Asianet News Hindi

इस स्कीम से 25 साल की नौकरी में इकट्ठा कर सकते हैं लगभग 50 लाख रुपए! जानें पूरा हिसाब

First Published Apr 17, 2020, 12:47 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क: भारत में करोड़ों लोग करोड़पति बनने का सपना पाले कड़ी मेहनत में लगे रहते हैं। कोई इसके लिए बिजनेस करता है, कोई नौकरी बदलकर अपनी आय बढ़ाने की कोशिश करता है। हालांकि, इसके लिए सबसे जरूरी है हर महीने एक निश्चित आय सेव करने की आदत डालना। सेविंग नाम आते ही आपके दिमाग में सबसे पहले Public Provident Fund (PPF) का ख्याल आता है। इसमें इक्विटी मार्केट की तरह रिस्क नहीं होता। सरकार की स्कीम होने के कारण इसमें आपको अच्छा ब्याज मिलता है। इसके साथ ही आपको विभिन्न मौकों पर टैक्स में छूट मिलती है। इसका मतलब है कि PPF छूट, छूट, छूट (EEE) श्रेणी की सेविंग स्कीम है।  
 

इस स्कीम के तहत आप हर साल अधिकतम 1.50 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं। कोई व्यक्ति किसी भी वित्त वर्ष में इस सीमा से अधिक इस स्कीम में निवेश नहीं कर सकता है। 
 

इस स्कीम के तहत आप हर साल अधिकतम 1.50 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं। कोई व्यक्ति किसी भी वित्त वर्ष में इस सीमा से अधिक इस स्कीम में निवेश नहीं कर सकता है। 
 

टैक्स छूट

आयकर की पुरानी व्यवस्था के अनुसार इस स्कीम में निवेश पर आपको सालाना 1.50 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स में छूट मिलती है। इसके अलावा यह स्कीम EEE के तहत भी आपको बेनिफिट्स देता है। 
 

टैक्स छूट

आयकर की पुरानी व्यवस्था के अनुसार इस स्कीम में निवेश पर आपको सालाना 1.50 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स में छूट मिलती है। इसके अलावा यह स्कीम EEE के तहत भी आपको बेनिफिट्स देता है। 
 

क्या है छूट, छूट, छूट यानी EEE

EEE श्रेणी का मतलब है कि आपको अंशदान, ब्याज और मैच्योरिटी से होने वाली आय तीनों मौकों पर टैक्स छूट मिलती है। इसके अलावा EPF और Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) इस श्रेणी के सेविंग स्कीम हैं।  
 

क्या है छूट, छूट, छूट यानी EEE

EEE श्रेणी का मतलब है कि आपको अंशदान, ब्याज और मैच्योरिटी से होने वाली आय तीनों मौकों पर टैक्स छूट मिलती है। इसके अलावा EPF और Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) इस श्रेणी के सेविंग स्कीम हैं।  
 

PPF पर अभी कितना है ब्याज दर

सरकार हर तिमाही के लिए PPF सहित अन्य कई योजनाओं के लिए ब्याज दर निर्धारित करती है। जनवरी 2020 से मार्च 2020 के लिए पीपीएफ पर ब्याज दर 7.1% है।  
 

PPF पर अभी कितना है ब्याज दर

सरकार हर तिमाही के लिए PPF सहित अन्य कई योजनाओं के लिए ब्याज दर निर्धारित करती है। जनवरी 2020 से मार्च 2020 के लिए पीपीएफ पर ब्याज दर 7.1% है।  
 

तीन साल का एक्सटेंशन

SCSS  2019 के अनुसार खाते की मैच्योरिटी के बाद उसे 3 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। SCSS  में आपको ब्याज दर वही मिलेगी, जो खाते के मैच्योर होने के वक्त मिल रही थी।

तीन साल का एक्सटेंशन

SCSS  2019 के अनुसार खाते की मैच्योरिटी के बाद उसे 3 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। SCSS  में आपको ब्याज दर वही मिलेगी, जो खाते के मैच्योर होने के वक्त मिल रही थी।

PPF मैच्योरिटी

PPF अकाउंट की मैच्योरिटी की अवधि 15 साल होती है। हालांकि, कोई भी व्यक्ति एक से अधिक मौकों पर पांच-पांच साल के लिए एक्सटेंशन करा सकता है। इसके लिए उसे संबंधित बैंक और पोस्ट ऑफिस में आवेदन करना होगा। इसके लिए आपको मैच्योरिटी वाले साल में Form 15H भरकर देना होगा।  
 

PPF मैच्योरिटी

PPF अकाउंट की मैच्योरिटी की अवधि 15 साल होती है। हालांकि, कोई भी व्यक्ति एक से अधिक मौकों पर पांच-पांच साल के लिए एक्सटेंशन करा सकता है। इसके लिए उसे संबंधित बैंक और पोस्ट ऑफिस में आवेदन करना होगा। इसके लिए आपको मैच्योरिटी वाले साल में Form 15H भरकर देना होगा।  
 

5 साल तक कोई रकम नहीं निकाली जा सकती

पीपीएफ अकाउंट खोलने वाले साल के बाद 5 साल तक इस खाते से कोई रकम नहीं निकाली जा सकती है। 5 साल की इस अवधि के पूरा होने के बाद पीपीएफ अकाउंट से विड्रॉल किया जा सकता है। इसके लिए फॉर्म 2 भरना होगा। निकासी की रकम मौजूदा रकम की 50 फीसदी से अधिक नहीं होनी चाहिए।
 

5 साल तक कोई रकम नहीं निकाली जा सकती

पीपीएफ अकाउंट खोलने वाले साल के बाद 5 साल तक इस खाते से कोई रकम नहीं निकाली जा सकती है। 5 साल की इस अवधि के पूरा होने के बाद पीपीएफ अकाउंट से विड्रॉल किया जा सकता है। इसके लिए फॉर्म 2 भरना होगा। निकासी की रकम मौजूदा रकम की 50 फीसदी से अधिक नहीं होनी चाहिए।
 

मैच्योरिटी पूरी होने के बाद बढ़ाया जा सकता है 

मैच्योरिटी के बाद पीपीएट अकाउंट का एक्सटेंशन: पीपीएफ अकाउंट की 15 साल की मैच्योरिटी पूरी होने के बाद इसे 5-5 साल की अवधि के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए मैच्योरिटी पूरा होने के एक साल पहले ही बढ़ाना होगा।

मैच्योरिटी पूरी होने के बाद बढ़ाया जा सकता है 

मैच्योरिटी के बाद पीपीएट अकाउंट का एक्सटेंशन: पीपीएफ अकाउंट की 15 साल की मैच्योरिटी पूरी होने के बाद इसे 5-5 साल की अवधि के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए मैच्योरिटी पूरा होने के एक साल पहले ही बढ़ाना होगा।

जब्त नहीं किया जा सकता पीपीएफ अकाउंट 

पीपीएफ अकाउंट को किसी भी कोर्ट या आदेश द्वारा कर्ज या अन्य लायबिलिटी के समय जब्त नहीं किया जा सकता है।
 

जब्त नहीं किया जा सकता पीपीएफ अकाउंट 

पीपीएफ अकाउंट को किसी भी कोर्ट या आदेश द्वारा कर्ज या अन्य लायबिलिटी के समय जब्त नहीं किया जा सकता है।
 

PPF निवेश से कैसे बन सकते हैं लखपति 

आप हर महीने 6,000 रुपये का निवेश कर सकते हैं। इस हिसाब से अगर आप लगातार 25 साल निवेश करते हैं तो 7.1फीसद की ब्याज दर से 25 साल बाद आपका मैच्योरिटी अमाउंट 49 लाख 47 हजार रुपये के आसपास बैठता है। हालांकि, यहां हम पीपीएफ ब्याज दर 7.1 प्रतिशत प्रति वर्ष मान रहे हैं। इस हिसाब से आपको 6,000 रुपये प्रति माह या 200 रुपये प्रति दिन (पीडी) निवेश के माध्यम से 49 लाख 47 हजार रुपये मिल सकते हैं।

PPF निवेश से कैसे बन सकते हैं लखपति 

आप हर महीने 6,000 रुपये का निवेश कर सकते हैं। इस हिसाब से अगर आप लगातार 25 साल निवेश करते हैं तो 7.1फीसद की ब्याज दर से 25 साल बाद आपका मैच्योरिटी अमाउंट 49 लाख 47 हजार रुपये के आसपास बैठता है। हालांकि, यहां हम पीपीएफ ब्याज दर 7.1 प्रतिशत प्रति वर्ष मान रहे हैं। इस हिसाब से आपको 6,000 रुपये प्रति माह या 200 रुपये प्रति दिन (पीडी) निवेश के माध्यम से 49 लाख 47 हजार रुपये मिल सकते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios