Asianet News Hindi

दीपावली के पहले Gold में निवेश करने से हो सकता है बड़ा मुनाफा, जानें क्या है वजह

First Published Oct 20, 2020, 1:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। त्योहारों पर देश में सोना खरीदने की परंपरा रही है। लोग हर शुभ मौके पर सोना-चांदी खरीदना अच्छा मानते हैं। इसके साथ ही अब शादी-ब्याह के भी लगन शुरू होंगे। शादी-ब्याह के मौके पर भी सोने की काफी खरीद होती है। दूसरी तरफ, सोने में निवेश करना भी हर लिहाज से बढ़िया माना जाता है। गोल्ड में निवेश को आम तौर पर सबसे सुरक्षित निवेश माना जाता है। एक बार गोल्ड में निवेश कर देने के बाद बाजार में इसके चढ़ते-उतरते भावों को लेकर बेफिक्र रहते हैं। इसकी वजह यह है कि इसमें कभी भी उन्हें घाटा नहीं हो सकता। गोल्ड के वास्तविक मूल्य में कभी कमी नहीं आ सकती। ऐसे में, यह जानना जरूरी है कि क्या दीपावली के पहले गोल्ड में इन्वेस्ट करना फायदे का सौदा हो सकता है।
(फाइल फोटो)
 

गोल्ड की कीमतें रहीं रिकॉर्ड हाई पर
इस साल सोने ने रिकॉर्ड हाई बनाया। इसकी कीमत 56 हजार प्रति 10 ग्राम पार कर गई। हालांकि, रिकॉर्ड स्तर से अभी सोना करीब 5500 रुपए डिस्काउंट पर ट्रेड कर रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या दीपावली के पहले सोने में निवेश करना चाहिए या अभी इंतजार करना चाहिए। मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि सोना खरीदने का यह सही समय है। दीपावली के आस-पास इसमें फिर तेजी आएगी।
(फाइल फोटो)
 

गोल्ड की कीमतें रहीं रिकॉर्ड हाई पर
इस साल सोने ने रिकॉर्ड हाई बनाया। इसकी कीमत 56 हजार प्रति 10 ग्राम पार कर गई। हालांकि, रिकॉर्ड स्तर से अभी सोना करीब 5500 रुपए डिस्काउंट पर ट्रेड कर रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या दीपावली के पहले सोने में निवेश करना चाहिए या अभी इंतजार करना चाहिए। मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि सोना खरीदने का यह सही समय है। दीपावली के आस-पास इसमें फिर तेजी आएगी।
(फाइल फोटो)
 

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की भूमिका
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में अब करीब 15 दिन बचे हैं। इस वजह से भी सोने की कीमतों में उतार-चढ़ाव हो रहा है। अमेरिकी अर्थव्यवस्था का असर पूरी दुनिया पर पड़ता है। ऐसे में, अमेरिका में चुनावों के कारण जो अनिश्चितता दिख रही है, उस वजह से भी लोगों में सोने के प्रति आकर्षण बढ़ रहा है। 
(फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की भूमिका
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में अब करीब 15 दिन बचे हैं। इस वजह से भी सोने की कीमतों में उतार-चढ़ाव हो रहा है। अमेरिकी अर्थव्यवस्था का असर पूरी दुनिया पर पड़ता है। ऐसे में, अमेरिका में चुनावों के कारण जो अनिश्चितता दिख रही है, उस वजह से भी लोगों में सोने के प्रति आकर्षण बढ़ रहा है। 
(फाइल फोटो)

कैसे अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव डालेगा असर
अमेरिका में अगला राष्ट्रपति कौन बनता है, इसका असर सोने की कीमतों पर पड़ेगा। अमेरिका में राष्ट्रपति पद की दौड़ में डोनाल्ड ट्रम्प और जो बिडेन हैं। जो बिडेन अगर राष्ट्रपति बनते हैं तो तो सोना और ऊपर जाएगा। वहीं, डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने पर सोना नीचे जा सकता है, क्योंकि वे इक्विटी मार्केट को सपोर्ट करते हैं। कहा यह भी जा रहा है कि जो बिडेन के राष्ट्रपति बनने पर इक्विटी मार्केट क्रैश कर सकता है।
(फाइल फोटो)
 

कैसे अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव डालेगा असर
अमेरिका में अगला राष्ट्रपति कौन बनता है, इसका असर सोने की कीमतों पर पड़ेगा। अमेरिका में राष्ट्रपति पद की दौड़ में डोनाल्ड ट्रम्प और जो बिडेन हैं। जो बिडेन अगर राष्ट्रपति बनते हैं तो तो सोना और ऊपर जाएगा। वहीं, डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने पर सोना नीचे जा सकता है, क्योंकि वे इक्विटी मार्केट को सपोर्ट करते हैं। कहा यह भी जा रहा है कि जो बिडेन के राष्ट्रपति बनने पर इक्विटी मार्केट क्रैश कर सकता है।
(फाइल फोटो)
 

कोरोना से बढ़ा सोने का भाव
कोरोनावायरस महामारी के मामले कथित तौर पर बढ़ते जा रहे हैं। दुनिया भर में कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर आने की चर्चा जोरों पर हैं। कहा जा रहा है कि पेरिस और लंदन में फिर लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इसके चलते लोग गोल्ड को लोग सुरक्षित निवेश के रूप में देख रहे हैं। इसी से सोने की मांग वर्ल्ड मार्केट में बढ़ रही है। 
(फाइल फोटो)

कोरोना से बढ़ा सोने का भाव
कोरोनावायरस महामारी के मामले कथित तौर पर बढ़ते जा रहे हैं। दुनिया भर में कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर आने की चर्चा जोरों पर हैं। कहा जा रहा है कि पेरिस और लंदन में फिर लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इसके चलते लोग गोल्ड को लोग सुरक्षित निवेश के रूप में देख रहे हैं। इसी से सोने की मांग वर्ल्ड मार्केट में बढ़ रही है। 
(फाइल फोटो)

डिजिटल गोल्ड से भी बढ़ी कीमत 
डिजिटल गोल्ड का ऑप्शन आ जाने के बाद अब सोने में निवेश को लेकर असुरक्षा का भाव खत्म हो गया है। इस वजह से भी इसमें निवेश तेजी से बढ़ रहा है। डिजिटल गोल्ड इसके पीछे सबसे बड़ी वजह है। पहले सोना फिजिकल रूप में खरीदने पर उसकी सुरक्षा की चिंता रहती थी, लेकिन अब सोने में निवेश के लिए फिजिकल गोल्ड खरीदना जरूरी नहीं रह गया है। 
(फाइल फोटो)

डिजिटल गोल्ड से भी बढ़ी कीमत 
डिजिटल गोल्ड का ऑप्शन आ जाने के बाद अब सोने में निवेश को लेकर असुरक्षा का भाव खत्म हो गया है। इस वजह से भी इसमें निवेश तेजी से बढ़ रहा है। डिजिटल गोल्ड इसके पीछे सबसे बड़ी वजह है। पहले सोना फिजिकल रूप में खरीदने पर उसकी सुरक्षा की चिंता रहती थी, लेकिन अब सोने में निवेश के लिए फिजिकल गोल्ड खरीदना जरूरी नहीं रह गया है। 
(फाइल फोटो)

दीपावली तक 53-54 हजार तक पहुंच सकता है भाव
त्योहारों पर सोने की खपत काफी बढ़ जाती है। दीपावली से पहले धनतेरस के मौके पर सोना-चांदी खरीदने की परंपरा रही है। धनतेरस के मौके पर सोने की बड़े पैमाने पर खरीददारी होती है। ऐसे समय में इसकी मांग और कीमत का बढ़ जाना लाजिमी है।
(फाइल फोटो)
 

दीपावली तक 53-54 हजार तक पहुंच सकता है भाव
त्योहारों पर सोने की खपत काफी बढ़ जाती है। दीपावली से पहले धनतेरस के मौके पर सोना-चांदी खरीदने की परंपरा रही है। धनतेरस के मौके पर सोने की बड़े पैमाने पर खरीददारी होती है। ऐसे समय में इसकी मांग और कीमत का बढ़ जाना लाजिमी है।
(फाइल फोटो)
 

अगले साल क्या हो सकता है भाव
बुलियन कारोबार के एक्सपर्ट्स का मानना है कि दीपावली तक सोने का भाव 53-54 हजार प्रति 10 ग्राम तक जा सकता है। इसके बाद भाव में गिरावट आ सकती है। हालांकि, मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगले साल गोल्ड का भाव 60 हजार के पार जा सकता है। इसलिए अभी सोने में निवेश करना हर हाल में बेहतर रिटर्न देने वाला साबित हो सकता है।  
(फाइल फोटो)
 

अगले साल क्या हो सकता है भाव
बुलियन कारोबार के एक्सपर्ट्स का मानना है कि दीपावली तक सोने का भाव 53-54 हजार प्रति 10 ग्राम तक जा सकता है। इसके बाद भाव में गिरावट आ सकती है। हालांकि, मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगले साल गोल्ड का भाव 60 हजार के पार जा सकता है। इसलिए अभी सोने में निवेश करना हर हाल में बेहतर रिटर्न देने वाला साबित हो सकता है।  
(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios