Asianet News Hindi

Post Office में 1 अप्रैल से पैसा जमा करने और निकालने पर लगेगा चार्ज, जानें डिटेल्स

First Published Mar 7, 2021, 12:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। पोस्ट ऑफिस (Post Office) के कुछ नियमों में 1 अप्रैल से बदलाव होने जा रहा है। इसका असर पोस्ट ऑफिस के कस्टमर्स पर पड़ेगा। यह बदलाव ट्रांजैक्शन यानी पैसे निकालने और जमा करने के नियमों में किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, अब पोस्ट ऑफिस ने अकाउंट से पैसे निकालने, जमा करने और आधार आधारित पेमेंट सिस्टम (AePS) पर चार्ज लगाने का फैसला किया है। इसका मतलब है कि अब पैसे जमा करने और निकालने के लिए भी चार्ज देना होगा। जानें किन अकाउंट्स पर ये नियम लागू होगा।
(फाइल फोटो)
 

बेसिक सेविंग्स अकाउंट से 4 बार पैसा निकालने पर कोई चार्ज नहीं देना होगा, लेकिन उससे ज्यादा ट्रांजैक्शन के लिए 25 रुपए या 0.5 फीसदी चार्ज देना होगा। वहीं, पैसे जमा करने के लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा। (फाइल फोटो)

बेसिक सेविंग्स अकाउंट से 4 बार पैसा निकालने पर कोई चार्ज नहीं देना होगा, लेकिन उससे ज्यादा ट्रांजैक्शन के लिए 25 रुपए या 0.5 फीसदी चार्ज देना होगा। वहीं, पैसे जमा करने के लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा। (फाइल फोटो)

पोस्ट ऑफिस के सेविंग्स और करंट अकाउंट से हर महीने 25000 रुपए तक निकाला जा सकता है। वहीं, इससे ज्यादा रकम निकालने पर 25 रुपए बतौर चार्ज देना होगा। 10,000 रुपए तक का कैश डिपॉजिट करने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा, लेकिन इससे ज्यादा राशि जमा करने पर हर डिपॉजिट पर कम से कम 25 रुपए चार्ज लगेगा। (फाइल फोटो)

पोस्ट ऑफिस के सेविंग्स और करंट अकाउंट से हर महीने 25000 रुपए तक निकाला जा सकता है। वहीं, इससे ज्यादा रकम निकालने पर 25 रुपए बतौर चार्ज देना होगा। 10,000 रुपए तक का कैश डिपॉजिट करने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा, लेकिन इससे ज्यादा राशि जमा करने पर हर डिपॉजिट पर कम से कम 25 रुपए चार्ज लगेगा। (फाइल फोटो)

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) के नेटवर्क पर अनलिमिटे़ड मुफ्त ट्रांजैक्शन होता हैं, लेकिन नॉन-आईपीपीबी के लिए सिर्फ 3 बार ही मुफ्त लेन-देन किया जा सकता है। ये नियम मिनी स्टेटमेंट, कैश निकालने और कैश जमा करने के लिए हैं। (फाइल फोटो)

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) के नेटवर्क पर अनलिमिटे़ड मुफ्त ट्रांजैक्शन होता हैं, लेकिन नॉन-आईपीपीबी के लिए सिर्फ 3 बार ही मुफ्त लेन-देन किया जा सकता है। ये नियम मिनी स्टेटमेंट, कैश निकालने और कैश जमा करने के लिए हैं। (फाइल फोटो)

आधार एनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AePS) में फ्री लिमिट खत्म होने के बाद हर ट्रांजैक्शन पर चार्ज देना होगा। सीमा समाप्त होने के बाद किसी भी जमा राशि पर 20 रुपए का चार्ज लगेगा। (फाइल फोटो)

आधार एनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AePS) में फ्री लिमिट खत्म होने के बाद हर ट्रांजैक्शन पर चार्ज देना होगा। सीमा समाप्त होने के बाद किसी भी जमा राशि पर 20 रुपए का चार्ज लगेगा। (फाइल फोटो)

इसके अलावा कस्टमर अगर मिनी स्टेटमेंट निकालना चाहते हैं, तो इसके लिए भी 5 रुपए बतौर शुल्क देना होगा। लिमिट खत्म होने के बाद पैसों का लेन-देन करने पर राशि का 1 फीसदी शुल्क अकाउंट में से काट लिया जाएगा। यह मिनिमम 1 रुपया और अधिकतम 25 रुपए होगा। बता दें इन चार्जेस पर जीएसटी और सेस भी लगाया जाएगा। (फाइल फोटो)

इसके अलावा कस्टमर अगर मिनी स्टेटमेंट निकालना चाहते हैं, तो इसके लिए भी 5 रुपए बतौर शुल्क देना होगा। लिमिट खत्म होने के बाद पैसों का लेन-देन करने पर राशि का 1 फीसदी शुल्क अकाउंट में से काट लिया जाएगा। यह मिनिमम 1 रुपया और अधिकतम 25 रुपए होगा। बता दें इन चार्जेस पर जीएसटी और सेस भी लगाया जाएगा। (फाइल फोटो)

इंडिया पोस्ट ने घोषणा की है कि पोस्ट ऑफिस ग्रामीण डाक सेवा (GDS) की शाखाओं में निकासी की सीमा को बढ़ाएगा। अब यह सीमा 5000 रुपए से बढ़ाकर 20000 प्रति ग्राहक कर दी गई है। इसका मकसद पोस्ट ऑफिस में जमा राशि बढ़ाना है। पोस्ट ऑपिस में सेविंग्स अकाउंट में अब कम से कम 500 रुपए होने चाहिए। 500 रुपए से कम रकम होने पर 100 रुपए चार्ज काटा जाएगा। वहीं, अकाउंट में पैसा नहीं होने पर अकाउंट बंद कर दिया जाएगा। (फाइल फोटो)

इंडिया पोस्ट ने घोषणा की है कि पोस्ट ऑफिस ग्रामीण डाक सेवा (GDS) की शाखाओं में निकासी की सीमा को बढ़ाएगा। अब यह सीमा 5000 रुपए से बढ़ाकर 20000 प्रति ग्राहक कर दी गई है। इसका मकसद पोस्ट ऑफिस में जमा राशि बढ़ाना है। पोस्ट ऑपिस में सेविंग्स अकाउंट में अब कम से कम 500 रुपए होने चाहिए। 500 रुपए से कम रकम होने पर 100 रुपए चार्ज काटा जाएगा। वहीं, अकाउंट में पैसा नहीं होने पर अकाउंट बंद कर दिया जाएगा। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios