24 घंटे में कई सौ करोड़ बढ़ी मुकेश अंबानी की दौलत, दुनिया के टॉप 10 अमीरों में फिर मिला मुकाम

First Published 8, May 2020, 6:55 PM

मुंबई। पिछले 16 दिनों में एक से बढ़कर एक कारोबारी डील करने की वजह से एक बार फिर रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी दुनिया के टॉप 10 अमीरों की सूची में जगह पा गए हैं। अंबानी भारत के सबसे अमीर शख्स हैं। मगर कोरोना वायरस वायरस की महामारी फिर लॉकडाउन और कारोबार में वैश्विक सुस्ती की वजह से मुकेश अंबानी को भी काफी नुकसान उठाना पड़ा था। 

<p>मुकेश अंबानी की संपत्ति बहुत तेजी से नीचे गिरी थी। मगर रिलायंस जियो की वजह से वो एक बार फिर अपने पुराने रुतबे की ओर जाते दिख रहे हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान मुकेश अंबानी की दौलत में करीब 14647 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। इसके साथ ही मुकेश अंबानी को दुनिया के टॉप 10 अमीरों में जगह मिल गई है। </p>

मुकेश अंबानी की संपत्ति बहुत तेजी से नीचे गिरी थी। मगर रिलायंस जियो की वजह से वो एक बार फिर अपने पुराने रुतबे की ओर जाते दिख रहे हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान मुकेश अंबानी की दौलत में करीब 14647 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। इसके साथ ही मुकेश अंबानी को दुनिया के टॉप 10 अमीरों में जगह मिल गई है। 

<p>अब मुकेश अंबानी की कुल दौलत बढ़कर 4.13 लाख करोड़ रुपये हो गई है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स में मुकेश अंबानी 10वें नंबर पर हैं। पहले नंबर पर जेफ बेजोस काबिज है। एशिया में मुकेश अंबानी सबसे अमीर आदमी हैं। उनकी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की मार्केट कैप दूसरी बार 10 लाख करोड़ के पार पहुंच गई है। ऐसा करने वाली RIL पहली कंपनी है। </p>

अब मुकेश अंबानी की कुल दौलत बढ़कर 4.13 लाख करोड़ रुपये हो गई है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स में मुकेश अंबानी 10वें नंबर पर हैं। पहले नंबर पर जेफ बेजोस काबिज है। एशिया में मुकेश अंबानी सबसे अमीर आदमी हैं। उनकी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की मार्केट कैप दूसरी बार 10 लाख करोड़ के पार पहुंच गई है। ऐसा करने वाली RIL पहली कंपनी है। 

<p>कोरोना संकट में भी मुकेश अंबानी की दौलत बढ़ने का प्रमुख कारण रिलायंस जियो की वजह से मिलने वाला बूस्ट है। रिलायंस ने फेसबुक, सिल्वर लेक और विस्टा के साथ बड़ी कारोबारी डील की है। इस वजह से RIL की मार्केट में साख बढ़ी है। बड़े निवेशकों के आने की वजह से रिलायंस जियो भारत की टॉप वैल्यू वाली तीन कंपनियों में शामिल हो गई है। इन तीन में जियो की पैरेंट कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड भी है। जबकि एक टाटा ग्रुप की टीसीएस है।</p>

कोरोना संकट में भी मुकेश अंबानी की दौलत बढ़ने का प्रमुख कारण रिलायंस जियो की वजह से मिलने वाला बूस्ट है। रिलायंस ने फेसबुक, सिल्वर लेक और विस्टा के साथ बड़ी कारोबारी डील की है। इस वजह से RIL की मार्केट में साख बढ़ी है। बड़े निवेशकों के आने की वजह से रिलायंस जियो भारत की टॉप वैल्यू वाली तीन कंपनियों में शामिल हो गई है। इन तीन में जियो की पैरेंट कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड भी है। जबकि एक टाटा ग्रुप की टीसीएस है।

<p>पिछले एक महीने के दौरान कोरोना, लॉकडाउन की वजह से बनी आर्थिक सुस्ती की वजह से दूसरी दिग्गज कंपनियों के शेयरों पर दबाव है। मगर रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर्स ने पिछले एक महीने के दौरान 32 प्रतिशत रिटर्न दिया है। <br />
 </p>

पिछले एक महीने के दौरान कोरोना, लॉकडाउन की वजह से बनी आर्थिक सुस्ती की वजह से दूसरी दिग्गज कंपनियों के शेयरों पर दबाव है। मगर रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर्स ने पिछले एक महीने के दौरान 32 प्रतिशत रिटर्न दिया है। 
 

<p>आज यानी शुक्रवार के कारोबार में भी RIL के शेयर्स में 4.5 प्रतिशत की तेजी रही। शेयर बीएसई पर 1579.70 के भाव पर पहुंच गया। गुरुवार को यह 1507.25 रुपये पर बंद हुआ था। पिछले डेढ़ महीने ए दौरान यह बहुत ज्यादा वृद्धि है। शेयरों के भाव में वृद्धि की वजह से RIL का मार्केट कैप बढ़कर 10 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया। </p>

आज यानी शुक्रवार के कारोबार में भी RIL के शेयर्स में 4.5 प्रतिशत की तेजी रही। शेयर बीएसई पर 1579.70 के भाव पर पहुंच गया। गुरुवार को यह 1507.25 रुपये पर बंद हुआ था। पिछले डेढ़ महीने ए दौरान यह बहुत ज्यादा वृद्धि है। शेयरों के भाव में वृद्धि की वजह से RIL का मार्केट कैप बढ़कर 10 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया। 

<p>आज सुबह ही अमेरिका की प्राइवेट इक्विटी फर्म विस्टा इक्विटी पार्टनर्स की ओर से जियो में 2.3 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की बात सामने आई। विस्टा ने जियो में 11367 करोड़ रुपये निवेश करने जा रही है। </p>

आज सुबह ही अमेरिका की प्राइवेट इक्विटी फर्म विस्टा इक्विटी पार्टनर्स की ओर से जियो में 2.3 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की बात सामने आई। विस्टा ने जियो में 11367 करोड़ रुपये निवेश करने जा रही है। 

<p>विस्टा से पहले फेसबुक और सिल्वर लेक ने भी जियो में हिस्सेदारी ली थी। फेसबुक ने 9.9 प्रतिशत के लिए 43,574 करोड़ जबकि सिल्वर लेक ने 1.1 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 5655 करोड़ रुपये निवेश का एलान किया था। इस तीनों डील की वजह से एक महीने से कम समय में जियो को 60595 करोड़ रुपये का निवेश मिला था। </p>

विस्टा से पहले फेसबुक और सिल्वर लेक ने भी जियो में हिस्सेदारी ली थी। फेसबुक ने 9.9 प्रतिशत के लिए 43,574 करोड़ जबकि सिल्वर लेक ने 1.1 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 5655 करोड़ रुपये निवेश का एलान किया था। इस तीनों डील की वजह से एक महीने से कम समय में जियो को 60595 करोड़ रुपये का निवेश मिला था। 

<p>मार्केट के मुताबिक फिलहाल जियो की इंटरप्राइजेज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपये पहुंच गई है। बताने की जरूरत नहीं है कि जियो ने RIL को बड़ा सपोर्ट दिया है। </p>

मार्केट के मुताबिक फिलहाल जियो की इंटरप्राइजेज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपये पहुंच गई है। बताने की जरूरत नहीं है कि जियो ने RIL को बड़ा सपोर्ट दिया है। 

loader