Asianet News Hindi

देश के सबसे धनी शख्स मुकेश अंबानी को पड़ी 25 हजार करोड़ की जरूरत, ऐसे जुटाएंगे रुपए

First Published Apr 4, 2020, 11:57 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क: देश के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) एनसीडी (Non-Convertable Debentures) से 25000 करोड़ रुपये जुटाएगी। गुरुवार को कंपनी के बोर्ड ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। कंपनी यह रकम एक बार में नहीं बल्कि कई खेप में जुटाएगी। प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिए यह रकम जुटाई जाएगी। 
 

रिलायंस की ये योजना ऐसे समय पर आई है जब कंपनी 2021 तक कर्जमुक्त बनना चाहती है। बता दें कि रिलायंस का अभी कुल 1.5 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। जिसे रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी शून्य पर लाना चाहते हैं।

रिलायंस की ये योजना ऐसे समय पर आई है जब कंपनी 2021 तक कर्जमुक्त बनना चाहती है। बता दें कि रिलायंस का अभी कुल 1.5 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। जिसे रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी शून्य पर लाना चाहते हैं।

31 मार्च को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बताया था कि उसके बोर्ड की बैठक 2 अप्रैल को होने वाली है। इस बैठक में एनसीडी के जरिए फंड जुटाने के प्रस्ताव पर विचार होना था। कंपनी ने इस बारे में जानकारी शेयर बाजार को दी है।

31 मार्च को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बताया था कि उसके बोर्ड की बैठक 2 अप्रैल को होने वाली है। इस बैठक में एनसीडी के जरिए फंड जुटाने के प्रस्ताव पर विचार होना था। कंपनी ने इस बारे में जानकारी शेयर बाजार को दी है।

कंपनी के इस कदम की वजह कोरोना माहमारी के बाद बिगड़े आर्थिक हालत से निपटने के लिए है। कोरोना महामारी का असर पूरी दुनिया के बाज़ारों पर पड़ा है जिससे उभर पाने में काफी समय और पूंजी की जरूरत पड़ेगी।

कंपनी के इस कदम की वजह कोरोना माहमारी के बाद बिगड़े आर्थिक हालत से निपटने के लिए है। कोरोना महामारी का असर पूरी दुनिया के बाज़ारों पर पड़ा है जिससे उभर पाने में काफी समय और पूंजी की जरूरत पड़ेगी।

इस साल रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 30 फीसदी लुढ़क चुके हैं। इस दौरान बीएसई सेंसेक्स ने 32.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की है। बीते एक साल में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 22.5 फीसदी का गोता लगाया है, जबकि बीएसई सेंसेक्स 28.5 फीसदी फिसला है।

इस साल रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 30 फीसदी लुढ़क चुके हैं। इस दौरान बीएसई सेंसेक्स ने 32.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की है। बीते एक साल में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 22.5 फीसदी का गोता लगाया है, जबकि बीएसई सेंसेक्स 28.5 फीसदी फिसला है।

बीते कुछ समय से रिलायंस इंडस्ट्रीज और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के बीच देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बनने की होड़ चल रही है। कुछ समय पहले रिलायंस का मार्केटकैप 10 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया था। यह कीर्तिमान हासिल करने वाली रिलायंस देश की पहली कंपनी बनी थी।

बीते कुछ समय से रिलायंस इंडस्ट्रीज और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के बीच देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बनने की होड़ चल रही है। कुछ समय पहले रिलायंस का मार्केटकैप 10 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया था। यह कीर्तिमान हासिल करने वाली रिलायंस देश की पहली कंपनी बनी थी।

कुछ दिन पहले कंपनी के बड़े प्रमोटर अंबानी परिवार की हिस्सेदारी में इजाफा देखने को मिला था। एक सप्ताह पहले मुकेश अंबानी, नीता अंबानी, ईशा अंबानी, आकाश अंबानी और अनंत अंबानी ने कंपनी दूसरे प्रमोटरों से 9,145 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे।

कुछ दिन पहले कंपनी के बड़े प्रमोटर अंबानी परिवार की हिस्सेदारी में इजाफा देखने को मिला था। एक सप्ताह पहले मुकेश अंबानी, नीता अंबानी, ईशा अंबानी, आकाश अंबानी और अनंत अंबानी ने कंपनी दूसरे प्रमोटरों से 9,145 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे।

इस डील में मुकेश अंबानी ने 1,077 रुपये के औसत भाव पर 2,69,308 शेयर, नीता अंबानी ने 7,03,708 शेयर, ईशा अंबानी ने 7,71,220 शेयर और आकाश अंबानी ने 7,73,620 शेयर खरीदे थे। अनंत अंबानी ने 1,056 रुपये के भाव पर 73,00,000 शेयरों की डील की थी।

इस डील में मुकेश अंबानी ने 1,077 रुपये के औसत भाव पर 2,69,308 शेयर, नीता अंबानी ने 7,03,708 शेयर, ईशा अंबानी ने 7,71,220 शेयर और आकाश अंबानी ने 7,73,620 शेयर खरीदे थे। अनंत अंबानी ने 1,056 रुपये के भाव पर 73,00,000 शेयरों की डील की थी।

गौरतलब है कि, रिलायंस का मार्केट कैपिटल लगभग 6.8 लाख करोड़ रुपए है। मुकेश अंबानी की रिलायंस में 42% की हिस्सेदारी है। आरआईएल ने पिछले पांच वर्षों में 5.4 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है। जिसमें से अकेले Jio के बिज़नेस को बनाने के लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

गौरतलब है कि, रिलायंस का मार्केट कैपिटल लगभग 6.8 लाख करोड़ रुपए है। मुकेश अंबानी की रिलायंस में 42% की हिस्सेदारी है। आरआईएल ने पिछले पांच वर्षों में 5.4 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है। जिसमें से अकेले Jio के बिज़नेस को बनाने के लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios