कुछ ही घंटों में मुकेश अंबानी ने कमा लिए कई हजार करोड़ से ज्यादा रुपये, बढ़ गई दौलत

First Published 23, Jun 2020, 10:16 AM

बिजनेस डेस्क। एशिया के सबसे अमीर कारोबारी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की संपत्ति में कुछ ही घंटों में 5.88 बिलियन डॉलर बढ़ गई। इसके साथ ही मुकेश अंबानी अब दुनिया के नौवें सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। ब्लूमबर्ग बिलियनरीज इंडेक्स  (Bloomberg Billionaires Index) के मुताबिक, मुकेश अंबानी की संपत्ति में यह बढ़ोत्तरी रिलायंस का मार्केट कैपिटल  रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच जाने से हुई। 

<p><strong>रिकॉर्ड लेवल पर पहुंचे रिलायंस के शेयर</strong><br />
रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैपिटल सोमवार को 150 अरब के रिकॉर्ड लेवल को पार कर गया। यानी रिलायंस की बाजार पूंजी 11.22 लाख करोड़ रुपए को पार कर गई। सोमवार को रिलायंस के शेयर का भाव बीएसई पर बढ़ कर 1804 रुपए तक पहुंच गया। यह अब तक का इसका एक रिकॉर्ड है। </p>

रिकॉर्ड लेवल पर पहुंचे रिलायंस के शेयर
रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैपिटल सोमवार को 150 अरब के रिकॉर्ड लेवल को पार कर गया। यानी रिलायंस की बाजार पूंजी 11.22 लाख करोड़ रुपए को पार कर गई। सोमवार को रिलायंस के शेयर का भाव बीएसई पर बढ़ कर 1804 रुपए तक पहुंच गया। यह अब तक का इसका एक रिकॉर्ड है। 

<p><strong>मुकेश अंबानी का नेटवर्थ</strong><br />
ब्लूमबर्ग बिलियनरीज इंडेक्स (Bloomberg Billionaires Index) के मुताबिक,  मंगलवार को मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 64.5 अरब डॉलर (करीब 4,90,800 करोड़ रुपए)  से बढ़कर 64.5 बिलियन डॉलर हो गई। </p>

मुकेश अंबानी का नेटवर्थ
ब्लूमबर्ग बिलियनरीज इंडेक्स (Bloomberg Billionaires Index) के मुताबिक,  मंगलवार को मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 64.5 अरब डॉलर (करीब 4,90,800 करोड़ रुपए)  से बढ़कर 64.5 बिलियन डॉलर हो गई। 

<p><strong>इन्हें छोड़ा पीछे</strong><br />
मुकेश अंबानी ने संपत्ति के मामले में अमेरिका के ओरेकल कॉर्प के लैरी एलिसन और फ्रांस की फ्रैंकोइस बेटेनकोर्ट को पीछे छोड़ दिया है। इसके साथ ही वे दुनिया के टॉप 10 अमीरों की लिस्ट में जगह बनाने वाले एक मात्र शख्स बन गए। अब मुकेश अंबानी दुनिया के 9वें सबसे अमीर बिजनेसमैन हैं।<br />
 </p>

इन्हें छोड़ा पीछे
मुकेश अंबानी ने संपत्ति के मामले में अमेरिका के ओरेकल कॉर्प के लैरी एलिसन और फ्रांस की फ्रैंकोइस बेटेनकोर्ट को पीछे छोड़ दिया है। इसके साथ ही वे दुनिया के टॉप 10 अमीरों की लिस्ट में जगह बनाने वाले एक मात्र शख्स बन गए। अब मुकेश अंबानी दुनिया के 9वें सबसे अमीर बिजनेसमैन हैं।
 

<p><strong>सफलता का बनाया रिकॉर्ड</strong><br />
मुकेश अंबानी लगातार सफलता की नई मंजिलों पर पहुंच रहे हैं। पिछले दो महीने के दौरान रिलायंस जियो में 11 बड़े निवेश हुए हैं। जियो प्लेटफॉर्म्स मे फेसबुक के निवेश के बाद दुनिया की बड़ी कंपनियों में जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश की होड़ लग गई। जियो प्लेटफॉर्म्स में पिछले कुछ हफ्तों में ही 1.68 लाख करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। </p>

सफलता का बनाया रिकॉर्ड
मुकेश अंबानी लगातार सफलता की नई मंजिलों पर पहुंच रहे हैं। पिछले दो महीने के दौरान रिलायंस जियो में 11 बड़े निवेश हुए हैं। जियो प्लेटफॉर्म्स मे फेसबुक के निवेश के बाद दुनिया की बड़ी कंपनियों में जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश की होड़ लग गई। जियो प्लेटफॉर्म्स में पिछले कुछ हफ्तों में ही 1.68 लाख करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। 

<p><strong>लक्ष्य से पहले कर्जमुक्त हुई कंपनी</strong><br />
मुकेश अंबानी ने मार्च, 2021 तक रिलायंस इंडस्ट्रीज को पूरी तरह कर्जमुक्त कंपनी बनाने का लक्ष्य रखा था, लेकिन तेजी से बढ़े निवेश और कंपनी के शेयर के भाव में रिकॉर्ड उछाल से कंपनी पहले ही कर्जमुक्त हो गई। इसे मुकेश अंबानी की बहुत बड़ी सफलता माना जा रहा है।</p>

लक्ष्य से पहले कर्जमुक्त हुई कंपनी
मुकेश अंबानी ने मार्च, 2021 तक रिलायंस इंडस्ट्रीज को पूरी तरह कर्जमुक्त कंपनी बनाने का लक्ष्य रखा था, लेकिन तेजी से बढ़े निवेश और कंपनी के शेयर के भाव में रिकॉर्ड उछाल से कंपनी पहले ही कर्जमुक्त हो गई। इसे मुकेश अंबानी की बहुत बड़ी सफलता माना जा रहा है।

<p><strong>क्या कहा मुकेश अंबानी ने</strong><br />
मुकेश अंबानी ने कहा कि पिछले दो महीने में राइट्स इश्यू और दुनिया के बड़े निवेशकों से 1.68 करोड़ रुपए जुटा लेने के बाद अब रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध ऋण शून्य हो गया है। अब कंपनी पूरी तरह कर्जमुक्त हो गई है।<br />
 </p>

क्या कहा मुकेश अंबानी ने
मुकेश अंबानी ने कहा कि पिछले दो महीने में राइट्स इश्यू और दुनिया के बड़े निवेशकों से 1.68 करोड़ रुपए जुटा लेने के बाद अब रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध ऋण शून्य हो गया है। अब कंपनी पूरी तरह कर्जमुक्त हो गई है।
 

<p><strong>जियो में आखिरी निवेश</strong><br />
जियो प्लेटफॉर्म्स में फेसबुक ने सबसे पहले निवेश किया। वहीं, आखिरी निवेश सऊदी अरब की कंपनी पीाईएफ ने किया। उसने 11,367 करोड़ रुपए का निवेश कर जियो प्लेटफॉर्म्स की 2.32 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी। इसके साथ ही कंपनी में वित्तीय सहयोगी जोड़ने का मौजूदा चरण समाप्त हो गया है।</p>

जियो में आखिरी निवेश
जियो प्लेटफॉर्म्स में फेसबुक ने सबसे पहले निवेश किया। वहीं, आखिरी निवेश सऊदी अरब की कंपनी पीाईएफ ने किया। उसने 11,367 करोड़ रुपए का निवेश कर जियो प्लेटफॉर्म्स की 2.32 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी। इसके साथ ही कंपनी में वित्तीय सहयोगी जोड़ने का मौजूदा चरण समाप्त हो गया है।

<p><strong>बन सकती है टॉप टेलिकॉम और इंटरनेट कंपनी</strong><br />
जिस तरह जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश बढ़ा है, उसे देखते हुए यह दुनिया की टॉप टेलिकॉम और इंटरनेट कंपनी बन सकती है। मुकेश अंबानी ने पेट्रोकेमिकल्स की जगह टेलिकॉम और इंटरनेट के क्षेत्र में बिजनेस को आगे बढ़ाने का फैसला किया है। बिजनेस एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगले 5 वर्षों में भारत में 50 फीसदी यूजर्स जियो का इस्तेमाल करने लगेंगे। यह इंटरनेट के क्षेत्र में आ रही है। इसके साथ ही रिटेल बिजनेस में भी जियो ने शुरुआत कर दी है।     <br />
 </p>

बन सकती है टॉप टेलिकॉम और इंटरनेट कंपनी
जिस तरह जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश बढ़ा है, उसे देखते हुए यह दुनिया की टॉप टेलिकॉम और इंटरनेट कंपनी बन सकती है। मुकेश अंबानी ने पेट्रोकेमिकल्स की जगह टेलिकॉम और इंटरनेट के क्षेत्र में बिजनेस को आगे बढ़ाने का फैसला किया है। बिजनेस एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगले 5 वर्षों में भारत में 50 फीसदी यूजर्स जियो का इस्तेमाल करने लगेंगे। यह इंटरनेट के क्षेत्र में आ रही है। इसके साथ ही रिटेल बिजनेस में भी जियो ने शुरुआत कर दी है।     
 

loader