चाहिए, जिससे नियमित आमदनी हो सके। ऐसा तभी संभव है, जब आपके पास बड़ा फंड हो। पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) के जरिए इस तरह का फंड तैयार किया जा सकता है। 
(फाइल फोटो)
 

सही स्ट्रैटजी की जरूरत
पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( PPF) के जरिए बड़ा फंड तैयार करना कोई मुश्किल नहीं है। सही स्ट्रैटजी अपनाने पर पीपीएफ में निवेश कर रिटायरमेंट तक 1 करोड़ का फंड भी तैयार किया जा सकता है। 
(फाइल फोटो)

सही स्ट्रैटजी की जरूरत
पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( PPF) के जरिए बड़ा फंड तैयार करना कोई मुश्किल नहीं है। सही स्ट्रैटजी अपनाने पर पीपीएफ में निवेश कर रिटायरमेंट तक 1 करोड़ का फंड भी तैयार किया जा सकता है। 
(फाइल फोटो)

लॉन्ग टर्म निवेश है सही ऑप्शन
लॉन्ग टर्म निवेश के लिए पीपीएफ ( PPF) में इन्वेस्टमेंट एक अच्छा ऑप्शन है। इसमें निवेश करके पैसे की बचत तो की ही जा सकती है, साथ ही इस पर अच्छा ब्याज भी मिलता है। PPF का निवेश EEE कैटेगरी (Exempt-Exempt-Exempt) में आता है।
(फाइल फोटो)

लॉन्ग टर्म निवेश है सही ऑप्शन
लॉन्ग टर्म निवेश के लिए पीपीएफ ( PPF) में इन्वेस्टमेंट एक अच्छा ऑप्शन है। इसमें निवेश करके पैसे की बचत तो की ही जा सकती है, साथ ही इस पर अच्छा ब्याज भी मिलता है। PPF का निवेश EEE कैटेगरी (Exempt-Exempt-Exempt) में आता है।
(फाइल फोटो)

टैक्स फ्री होता है निवेश
पीपीएफ ( PPF) में किया जाने वाला निवेश टैक्स फ्री होता है। इसमें जमा राशि पर जो ब्याज मिलता है और मैच्योरिटी के बाद जो राशि मिलती है, उस पर भी टैक्स नहीं लगता है।
(फाइल फोटो)

टैक्स फ्री होता है निवेश
पीपीएफ ( PPF) में किया जाने वाला निवेश टैक्स फ्री होता है। इसमें जमा राशि पर जो ब्याज मिलता है और मैच्योरिटी के बाद जो राशि मिलती है, उस पर भी टैक्स नहीं लगता है।
(फाइल फोटो)

कब से शुरू करना चाहिए निवेश
रिटायरमेंट तक बड़ा फंड जुटाने के लिए 25 से 30 साल की उम्र से ही  पीपीएफ (PPF) में निवेश शुरू कर देना चाहिए। इस स्कीम में 15 वर्ष की मेच्योरिटी पीरियड के लिए 7.1 फीसदी की औसत दर से रिटर्न मिलता है। अगर कोई हर साल 1.5 लाख रुपए पीपीएफ (PPF) में निवेश करता है तो महीने के हिसाब से 12,500 रुपए जमा करना होगा। ऐसे में, 7.1 फीसदी औसत ब्याज दर पर 15 साल के बाद मेच्योरिटी राशि 40,68,210 रुपए होगी , जबकि कुल निवेश की गई राशि 22.5 लाख रुपए होगी।
(फाइल फोटो)
 

कब से शुरू करना चाहिए निवेश
रिटायरमेंट तक बड़ा फंड जुटाने के लिए 25 से 30 साल की उम्र से ही  पीपीएफ (PPF) में निवेश शुरू कर देना चाहिए। इस स्कीम में 15 वर्ष की मेच्योरिटी पीरियड के लिए 7.1 फीसदी की औसत दर से रिटर्न मिलता है। अगर कोई हर साल 1.5 लाख रुपए पीपीएफ (PPF) में निवेश करता है तो महीने के हिसाब से 12,500 रुपए जमा करना होगा। ऐसे में, 7.1 फीसदी औसत ब्याज दर पर 15 साल के बाद मेच्योरिटी राशि 40,68,210 रुपए होगी , जबकि कुल निवेश की गई राशि 22.5 लाख रुपए होगी।
(फाइल फोटो)
 

मिलती है अकाउंट को जारी रखने की सुविधा 
पीपीएफ (PPP) में मेच्योरिटी के बाद भी अकाउंट को जारी रखने की सुविधा मिलती है। इसके तहत खाते में निवेश को आगे बढ़ाया जा सकता है। 15 साल पूरा होने पर फॉर्म-एच जमा करके मेच्योरिटी अवधि को 5-5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है।
(फाइल फोटो)

मिलती है अकाउंट को जारी रखने की सुविधा 
पीपीएफ (PPP) में मेच्योरिटी के बाद भी अकाउंट को जारी रखने की सुविधा मिलती है। इसके तहत खाते में निवेश को आगे बढ़ाया जा सकता है। 15 साल पूरा होने पर फॉर्म-एच जमा करके मेच्योरिटी अवधि को 5-5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है।
(फाइल फोटो)

ऐसे बन सकता है 1 करोड़ का फंड
अगर कोई पीपीएफ अकाउंट में मेच्योरिटी के बाद निवेश का पीरियड 2 बार आगे बढ़ाता है, तो 25 साल तक हर साल 1.5 लाख रुपए का निवेश करना होगा। पूरी अवधि के लिए ब्याज की दर 7.1 फीसदी पर स्थिर रहने पर मेच्योरिटी राशि 1,02,40,260 रुपये होगी, जबकि कुल निवेश की गई राशि होगी 55.68 लाख रुपए होगी। इस पर 46.72 9. लाख रुपए सिर्फ ब्याज के रूप में मिलेंगे। इस पर कोई टैक्स नहीं देना होता। इस तरह 25 साल बाद 1 करोड़ से ज्यादा का फंड बन सकता है।  
(फाइल फोटो)
 

ऐसे बन सकता है 1 करोड़ का फंड
अगर कोई पीपीएफ अकाउंट में मेच्योरिटी के बाद निवेश का पीरियड 2 बार आगे बढ़ाता है, तो 25 साल तक हर साल 1.5 लाख रुपए का निवेश करना होगा। पूरी अवधि के लिए ब्याज की दर 7.1 फीसदी पर स्थिर रहने पर मेच्योरिटी राशि 1,02,40,260 रुपये होगी, जबकि कुल निवेश की गई राशि होगी 55.68 लाख रुपए होगी। इस पर 46.72 9. लाख रुपए सिर्फ ब्याज के रूप में मिलेंगे। इस पर कोई टैक्स नहीं देना होता। इस तरह 25 साल बाद 1 करोड़ से ज्यादा का फंड बन सकता है।  
(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios