Asianet News Hindi

इस एक गलती से 46 लाख लोगों के अकाउंट में नहीं जा सके सरकारी मदद के पैसे, जानें अब क्या करना होगा

First Published Sep 8, 2020, 11:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। गरीब किसानों को मदद देने की केंद्र सरकार की सबसे बड़ी योजना पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के 20 महीने पूरे हो गए हैं। इस स्कीम में किसानों को हर तीसरे महीने 2000-2000 रुपए की मदद दी जाती है। यह रकम सीथे किसानों के खाते में पहुंचती है। अब तक इस स्कीम के तहत 6 किस्त जारी की जा रही है। लेकिन पता चला है कि किसानों के अकाउंट और दूसरे दस्तावेजों में कुछ गलतियों की वजह से लाखों किसानों के खाते में पैसा पहुंचा ही नहीं। जब इस योजना की पहली किस्त जारी हुई थी, तब भी ऐसी गड़बड़ी सामने आई थी। उस समय किसानों को इसके बारे में आगाह किया गया था। 
(फाइल फोटो)
 

कितने किसानों को नहीं मिला पैसा
फिलहाल, इस योजना की छठी किस्त के 2000 रुपए भेजे जा रहे हैं। लेकिन सभी किस्तों का विश्लेषण करने से पता चला है कि 46,13,797 किसानों का भुगतान फेल हो गया है, जबकि उनके लिए फंड ट्रांसफर ऑर्डर (FTO) जनरेट हो चुका था।
(फाइल फोटो)

कितने किसानों को नहीं मिला पैसा
फिलहाल, इस योजना की छठी किस्त के 2000 रुपए भेजे जा रहे हैं। लेकिन सभी किस्तों का विश्लेषण करने से पता चला है कि 46,13,797 किसानों का भुगतान फेल हो गया है, जबकि उनके लिए फंड ट्रांसफर ऑर्डर (FTO) जनरेट हो चुका था।
(फाइल फोटो)

क्यों हुई पेमेंट फेल
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के एक ऑफिसर के मुताबिक, इस योजना के आवेदनकर्ताओं के नाम, मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पाई गई है। इस गड़बड़ी की वजह से योजना के लाभार्थी के रूप में नाम आ जाने के बावजूद उनके खाते में पैसे नहीं पहुंच सके। 
(फाइल फोटो)

क्यों हुई पेमेंट फेल
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के एक ऑफिसर के मुताबिक, इस योजना के आवेदनकर्ताओं के नाम, मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पाई गई है। इस गड़बड़ी की वजह से योजना के लाभार्थी के रूप में नाम आ जाने के बावजूद उनके खाते में पैसे नहीं पहुंच सके। 
(फाइल फोटो)

इन राज्यों के किसान हैं ज्यादा
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम का फायदा नहीं उठा पाने वालों में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के किसानों की संख्या सबसे ज्यादा है। इनके बैंक अकाउंट, आधार कार्ड या मोबाइल नंबर में गड़बड़ी पाई गई है। यही वजह कि पैसा रिलीज कर दिए जाने के बाद भी इनके खाते में नहीं पहुंच सका। 
(फाइल फोटो)

इन राज्यों के किसान हैं ज्यादा
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम का फायदा नहीं उठा पाने वालों में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के किसानों की संख्या सबसे ज्यादा है। इनके बैंक अकाउंट, आधार कार्ड या मोबाइल नंबर में गड़बड़ी पाई गई है। यही वजह कि पैसा रिलीज कर दिए जाने के बाद भी इनके खाते में नहीं पहुंच सका। 
(फाइल फोटो)

कितने लोगों के भुगतान हुए फेल
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, पहली किस्त में सबसे ज्यादा 13,68,509 लोगों का भुगतान फेल हुआ। दूसरी किस्त में 11,40,085, तीसरी में 8,53,721, चौथी में 10,51,525, पांचवीं में 31,774, जबकि अभी भेजी जा रही छठी किस्त में अब तक 1,68,183 किसानों की पेमेंट फेल हो गई है।
(फाइल फोटो)

कितने लोगों के भुगतान हुए फेल
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, पहली किस्त में सबसे ज्यादा 13,68,509 लोगों का भुगतान फेल हुआ। दूसरी किस्त में 11,40,085, तीसरी में 8,53,721, चौथी में 10,51,525, पांचवीं में 31,774, जबकि अभी भेजी जा रही छठी किस्त में अब तक 1,68,183 किसानों की पेमेंट फेल हो गई है।
(फाइल फोटो)

केंद्र सरकार देती है फंड
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के लिए 100 फीसदी फंड केंद्र सरकार देती है। लेकिन किसान को पैसा तब मिलता है, जब राज्य सरकार किसान के डेटा को वेरिफाई करके केंद्र सरकार को भेजती है। ऐसा इसलिए होता है कि राजस्व राज्य सरकार का विषय है।
(फाइल फोटो)

केंद्र सरकार देती है फंड
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के लिए 100 फीसदी फंड केंद्र सरकार देती है। लेकिन किसान को पैसा तब मिलता है, जब राज्य सरकार किसान के डेटा को वेरिफाई करके केंद्र सरकार को भेजती है। ऐसा इसलिए होता है कि राजस्व राज्य सरकार का विषय है।
(फाइल फोटो)

क्या होती हैं गड़बड़ियां
आम तौर पर कई तरह की गड़बड़ियों की वजह से खाते में पैसा नहीं जाता। अगर खाता अमान्य होने के कारण उस पर अस्थायी रोक लगी हो, तो अमाउंट नहीं जा सकता। जो अकाउंट नंबर एप्लिकेशन में दिया गया हो और वह बैंक में मौजूद नहीं हो, तब भी पैसा ट्रांसफर नहीं होगा। बैंक पीएफएमएस यानी सार्वजनिक वित्त प्रबंधन प्रणाली में रजिस्टर्ड नहीं हो, तो भी इस स्कीम का पैसा खाते में नहीं जा सकेगा। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में आधार कार्ड की सीडिंग नहीं होने पर खाते में पैसा नहीं जा सकता। 
(फाइल फोटो)

क्या होती हैं गड़बड़ियां
आम तौर पर कई तरह की गड़बड़ियों की वजह से खाते में पैसा नहीं जाता। अगर खाता अमान्य होने के कारण उस पर अस्थायी रोक लगी हो, तो अमाउंट नहीं जा सकता। जो अकाउंट नंबर एप्लिकेशन में दिया गया हो और वह बैंक में मौजूद नहीं हो, तब भी पैसा ट्रांसफर नहीं होगा। बैंक पीएफएमएस यानी सार्वजनिक वित्त प्रबंधन प्रणाली में रजिस्टर्ड नहीं हो, तो भी इस स्कीम का पैसा खाते में नहीं जा सकेगा। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में आधार कार्ड की सीडिंग नहीं होने पर खाते में पैसा नहीं जा सकता। 
(फाइल फोटो)

कैसे ठीक कर सकते हैं गलती
इसके लिए सबसे पहले PM-Kisan Scheme की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। इसके फार्मर कॉर्नर के अंदर जाकर Edit Aadhaar Details ऑप्शन पर क्लिक कर अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा। इसके बाद एक कैप्चा कोड डालकर इसे सबमिट करना होता है। 
(फाइल फोटो)
 

कैसे ठीक कर सकते हैं गलती
इसके लिए सबसे पहले PM-Kisan Scheme की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। इसके फार्मर कॉर्नर के अंदर जाकर Edit Aadhaar Details ऑप्शन पर क्लिक कर अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा। इसके बाद एक कैप्चा कोड डालकर इसे सबमिट करना होता है। 
(फाइल फोटो)
 

बैंक और कृषि विभाग से करें संपर्क
अगर सिर्फ नाम गलत होता है, यानी एप्लिकेशन और आधार में नाम अलग-अलग है तो इसे ऑनलाइन ठीक किया जा सकता है। लेकिन दूसरी कोई और गलती हो तो उसे ठीक कराने के लिए लेखपाल, बैंक और कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करना होगा। 
(फाइल फोटो)
 

बैंक और कृषि विभाग से करें संपर्क
अगर सिर्फ नाम गलत होता है, यानी एप्लिकेशन और आधार में नाम अलग-अलग है तो इसे ऑनलाइन ठीक किया जा सकता है। लेकिन दूसरी कोई और गलती हो तो उसे ठीक कराने के लिए लेखपाल, बैंक और कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करना होगा। 
(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios